The news is by your side.

2023 में भारत की अगुवाई में मनाया जाएगा अंतरराष्ट्रीय पोषक अनाज वर्ष : डॉ. बिजेन्द्र सिंह

-कृषि विवि में अन्तर्राष्ट्रीय पोषक अनाज वर्ष पर पौधरोपण, पौध वितरण ,बीज वितरण, कन्या भोज व तकनीकी सत्र का हुआ आयोजन

मिल्कीपुर। आचार्य नरेंद्र देव कृषि एवं प्रौद्योगिक विश्वविद्यालय कुमारगंज ने विश्वविद्यालय के एग्रीबिजनेस मैनेजमेंट ऑडिटोरियम में अंतरराष्ट्रीय पोषक अनाज वर्ष 2023 का सैकड़ों किसानों एवं कन्याओं के साथ विभिन्न आयोजन कर शुभारंभ किया गया।

Advertisements

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के मार्गदर्शन में पोषक अनाज को बढ़ावा देने के लिए विश्वविद्यालय द्वारा एक भव्य कार्यक्रम का आयोजन 17 सितंबर को किया गया। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि स्थानीय विधायक गोरखनाथ बाबा रहे। मुख्य एवं विशिष्ट अतिथियों की मौजूदगी में कुलपति डॉ बिजेंद्र सिंह व प्रसार निदेशक डॉ ए पी राव द्वारा कार्यक्रम का संयुक्त रुप से उद्घाटन किया गया।

मुख्य अतिथि विधायक गोरखनाथ बाबा ने कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि खाद्य सुरक्षा व पोषण के लिए पोषक अनाज के योगदान के बारे में जागरूकता बढ़ाना होगा तथा आज के परिवेश में खानपान व स्वास्थ्य की बदलती स्थितियों के बीच पोषक अनाज जो महत्व है वह वर्षों से व्यापक रूप में उपयोग होता रहा है। विशिष्ट अतिथि किसान प्रदीप पांडे ने मोटे अनाज के प्रयोग पर बल दिया। भाजपा जिलाध्यक्ष संजीव सिंह ने अंतर्राष्ट्रीय पोषक अनाज दिवस 2023 पर आयोजित किए जाने वाले विस्तृत कार्यक्रम पर चर्चा करते हुए कार्यवाही करने की रूपरेखा से अवगत कराया। कार्यक्रम के अध्यक्ष कुलपति डॉ बिजेंद्र सिंह ने इस कार्यक्रम के आयोजन पर प्रकाश डालते हुए कहा कि आगामी वर्ष 2023 में भारत की अगुवाई में दुनिया भर में अंतरराष्ट्रीय पोषक अनाज वर्ष बड़े पैमाने पर मनाया जाएगा। जो की खेती किसानी व किसानों को समृद्ध करने के दृष्टिकोण के साथ होगा,

इसे भी पढ़े  देश की तरक्की के लिए महिलाओं का हुनरमंद होना आवश्यक : डॉ. बबिता वर्मा

डॉ सिंह ने बताया कि प्रधानमंत्री श्री मोदी के नेतृत्व में भारत के प्रस्ताव पर संयुक्त राष्ट्र महासभा की सहमत पर वर्ष 2023 में भारत के प्रायोजन में अंतरराष्ट्रीय पोषक अनाज वर्ष का आयोजन किया जाएगा। निदेशक प्रसार डा ए पी राव ने बताया कि आज पूरे भारतवर्ष में अंतर्राष्ट्रीय पोषक अनाज वर्ष मनाने के लिए जागरूकता कार्यक्रम आयोजित किया जा रहा है। विश्वविद्यालय के मीडिया प्रभारी डॉ अखिलेश कुमार सिंह ने बताया कि इस अवसर पर विश्वविद्यालय द्वारा अखिल भारतीय शुष्क क्षेत्रफल समन्वित अनुसंधान परियोजना के अंतर्गत एस सी, एस पी लाभार्थी किसानों को फलदार पौधों का वितरण, वृक्षारोपण, बीज वितरण, 71 कन्याओ का भोज एवं तकनीकी सत्र आयोजित किया गया। जिसमें विश्वविद्यालय के वैज्ञानिक डॉ शंभू गुप्ता द्वारा मोटे अनाज के महत्त्व एवं डॉ साधना सिंह द्वारा मोटे अनाज के पकवान एवं इसके फायदे के बारे में बताया गया।

कार्यक्रम में ऑनलाइन एलसीडी के माध्यम केंद्रीय कृषि एवं कृषि कल्याण मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने भी इस पर प्रकाश डालते हुए इसकी महत्ता से अवगत कराया। इस अवसर पर भाजपा किसान मोर्चा के जिला मीडिया प्रभारी दिनेश जायसवाल, राघवेंद्र प्रताप सिंह भाजपा युवा मोर्चा जिला उपाध्यक्ष, भाजपा नेता अजय विक्रम सिंह, भाजपा मंडल महामंत्री अनिल सिंह, सहित कृषि विश्वविद्यालय के वैज्ञानिक एवं प्रशासनिक अधिकारी मौजूद रहे।

Advertisements

Comments are closed.