गोरा बनने का ख्वाब दो बालिकाओं को खींच ले गया मुम्बई

बालिकाओं को पुलिस सकुशल ले आयी वापस

Advertisement

फैजाबाद। काला होने की उलाहना से तंग गोरा बनने और पैंसा कमाने का ख्वाब दो नाबालिग बालिकाओं को फिल्म नगरी मुम्बई खींच ले गयी। पुलिस की सक्रियता के कारण परिवारीजनो की मदद से मुम्बई में दो बालिकाएं बरामद की गयीं और उन्हें सकुशल घर वापस लाया गया।
पुलिस अधीक्षक ग्रामीण संजय कुमार ने बताया कि थाना इनायतनगर के ग्राम ईंट गांव से 8 जुलाई को 13 वर्षीय साधना पुत्री धर्मवीर और 11 वर्षीय काजल पुत्री राजेश यादव दोपहर 2 बजे घर से निकलीं। गुमशुदगी की तहरीर राकेश यादव की पत्नी मालती यादव ने थाना इनायतनगर में दी जिसके आधार पर मु.अ.सं. 245/18 आईपीसी की धारा 363 के तहत मुकदमा पंजीकृत किया गया। परिवारीजनो और आसपास के हमउम्र लड़कियों से जब पूंछताछ की गयी तो लापता लड़कियों ने उन्हें बताया था कि वह कहा करती थीं कि मुम्बई जायेंगे और वहां अपने चमड़े को गोरा करायेंगे और खूब पैंसा कमायेंगे। वह यह भी कहा करती थीं कि हमारे घर वाले अक्सर काला होने का उलाहना देते हुए मारते पीटते थी थे। पुलिस ने इस सूचना के आधार पर मुम्बई पुलिस को सूचना दिया और वहां की पुलिस की मदद से दोनों बालिकाओं को बरामद कर लिया गया। दोनों बालिकायें बिना बताये घर से मैजिक पर बैठकर फैजाबाद रेलवे स्टेशन पहुंची और साकेत एक्सप्रेस ट्रेन से मुम्बई पहुंच गयीं। दोनो बालिकाओं को सकुशल फैजाबाद लाकर परिवारीजनों को सौंप दिया गया है। एसपी ग्रामीण ने बताया कि यह मामला अति महत्वांकांक्षा का है। इस घटना से अन्य किशोरियों को सबक लेना चाहिए और काई भी ऐसा कदम नहीं उठाना चाहिए जिससे वह मुसीबत में फंस जायें।