The news is by your side.

पूर्व एमएलसी लीलावती कुशवाहा व उनकी पुत्रियों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज

-जमीनी विवाद को लेकर 30 अगस्त को मारपीट हुई थी

अयोध्या। कैंट थाना पुलिस ने विशेष न्यायधीश एससी/एसटी एक्ट अदालत के आदेश पर सपा की पूर्व एमएलसी लीलावती कुशवाहा और उनकी दोनों पुत्रियों समेत अन्य के खिलाफ हमला कर गंभीर रूप से घायल करने समेत 11 धाराओं में रिपोर्ट पंजीकृत की है। जमीनी विवाद को लेकर 30 अगस्त को मारपीट हुई थी, जिसमें एक पक्ष की ही रिपोर्ट दर्ज हो पाई थी।

Advertisements

पीड़िता कैंट थाना क्षेत्र के लाला का पुरवा,खोजनपुर (गद्दोपुर) निवासी दलित वैष्णवी पुत्री राम औतार का कहना है उसके घर के पिछवाड़े मकान बनवा रहने वाली पूर्व एमएलसी लीलावती कुशवाहा पत्नी श्रीमल मौर्या उसकी जमीन और मकान पर अवैध कब्जा की कोशिश में रहती हैं। इसी को लेकर 30 अगस्त की दोपहर 12 बजे वह अपनी पुत्रियों अलका व आस्था कुशवाहा के साथ लाठी-डंडा,लोहे की राड आदि से लैस होकर व मिस्त्री मजदूर आदि को लेकर उसकी पुश्तैनी जमीन पर अवैध कब्जे के लिए निर्माण कराने लगीं,पिता राम औतार ने विरोध किया तो उनका परिवार जाति सूचक गाली देते हुए जानलेवा हमला कर दिया। घर में घुसकर मारापीटा और तोड़फोड़ की।

बीच-बचाव करने पहुंचे भाई अभिषेक कुमार व बहन रूबी की भी पिटाई की तथा पिता को मरणासन्न कर दिया। मेडिकल रिपोर्ट और शिकायत के बावजूद पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की,केवल उस दिन सुबह हुए हमले के मामले में हल्की धाराओं में रिपोर्ट दर्ज कर ली और दूसरी शिकायत पर रिपोर्ट दर्ज करने के बजाय घ्याल पिता, भाई व बहन तथा नाबालिग मानसी को गिरफ्तार कर चालान कर दिया। शुक्रवार को सीओ सिटी शैलेन्द्र सिंह ने बताया कि अदालत के आदेश पर कैंट पुलिस ने तीन को नामजद करते हुए हमला कर गंभीर रूप से घायल करने, मारपीट समेत अन्य व एससी/एसटी एक्ट की धारा में रिपोर्ट दर्ज की है। मामले की विवेचना कराई जा रही है।

Advertisements

Comments are closed.