The news is by your side.

सामाजिक असमानता का मुख्य कारण आर्थिक असमानता : प्रो. आशुतोष सिन्हा

-डॉ.लोहिया का सामाजिक आर्थिक दर्शन विषय पर व्याख्यान का आयोजन

अयोध्या। डाॅ. राममनोहर लोहिया अवध विश्वविद्यालय के अर्थशास्त्र एवं ग्रामीण विकास विभाग के सभागार में गुरूवार शाम डॉ0 लोहिया की पुण्यतिथि ‘‘डॉक्टर लोहिया का सामाजिक आर्थिक दर्शन विषय पर व्याख्यान का आयोजन किया गया। संगोष्ठी की अध्यक्षता कला एवं मानविकी संकायाध्यक्ष प्रो0 आशुतोष सिन्हा ने डाॅ0 राममनाहर लोहिया को स्मरण करते हुए कहा कि समाज में असमानता के लिए पूंजीवाद एवं साम्यवाद बराबर के जिम्मेदार हैं।

Advertisements

इस असमानता को केवल समाजवाद ही दूर कर सकता है। उन्होंने कहा कि सामाजिक असमानता का मुख्य कारण आर्थिक असमानता हैं। समाजवादी व्यवस्था में जाति, धर्म, लिंग, आदि के आधार पर किसी को कोई विशिष्ट स्थान नहीं होगा, सभी समान होंगे। यही लोहिया जी का सपना था, जिसे हमें साकार करना होगा। यही उनके प्रति हमारी सच्ची श्रद्धांजलि होगी।

इसी क्रम में अर्थशास्त्र एवं ग्रामीण विकास विभाग के प्रो0 विनोद कुमार श्रीवास्तव ने बताया कि समाजवाद के अन्तर्गत समाज के हर व्यक्ति का उत्थान होना चाहिए। उन्होंने समाज में पंक्ति में खड़े अंतिम व्यक्ति के उत्थान की बात कही। कार्यक्रम में प्रो0 मृदुला मिश्रा ने डॉ0 लोहिया के जीवन वृतांत के बारे में विस्तार से प्रकाश डालते हुए बताया कि स्वतंत्रता संग्राम सेनानी होने के साथ समाजवाद के प्रेरणा श्रोत रहे है। डॉ0 प्रिया कुमारी ने डॉ0 लोहिया के कृषि, लघु उद्योग, महिला सशक्तिकरण के बारे में बताया। कहा कि उनके विचारों ने हमारे जीवन में नई प्रगति लाई जा सकती है।

कार्यक्रम में श्रीमती रीमा सिंह ने कहा कि कि लोहिया जी के विचार किसी एक विषय पर लागू न होकर सामाजिकता के बात करते हैं। आशीष कुमार प्रजापति ने कहा कि डाॅ0 लोहिया को किसानों का मसीहा कहा जाता है। इस संगोष्ठी का संचालन डॉ0 सरिता द्विवेदी ने किया। इस अवसर पर सौरभ, साक्षी पाल, समृद्धि शुक्ला, रजत चैधरी, अभिषेक, सूरज, संयोगिता, सुमन राव, विमल सिंह, आयुषी, पद्मा ने भी अपने विचार प्रस्तुत किए।

Advertisements

Comments are closed.