The news is by your side.

तहसील प्रशासन ने पकड़ा रात्रि में कराया जा रहा अवैध निर्माण

निर्माणकर्ता व प्रधान पुत्र को मौके से किया गया गिरफ्तार

मिल्कीपुर। भाजपा की योगी सरकार चाहे जितने दावे कर रही हो परन्तु ग्राम समाज की जमीनों पर अवैध निर्माण का सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रहा है। मिल्कीपुर तहसील से मात्र 700 मीटर की दूरी पर इनायनगर ग्राम सभा के हरदीन का पुरवा में शनिवार की रात्रि ग्राम समाज की भूमि पर जनरेटर की रोशनी में कराये जा रहे भवन निर्माण को तहसील प्रशासन ने मौके पर जाकर पकड़ा। तहसील प्रशासन ने मौके से निर्माणकर्ता राम मूरत यादव पुत्र हरिबक्श यादव व ग्राम प्रधान के पुत्र अरविन्द यादव पुत्र रामअनन्द को गिरफ्तार किया।
एसडीएम मिल्कीपुर के.डी. शर्मा को जब इस अवैध निर्माण की सूचना मिली तो उन्होंने हल्का लेखपाल व थाना पुलिस को मौके पर भेजकर हकीकत जानना चाहा। मौके पर रात्रि मे ग्राम समाज की भूमि गाटा संख्या 1420 मि. पर अवैध रूप से भवन की छत डाली जा रही थी। जिस भूमि पर निर्माण कराया जा रहा था वह वादग्रस्त भूमि है जो मिल्कीपुर तहसील न्यायालय में 31 अगस्त 2017 से विचाराधीन है तथा मामले की 15 पेशी हो चुकी है। इसके बावजूद ग्राम प्रधान की सह के चलते अवैध निर्माणकर्ता निर्माण कार्य को रोंक नहीं रहा है। इसके पूर्व भवन की दीवाल उठा ली गयी थी तथा शनिवार की रात्रि में छत डालने का कार्य किया जा रहा था।
गिरफ्तार किये गये निर्माणकर्ता व प्रधानपुत्र को पुलिस इनायतनगर थाना ले आयी जहां निरूद्ध कर दिया गया। पता चला है कि ग्राम प्रधान ने राजनीतिक दलों के सहयोग से जिलाधिकारी पर यह दबाव बनाया कि अवैध निर्माण से उसके पुत्र का कोई लेना देना नहीं है जिसपर जिलाधिकारी के दबाव में प्रधान पुत्र को तो छोड़ दिया गया परन्तु निर्माणकर्ता राम मूरत यादव के विरूद्ध आईपीसी की धारा 151 के तहत कार्यवाही कर मजिस्ट्रेट के सामने पुलिस ने पेश किया। एसडीएम न्यायालय ने रियायत न बरतते हुए जमानत याचिका मंजूर नहीं किया और जेल भेजने का आदेश कर दिया।

Advertisements
Advertisements

Comments are closed.