The news is by your side.

प्रेमी ने शादी से किया इंकार, जहर खाकर थाने पहुंची युवती

गम्भीर हाल में जिला अस्पताल में भर्ती, प्रेमी पुलिस हिरासत में

अयोध्या। शहर निवासी एक युवक दो साल तक प्यार का वास्ता देता रहा। युवती ने शादी करने का दबाव बनाया तो युवक शादी के लिये मुकर गया।जिन्दगी को लेकर देखे गये सुनहरे ख्चवाब बिखरने से परेशान युवती जहर खाकर शनिवार को थाने पंहुच गई।थाने मे बेहोश हुई युवती को पुलिस ने गम्भीर हालत मे जिला अस्पताल मे भर्ती कराया है।
जनपद के पुराकलंदर थाना क्षेत्र के बिछिया गोपालपुर की रहने वाली 20 वर्षीय युवती मानसी पुत्री हरगोविंद अपने परिवार के साथ कैंट थाना क्षेत्र स्थित सहादतगंज क्षेत्र में किराए पर मकान लेकर रहती है। इसी मकान में उनके मकान मालिक और टेंट व्यवसाई का परिवार भी रहता है।दो वर्ष पूर्व किरायेदार युवती मानसी के निगाहें मकान मलिक के बेटे सूरज उर्फ़ मिथुन से दो चार हुई और दोनो मे प्यार हो गया।समय के साथ दोनो प्यार का इजहार करते हुए भविष्य के सपने बुन्ते रहे।
इधर बीच यूवती ने सामाजिक मर्यादाओं का वास्ता देकर युवक पर शादी का दबाव बनाया तो युवक ने टालमटोल शुरू कर दी। गंभीर हालत में जिला अस्पताल में भर्ती मानसी ने बताया कि उसने शादी के लिए जोर जबरदस्ती की तो सूरज ने साफ-साफ इंकार कर दिया।कहा कि वह उससे शादी नहीं कर सकता। जिसको लेकर वह मानसिक रूप से बहुत परेशान हो गई। घर परिवार वालों ने युवक के खिलाफ शिकायत दर्ज कराने की बात कहीं। जिसके चलते वह शिकार लेकर पूरा कलंदर थाने गई थी।
क्षेत्राधिकारी अयोध्या राजीव कुमार साहू का कहना है कि पूरा करूंगा थाना क्षेत्र के बिछिया गोपालपुर की रहने वाली युवती मानसी शिकायत लेकर थाने आई थी। शिकायत में आरोप है कि शादी का दबाव बनाने पर सहादत गंज निवासी सूरज उर्फ मिथुन ने युवती तथा उसके मां को जान से मार देने की धमकी दी और शादी से साफ इनकार कर दिया। पुलिस युवती से पूछताछ करने की सोच ही रही थी कि थाने में ही होती बेहोश हो गई। जिसके चलते उसको जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है। युवती का कहना है कि उसने रास्ते में ही चूहा मारने की दवा खा ली है। मामले में शिकायत दर्ज कर विधिक कार्रवाई की जाएगी। पूराकलन्दर थाना पुलिस ने मामले को गम्भीरता से लेते हुए आरोपी प्रेमी सूरज उर्फ मिथुन को हिरासत में लेकर पूंछताछ कर रही है।

Advertisements
Advertisements

Comments are closed.