The news is by your side.

सामाजिक न्याय के प्रबल पक्षधर थे जननायक कर्पूरी ठाकुर : गंगा यादव

धूमधाम से मनायी गयी जननायक कर्पूरी ठाकुर की 95वीं जयंती

अयोध्या। जननायक कर्पूरी ठाकुर सामाजिक न्याय के प्रबल पक्षधर थे। बिहार के मुख्यमंत्री रहते उन्होंने पिछड़ों को सर्वप्रथम आरक्षण दिया था जो आज भी कर्पूरी फार्मूले के नाम से जाना जाता है। उक्त विचार सपा कार्यालय लोहिया भवन में आयोजित कर्पूरी ठाकुर की 95वीं जयन्ती के अवसर पर सपा जिलाध्यक्ष गंगासिंह यादव ने व्यक्त किये। उन्होंने कहा कि आज कल विश्वविद्यालयों में रोस्टर के नाम पर नियुक्तियों के लिये जो प्रक्रिया अपनायी जा रही है वह संविधानवादी न होकर प्रकारांतर से वर्ण व्यवस्था के अनुसार है। उन्होंने कहा कि रोस्टर प्रणाली पिछड़ों और दलितों की उच्च शिक्षा में नौकरी और शिक्षा से वंचित करने की गहरी साजिश है। साथ ही आरक्षण समाप्त करने की शिक्षा में उठाया गया कदम है। गोष्ठी को सम्बोधित करते हुए सपा जिला उपाध्यक्ष बाबूराम गौड़ व सपा के पूर्व प्रदेश सचिव मोहम्मद हलीम पप्पू ने कहा कि जननायक कर्पूरी ठाकुर भारत के स्वतंत्रता सेनानी, शिक्षक, राजनीतिज्ञ तथा बिहार राज्य के उप मुख्यमंत्री और दो बार मुख्यमंत्री रह चुके हैं। सपा महानगर अध्यक्ष मोहम्मद कमर राईन व पूर्व ब्लाक प्रमुख राम अचल यादव ने कहा कि लोकनायक जय प्रकाश नारायण एवं समाजवादी चिन्तक डॉ0 राम मनोहर लोहिया, कर्पूरी ठाकुर के राजनीतिक गुरू थे। सपा प्रवक्ता ओम प्रकाश ने बताया कि 24 जनवरी 1924 को बिहार के समस्तीपुर के गॉंव पितौझिया में हुआ था। इस मौके पर कर्पूरी ठाकुर के चित्र पर माल्यार्पण किया गया। गोष्ठी में छोटेलाल यादव, मोहम्मद असलम, पार्षद हाजी असद अहमद, रामभवन यादव व दान बहादुर सिंह, रक्षाराम यादव, अजय विश्वकर्मा, शमशेर यादव, सनी यादव, सौरभ सिंह यादव, हसन इकबाल, चन्द्रभान यादव, उमेश यादव, करन यादव मन्नू, अंसार अहमद बब्बन, देशराज यादव, ईशा कुरैशी, शकील अहमद, शाहबाज खान लकी, आशीष श्रीवास्तव, तालिब खान आदि बड़ी संख्या में मौजूद थे।

Advertisements

सामाजिक न्याय केअग्रदूत पिछड़े, दलितों व वंचितों के सच्चे हितैषी थे कर्पूरी ठाकुर

पूर्व मुख्यमंत्री जननायक कपूरी ठाकुर जी की 95वीं जयन्ती राष्ट्रीय लोकदल पार्टी आनन्दनगर गौहनिया चौराहा पर राष्ट्रीय युवा लोकदल के मण्डल महासचिव सुनील शर्मा की अगुवाई में धूमधाम से मनाया गया। तत्पश्चात राजकुमार सेन की अध्यक्षता में विचार गोष्ठी आयोजित की गयी। गोष्ठी को सम्बोधित करते हुये राष्ट्रीय लोकदल जिलाध्यक्ष चौधरी रामसिंह पटेल ने कहा कि जननायक महान स्वतन्त्रता सेनानी कपूरी ठाकुर सामाजिक न्याय के लिए अग्रदूत पिछड़े, दलितों और वंचितों के सच्चे हितैसी थे। जन नायक के नाम से मशहूर बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री ने स्वतन्त्रता संग्राम आन्दोलन के दौरान 26 माह जेल में बिताया था वे भारत के पूर्व प्रधानमंत्री किसान मसीहा चौधरी चरणसिंह के अति करीबियों में से थे। अत्यन्त गरीब परिवार में जन्मे जन नायक जी हमेशा देश और समाज के सुधार के लिये चिन्तित रहते थे। अध्यक्षता करते हुये राजकुमार सेन ने कहा कि जन नायक कपूरी ठाकुर जी ने सर्व प्रथम मुख्यमंत्री रहते हुये बिहार में अति पिछड़े गरीबों को आरक्षण देने का काम किया था। समाज को संगठित और आगे बढ़ाने की प्रेरणा लेनी चाहिए। कार्यक्रम में जिला महासचिव अवधेश रावत, राजकुमार सेन, हनुमान शर्मा, प्रदीप शर्मा, दीपक शर्मा, रामलगन रावत, प्रेमनाथ वर्मा, बृजनाथ वर्मा, धर्मेन्द्र रावत, शम्भूनाथ वर्मा, गुड्डू रावत सहित तमाम लोग मौजूद रहे।

Advertisements

Comments are closed.