पति की आत्महत्या के बाद पत्नी की हार्टअटैक से मौत

शोक में डूबा कुमारगंज कस्बा

Advertisement

मिल्कीपुर। 50 वर्षीय अधेड़ ने अपनी लाइसेंसी पिस्टल से कनपटी पर गोली मारकर आत्महत्या कर ली पति के सदमे में 45 वर्षीय पत्नी की भी मौत हो गई घटना  स्थल कुमारगंज थाना से मात्र चंद कदम की दूरी पर है| प्राप्त जानकारी के अनुसार थाना क्षेत्र के बवां गांव निवासी 50 वर्षीय दुखहरण सिंह कुमारगंज कस्बा में अपना घर बना कर अपनी पत्नी उषा सिंह  पुत्र दिग्विजय सिंह दो पुत्रियां दीपिका सिंह व दीपशिखा के साथ रहते थे |  करीब 3 वर्ष पूर्व बड़ी बेटी दीपिका सिंह की शादी की थी जो अपने ससुराल में मौजूदा रह रही हैं।वही दुखहरण सिंह अपने इकलौते बेटे दिग्विजय सिंह उम्र करीब 20 वर्ष व छोटी बेटी दीपशिखा सिंह उम्र करीब 17 वर्ष व पत्नी उषा सिंह उम्र करीब 45 वर्ष के साथ रहते थे | मृतक दुखहरण सिंह के बेटे दिग्विजय सिंह के अनुसार सोमवार की शाम करीब 7 बजे पापा मम्मी व छोटी बहन दीपशिखा के साथ सभी लोगों ने बैठकर खाना खाया इसके बाद पापा ने खाना खाने के बाद अपना मोबाइल लेकर छत पर बने कमरे में सोने चले गए|मम्मी किचन में बैठकर बर्तन साफ कर रही थी इतने में अचानक कमरे से फायर की आवाज सुनाई दी । जब ऊपर छत पर जाकर देखा तो पापा खून से लथपथ फर्श पर पड़े छटपटा रहे थे परिजनों की गुहार पर पास पड़ोस के लोग मौके पर पहुंचकर खून से लथपथ दुखहरण सिंह को आनन-फानन में मारुति गाड़ी पर लादकर कस्बा स्थित देव नर्सिंग होम ले  गए जहां डॉक्टर ने जिला अस्पताल ले जाने की सलाह दी| परिजनों ने घटना की जानकारी स्थानीय पुलिस को न देते हुए दुखहरण सिंह को जिला अस्पताल ले गए जहां डॉक्टरों ने दुखहरन सिंह को मृत घोषित कर दिया घटना के करीब 1 घंटे बाद कुमारगंज पुलिस को घटना की भनक लगती कि थाना अध्यक्ष कुमारगंज अजय सिंह भी जिला अस्पताल पहुंच गए और घटना की जानकारी ली | गांव व परिजनों की मौजूदगी में पंचनामा भरा कर लाश को पीएम करा कर परिजनों के सुपुर्द कर दिया दूसरी ओर मंगलवार की भोर जैसे ही दुखहरण सिंह की लाश घर पहुंची की पत्नी उषा सिंह लाश को देखकर दहाड़ लगाते लगाते बेहोश हो गई स्थानीय लोगों ने उषा को  कस्बा स्थित एक प्राइवेट डॉक्टर को जब तक बुलाने गए कि उसकी भी सदमे में मौत हो गई  दिल दहला देने वाली दोनों घटना को लेकर कुमारगंज कस्बा में जहांशोक की लहर दौड़ गई वही थानाध्यक्ष अजय सिंह का कहना है कि दुखहरण सिंह ने जिस पिस्टल से गोली दागकर आत्महत्या की है वह पिस्टल व खोखा कब्जे में लेकर जांच पड़ताल शुरू कर दी गई है |दुखहरण सिंह ने आत्महत्या क्यों किया यह जांच पड़ताल के बाद ही कुछ कहा जा सकता है। परंतु कस्बे में चाय व पान की दुकानों पर चर्चा है कि उन्होंने भारी भरकम राशि चिटफंड कंपनियों में लगाई थी जो कंपनियां फरार हो चुकी हैं|  मृतक की आत्महत्या के पीछे भी पैसे की देनदारी ही बताई जा रही है|

इसे भी पढ़े  लोक लाज के चलते फेक गई नवजात बालक