The news is by your side.

वन कर्मियों की मिलीभगत से काटे गए प्रतिबंधित हरे पेड़

-लकड़ी ठेकेदार वन कर्मियों से सांठगांठ कर हरे भरे पेड़ों पर आरा चला कर रहे धराशाई

मिल्कीपुर। केंद्र एवं प्रदेश सरकार भले ही पर्यावरण संरक्षण के लिए पूरे प्रदेश में बड़े पैमाने पर पौधरोपण करवा रही है, लेकिन इसके बावजूद भी लकड़ी तस्कर वन कर्मियों की मिलीभगत से अपनी हरकतों से बाज नहीं आ रहे हैं। लकड़ी ठेकेदार क्षेत्रीय वन कर्मियों से सांठगांठ कर हरे भरे प्रतिबंधित पेड़ों पर दिनदहाड़े आरा चलवा कर उन्हें धराशाई करने में जुटे हैं।

Advertisements

प्राप्त जानकारी के मुताबिक कुमारगंज वन रेंज के जोरियम गांव स्थित हनुमान मंदिर के सामने जामुन, अर्जुन, आम, सागौन सहित आधा दर्जन से अधिक प्रतिबंधित प्रजाति के पेड़ों को लकड़ी ठेकेदार द्वारा काट दिया गया। लेकिन वन विभाग एवं स्थानीय पुलिस को इसकी भनक तक नहीं लगी। मामले की शिकायत के बाद कुमारगंज पुलिस एवं वन विभाग की टीम मौके पर पहुंची और बड़े पैमाने पर हुए अवैध कटान के मामले की जांच में जुटी है,

वहीं विभागीय सूत्रों की मानें तो कुमारगंज वन रेंज में कार्य कर रहे एक चर्चित वाचर की भूमिका सामने आ रही है। बड़े पैमाने पर हुए हैं अवैध कटान के संबंध में वन क्षेत्राधिकारी कुमारगंज प्रमोद श्रीवास्तव का कहना है कि जानकारी मिली है, प्रकरण की जांच की जा रही है, प्रभावी कार्यवाही की जाएगी।

 

Advertisements
इसे भी पढ़े  विवि परिसर के पाठ्यक्रमों को लेकर कुलपति ने की समीक्षा बैठक

Comments are closed.