The news is by your side.

दिनोंदिन बढ़ रही सूक्ष्म व विद्युत चुम्बकीय तरंगों की उपयोगिता

भारतीय परिप्रेक्ष्य में माइक्रोवेव उपकरणों का उपयोग विषय पर हुआ व्याख्यान

अयोध्या। डॉ. राममनोहर लोहिया अवध विश्वविद्यालय के भौतिकी एवं इलेक्ट्रानिक्स विभाग में भारतीय परिप्रेक्ष्य में माइक्रोवेव उपकरणों का उपयोग विषय पर अएक व्याख्यान का आयोजन किया गया। व्याख्यान में मुख्य वक्ता पूर्व वैज्ञानिक सी0एस0आई0आर0 एवं सी0ई0ई0आर0आई0 पिलानी, राजस्थान के डॉ0 एस0एन0 जोशी रहे।
डॉ0 एस0एन0 जोशी ने छात्र-छात्राओं को माइक्रोवेव उपकरणों के विविध उपयोग पर प्रकाश डालते हुए कहा कि सूक्ष्म तंरगे व विद्युतचुम्बकीय तंरगे जिनकी उपयोगिता दिनोंदिन बढ़ती जा रही है। सैन्य उपकरणों में रडार, मोबाइल, टेलीविजन, जीपीएस एवं वाई-फाई में प्रयोग किये जाने वाले यंत्रो का उपयोग सर्वविदित है। डॉ0 जोशी ने बताया कि अन्तरिक्ष के क्षेत्र में भी आई क्रांति का श्रेय भी सूक्ष्म तंरगों को ही जाता है। रेडियो एवं टेलीविजन के क्षेत्र में सिग्नल सिस्टम से लेकर प्रसारण के क्षेत्र में बड़ा परिवर्तन देखने को मिला है।
व्याख्यान में विभाग के विभागाध्यक्ष प्रो0 के0 के0 वर्मा ने कहा कि इस तरह के व्याख्यान छात्रों के लिए ज्ञानोपयोगी होने के साथ-साथ विषयों पर वृहद मार्गदर्शन करने वाले है। नवीन विषयों की जानकारी एवं आधुनिक संयत्रों के उपयोग पर वैज्ञानिकों एवं विशेषज्ञों के विचार छात्रों नई दिशा प्रदान करेंगे। प्रो0 वर्मा ने बताया कि भविष्य में छात्रों को ऐसे ही वैज्ञानिक विषयों पर सेमिनार, व्याख्यान एवं कार्यशाला के आयोजन के माध्यम से अपग्रेड किया जायेगा जिससे विश्वविद्यालय के विद्यार्थियों को नई पहचान एवं लक्ष्य प्राप्त हो सके। इस अवसर पर विभागीय शिक्षकों एवं छात्र-छात्राओं की उपस्थिति रही।

Advertisements
Advertisements
इसे भी पढ़े  हर्षोल्लास के साथ मनाया गया ईद-उल-अजहा, एक दूसरे के गले मिलकर दी मुबारकबाद

Comments are closed.