The news is by your side.

पिता और माता का हटा साया मदद के लिए पहुंची दि आयुष्मान फाउंडेशन की टीम

सोहावल। क्षेत्र के खम्हरिया गांव में स्व. खूंटी लाल की पत्नी जो विकलांग थी, लंबी बीमारी के कारण पिछले दिनों उनका स्वर्गवास हो गया  स्व0 खूटी की मृत्यु पहले ही हो चुकी थी स जिनके दो छोटे-छोटे बच्चे एक बेटा व बेटी अपना जीवन यापन मां के साथ किसी तरह कर रहे थे स बेटा कम उम्र में पढ़ाई की जगह नौकरी करने को मजबूर हो गया स पिछले कई दिनों से बीमारी के कारण मां काफ़ी तकलीफों से गुजर रही थी गांव के ही लोगों ने मिलकर उसकी मां का अंतिम संस्कार किया। मां की मृत्यु के बाद तेरहवीं को लेकर चिंतित छोटी बेटी से उसी गांव के निवासी गजेंद्र सिंह मिलने गये।

Advertisements

उसने रो कर मां का तेरहवीं संस्कार न कर पाने की बात कही द्य जिसके बाद उसका ढाँढस बंधाते हुए तेरहवीं करने की तैयारी करने को कहा। इसकी सूचना दि आयुष्मान फाउंडेशन को दी स आयुष्मान फाउंडेशन के उपाध्यक्ष राहुल गुप्ता ने पूरी टीम के साथ पीड़ित परिवार के घर पहुंच कर बच्चो को ढांढस बंधाते हुए मां की तेरहवीं संस्कार के लिये किराना का पूरा सामान जिसमें मसाला,6 किलो दाल, 1 टीन रिफाइंड, 6 किलो बेसन, 5 किलो सरसों का तेल, 20 किलो चीनी, 50 किलो आलू, मटर व सब्जी दे कर छोटे बेटे को मां की तेरहवीं करने के लिए मदद किया। स मौके पर समाज सेवी पटेल पवन वर्मा, सत्य प्रकाश गांधी, गजेन्द्र सिंह, शुभम पटेल, अरविंद रावत, प्रद्युम्न गुप्ता के साथ ग्रामीण मौजूद रहे।

Advertisements
इसे भी पढ़े  चिरंजीव हॉस्पिटल में अल्ट्रासाउंड की सुविधा शुरू

Comments are closed.