केन्द्र सरकार हरहाल में करें करे भव्य राम मन्दिर निर्माण: धर्म सेना

धर्म संसद में कई प्रस्ताव हुए पारित, प्रधानमंत्री मोदी से राम लला के दर्शन करने की मांग

अयोध्या-फैजाबाद। अयोध्या धाम स्थित राम जन्म भूमि के सम्पूर्ण अधिग्रहित क्षेत्र पर भव्य राम मन्दिर निर्माण की मांग को लेकर धर्म सेना के संयोजन में धर्म संसद का अयोजन अयोध्या स्थित श्यामा संदन निकट राम घाट में आहूत की गयी जिसका उद्द्याटन साकेत महाविद्यालय के पूर्व प्राचार्य डाॅ. एच.बी.सिंह ने प्रभु श्रीराम के चित्र पर माल्यार्पण व दीप प्रज्वजित कर धर्म संसद का शुभ आरम्भ किया इस अवसर पर डाॅ. एस.बी.सिंह ने कहा कि राम हमारे आस्था व अस्तित्व से जुड़े है करोड़ो राम भक्तो की यह चिर प्रतिक्षित अभिलाषा है कि यहाँ भव्य राम मन्दिर का निर्माण हो राज नेताओं को अब और कोई गंदा खेल खेलने नहीं दिया जायेगा अब तो बस हमे भव्य राम मन्दिर निर्माण ही चाहिए । धर्म सेना के संस्थापक व बाबरी विध्वशं के प्रमुख आरोपी संतोष दूबे ने कहा कि यदि सरकार ने समय रहते निर्णय नहीं लिया तो केन्द्र की मोदी व प्रदेश की योगी सरकार को गंभीर परिणाम भुगतने होंगे देश के करोड़ो हिन्दुओं ने भाजपा को मन्दिर पर विधेयक लाकर भव्य राम मन्दिर बनाने के लिए सत्ता में पहुचाया है अब केन्द्र का सुप्रीम कोर्ट पर बहाना नहीं चलेगा उन्होने कहा कि राम लला टाट में और नेता लोग ठाठ में रहे अब यह नहीं चलेगा संत शिरोमणि करपात्री महाराज ने कहा जिन हाथों ने बाबरी का विध्वशं किया है वही हाथ अब भव्य राम मन्दिर का निर्माण करेगें। गोलाघाट के महंत सिया किशोरी शरण महाराज ने कहा कि जो चीजे जैसे जाती है वैसें ही आती है बाबर ने किसी पूछ कर राम मन्दिर नहीं तोड़ा था अतः राम मन्दिर का निर्माण भी किसी से पूछ कर नहीं किया जायेगा महंथ डा0 ममता शास्त्री ने कहा कि विश्व की कोई भी शक्ति भव्य रामन्दिर निर्माण होने से नहीं हो पायेगी केन्द्र सरकार विधेयक लाये अन्यथा उसके दूर गामी परिणाम भुगतने के लिए तैयार रहे। हिन्दू महासभा के राष्ट्रीय प्रवक्ता मनीष पाण्डेय ने कहा कि राम से बड़ी कोई कोर्ट नहीं है राम भक्त अपने तपबल व बाहुबल से सम्पूर्ण अधिग्रहित क्षेत्र पर भव्य राम मन्दिर निर्माण करा कर रहेगें। सुलह समझौता किसी भी स्तर पर मान्य नहीं होगा एक इंच भूमि भी मुस्लिम पक्ष को राम भक्त नहीं देगें। धर्म संसद में उपस्थित सभी साधू सन्तो धर्माचार्यो तथा हिन्दूवादी संगठनों के प्रतिनिधियों ने जय श्रीराम का गगन भेदी नारा लगाते हुए प्रस्ताव पारित किया कि केन्द्र सरकार 2019 से पहले लोक सभा व राज्य सभा में संयुक्त अधिवेशन बुलवाकर भव्य राम मन्दिर के पक्ष मे विधेयक पारित करवाने की मांग की इसके साथ ही साथ भारत के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से अयोध्या आकर राम मन्दिर के दर्शन करने की भी मांग की। यह भी प्रस्ताव किया गया कि बिना किसी राज नैतिक नेता व दल के बिना भव्य राम मन्दिर के पक्ष मे पूरा आन्दोलन खड़ा किया जायेगा। साथ ही साथ पूरे देश में धर्म सेना के बैनर तले सभी हिन्दू वादी संगठन एक जुट होकर राम रथ यात्रा निकालकर जन जागरण अभियान चलायेगें। धर्म संसद की अध्यक्षता श्यामा सदन के महन्थ गोपाल दास महाराज एवं संचालन अयोध्या धाम समिति के संयोजक संजय महेन्द्रा द्वारा किया गया कार्यक्रम में प्रमुख रूप से चाणक्य परिषद के संरक्षक कृपा निधान तिवारी सामाजिक कार्यकर्ता वेदप्रकाश राजपाल , हिन्दी युवा वाहिनी के जिला संयोजक पवन मिश्र, विश्वहिन्दू महासंघ के जिला महामंत्री चन्द्र मोहन श्रीवास्तव ज्ञान केशरवानी कथा वाचक पवन दास शास्त्री , राम लखन पाण्डेय शिव सेना प्रमुख उत्तर प्रदेश वी0एन0शुक्ल शिव गोपाल शुक्ल दीपक चैधरी डाॅ0 रमेश चन्द्र भारद्वाज शिवेन्द्र शुकला, विजय आर्य , चन्द्रहा दीक्षित , दिग्विजय चैबे , गिजिया शंकर पटेल , सरद पाठक बाबा , सिद्वान्त तिवारी, विनीता पाण्डेय, वृजेश दूबे, सुधीर दूबे, सिद्धान्त तिवारी , सन्नी सिंह सहित सौकड़ो की संख्या में रामभक्त उपस्थित रहे।

इसे भी पढ़े  गांव-गली से होकर गुजरता है उन्नति का रास्ता : रक्षाराम यादव

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More