The news is by your side.

संसाधनों के बगैर नहीं हो सकती प्रगति : एस.एन. शुक्ल

दो दिवसीय विज्ञान प्रदर्शनी का हुआ सफलतापूर्वक आयोजन

अयोध्या। डॉ. राममनोहर लोहिया अवध विश्वविद्यालय के प्रौद्योगिकी एवं तकनीकी संस्थान में राष्ट्रीय विज्ञान दिवस पर 28 फरवरी से 1 मार्च 2019 तक चलने वाली दो दिवसीय विज्ञान प्रदर्शनी का सफलतापूर्वक आयोजन किया गया। विज्ञान प्रदर्शनी समापन पर प्रदर्शनी के मुख्य अतिथि विश्वविद्यालय के प्रति कुलपति प्रो0 एस0एन0 शुक्ल एवं मुख्य वक्ता के रूप में लखनऊ विश्वविद्यालय के प्रो0 आर0 के0 शुक्ल रहे। कार्यक्रम की अध्यक्षता आई0ई0टी0 के निदेशक प्रो0 रमापति मिश्र ने की।
राष्ट्रीय विज्ञान दिवस पर छात्र-छात्राओं द्वारा विज्ञान पर आधारित 30 मॉडल और साइंस फ़ॉर पीपल पर 25 पेंटिंग प्रस्तुत की गई। दो दिवसीय राष्ट्रीय विज्ञान दिवस में आज अलग अलग निर्णायकों द्वारा साइंस बेस्ड प्रोजेक्ट में प्रथम स्थान सुरेंद्र कुमार यादव एवं अश्वनी केसरवानी को स्मार्ट ग्लव्स फ़ॉर ब्लाइंड पर्सन के लिए दिया गया। वहीं पोस्टर प्रेजेंटेशन ड्रिप इरीगेशन फ्रॉम सी वाटर के लिए प्रथम स्थान आस्था तिवारी, सौरभ सिंह, प्रांजल श्रीवास्तव और रूपेश मिश्र को मिला। स्पॉट पेंटिंग स्मार्ट सिटी के लिए प्रथम स्थान शिवांगी मिश्र ने प्राप्त किया। कोलाज प्रेजेंटेशन के डिजिटल इंडिया में समूह में रितिका ठाकुर, श्वेता गुप्ता और शिखा यादव रही तथा साइंस फ़ॉर पीपल, पीपल फ़ॉर साइंस के लिए प्रियंका सिंह को प्रथम स्थान मिला। राष्ट्रीय विज्ञान प्रदर्शनी में द्वितीय, तृतीय तथा सांत्वना पुरस्कार भी प्रतिभागियों को प्रदान किये गये।
राष्ट्रीय विज्ञान दिवस के उपलक्ष्य पर विज्ञान प्रदर्शनी समापन के अवसर पर मुख्य अतिथि विश्वविद्यालय के प्रति कुलपति प्रो0 एस0एन0 शुक्ल ने विद्यार्थियों का मार्गदर्शन करते हुए कहा कि रिसोर्सेज के ऑप्टिमम यूटिलाइजेशन और रिसोर्स क्रिएशन पर प्रकाश डाला। प्रो0 शुक्ल ने कहा कि संसाधनों के बगैर न तो प्रगति की जा सकती और न ही विश्वस्तरीय प्रतियोगिताओं में भाग लिया जा सकता है।
मुख्य वक्ता लखनऊ विश्वविद्यालय के प्रो0 आर0 के0 शुक्ल ने मानव जीवन में विज्ञान के महत्व पर प्रकाश डाला। संस्थान के विद्यार्थियों को उत्साहित करते हुए कहा कि कुलपति प्रो0 मनोज दीक्षित के कुशल निर्देशन में प्राप्त अवसरों का उपयोग कर स्वयं को समृद्ध करे। संस्थान के पूर्व निदेशक प्रो0 लक्ष्मीकांत सिंह ने विद्यार्थियों को प्रोत्साहित करते हुए कहा की अथक परिश्रम से कोई भी कार्य किया जा सकता है। कार्यपरिषद के सदस्य ओम प्रकाश सिंह ने विज्ञान पर आधारित शोध और खोज के लिए विद्यार्थियों को प्रोत्साहित किया। डॉ0 शैलेन्द्र कुमार ने विद्यार्थियों को विज्ञान दिवस के अवसर पर वैज्ञानिक उपयोग पर प्रकाश डाला। अध्यक्षता कर रहे निदेशक प्रो0 रमापति मिश्र ने कहा कि संस्थान में हो रही प्रगति के लिए नेशनल बोर्ड ऑफ ऐक्रेडिटेशन के मानकों को बनाये रखने के लिए इस तरह के आयोजनों की उपयोगिता महत्वपूर्ण है।
इस अवसर पर संस्थान के विज्ञान प्रदर्शनी के मीडिया समन्वयक इं0 आशीष पाण्डेय, डॉ0 वंदिता पांडेय, डॉ0 प्रियंका श्रीवास्तव, डॉ0 महिमा चौरसिया, इं0 आर0के0 सिंह, इं0 नितेश दीक्षित ,इं0 पारितोष त्रिपाठी, इं0 अखिल विक्रम यादव, इं0 दीपक अग्रवाल, इं0 परिमल तिवारी ,इ0 रमेश मिश्र,इ0 शाम्भवी शुक्ल,इ0 सम्रद्धि सिंह, इं0 अंकित श्रीवास्तव, इं0 दिलीप यादव, इं0 श्वेता मिश्र, इ0 कृति श्रीवास्तव, इ0 अनुराग सिंह, इ0 पियूष राय, इं0 अवधेश दीक्षित, इं0 रजनीश पाण्डेय, इं0 अवधेश मौर्य, इं0 आशुतोष मिश्र,डॉ अतुल सेंन सिंह इ0 विनीत सिंह ,डॉ बृजेश भारद्वाज, डॉ0 महेन्द्र सिंह एवं समस्त कर्मचारी गण उपस्थित रहे।

Advertisements
Advertisements

Comments are closed.