गठबंधन प्रत्याशियों की जीत हिन्दू-मुस्लिम एकता का प्रतीक: राहुल सिंह

 

♦भाजपा की तानाशाही के खिलाफ युवजन सभा निकलेगी साईकिल यात्रा

फैजाबाद। सूबे में कैराना व नूरपुर उपचुनाव में सपा गठबंधन प्रत्याशियों की जीत हिन्दु मुस्लिम एकता का प्रतीक है। गठंबंधन प्रत्याशियों की जीत काम मुख्य कारण भाजपा नीति से त्रस्त मतदाताओं द्वारा भाजपा प्रत्याशियों को नकारना है। यह विचार अपने आवास पर आयोजित पत्रकार वार्ता में समाजवादी छात्र सभा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अनिमेष प्रताप सिंह राहुल ने व्यक्त किया।

उन्होंने कहा कि सपा राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव के निर्देश पर जल्द ही गठबंधन दलों के साथ मिलकर ईवीएम के खिलाफ आन्दोलन छेड़ा जायेगा। सत्तारूढ़ दल ईवीएम में गड़बड़ी करके अपने प्रत्याशियों को जिताने का प्रयास करती रहती है। उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार की जनविरोधी नीतियों के खिलाफ फैजाबाद से लखनऊ तक साईकिल यात्रा निकाली जायेगी। उन्होंने कहा कि पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष ने उन्हें कैराना व नूरपुर का चुनाव प्रभारी बनाया था जनता के सहयोग से कैराना में रालोद की तब्बसुम हसन और नूरपुर में सपा के नईमुल हसन रिकार्ड मतों से जीते हैं यह गठबंधन एकता की शक्ति का प्रतीक है। उन्होंने कहा कि दोनों क्षेत्रों में धर्म सम्प्रदाय, जातिपांत से ऊपर उठकर हिन्दू मुस्लिमों ने भाजपा प्रत्याशियों को हराया है। हमारा संकल्प है कि देश को भाजपा की नीतियों से मुक्त करायेंगे क्योंकि लोग अब तीसरे विकल्प की ओर आशा भरी निगाह से देख रहे हैं। एक सवाल के जबाब में उन्होंने कहा कि भाजपा की साम्प्रदायिकता व जनविरोधी कार्यों के कारण विपक्षी गठबंधन आवश्यक है। गठबंधन एकता का प्रतीक है और इसके सभी जाति धर्म के लोग शामिल है।

इसे भी पढ़े  लाला हरदयाल की 82वीं पुण्यतिथि पर हिंदू महासभा ने किया नमन

पत्रकार वार्ता के दौरान जिलाध्यक्ष गंगा सिंह यादव, जय सिंह राणा, एजाज अहमद, ओम प्रकाश ओमी, भदरसा चेयरमैन मो. आसिफ आदि भी मौजूद थे।

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More