The news is by your side.

विद्यार्थी ट्रिपल-सी की दिशा में कार्य करें : प्रो. विवेक तिवारी

-अवध विवि में शिक्षा सृजन में नवाचार विषय पर हुआ व्याख्यान

अयोध्या। डॉ. राममनोहर लोहिया अवध विश्वविद्यालय के डिपार्टमेंट ऑफ इनफार्मेशन टेक्नोलॉजी विभाग में मंगलवार को शिक्षा सृजन में नवाचार विषय पर विशेष व्याख्यान का आयोजन किया गया। व्याख्यान में बतौर मुख्य वक्ता आबू धाबी, संयुक्त अरब अमीरात के प्रो. विवेक तिवारी ने ब्रेन डाइट के बारे में बताया कि आज लोग डिजिटल इनफार्मेशन व बदलती तकनीक के कारण दिमाग का प्रयोग कम कर रहे है। पूरी तरह से तकनीक पर निर्भर होते जा रहे है जिसके कारण मानसिक अवसाद व असन्तुष्ट की भावना पनप रही है और बीमारियों के शिकार भी हो रहे है।

Advertisements

उन्होंने छात्रों को बताया कि दिमाग शरीर का एक महत्वपूर्ण हिस्सा है। इसका उपयोग निरन्तर करते रहना चाहिए। इसके न करने पर स्मरण क्षमता पर प्रभाव पड़ने लगता है। इस तरह के लक्षण दिखने पर सतर्क रहने की जरूरत है। उन्होंने बताया कि व्यक्ति के दिमाग में स्रावित होने वाले डोपामाइन रसायन जो ब्रेन में सीमित न्यूरान्स होते है। यहीं न्यूरान्स कार्य को करने की प्रबलता को भी निर्धारित करते है। उन्होंने छात्रों से कहा कि जीवन में ट्रिपल-सी पर कार्य करे। इसमें तीनों सी का मतलब है कांसेप्ट स्पष्ट रखे, कंफ्यूज दूर करें व कंसिस्टेंसी की दिशा में सकारात्मक सोचे। ऐसा करने से दिमाग पर नियंत्रण पाया जा सकता है।

कार्यक्रम की अध्यक्षता संस्थान के निदेशक प्रो0 रमापति मिश्र ने की। उन्होंने बताया कि छात्रों के लिए यह कार्यक्रम उपयोगी है। कार्यक्रम के संयोजक डॉ0 विनीत कुमार सिंह ने मुख्य वक्ता को पुष्पगच्छ एवं स्मृति चिन्ह भेटकर स्वागत किया। कार्यक्रम का संचालन इंजीनियर राजेश कुमार सिंह द्वारा किया गया। इस अवसर पर इंजीनियर प्रवीण मिश्र, इंजीनियर अवधेश मौर्या, इंजीनियर अखिलेश मौर्या, इंजीनियर रजनीश पांडेय, इंजीनियर परिमल तिवारी, इंजीनियर रमेश मिश्र सहित बड़ी संख्या में छात्र-छात्राएं उपस्थित्त रहे।

इसे भी पढ़े  स्वामी जानकी शरण के जीवन पर रचित पुस्तक झुनकी चरित पुस्तक का हुआ  विमोचन

 

Advertisements

Comments are closed.