अवध विवि शिक्षकों का जत्था भ्रमण कर लौटा वापस

एक्टिव लर्निंग के अर्न्तगत आयोजित वर्कशाप टेक योर थर्ड योजना में करने गये थे प्रतिभाग

फैजाबाद। डाॅ. राम मनोहर लोहिया अवध विश्वविद्यालय के इंजिनियरिंग संस्थान के 33 सदस्यों के शिक्षकों का दल अपने मेंटर भारतीय प्रोद्योगिकी संस्थान, कानपुर का भ्रमण कर लौटा ज्ञात हो कि डाॅ. राम मनोहर लोहिया अवध विश्वविद्यालय के इंजिनियरिंग संस्थान के विभिन्न विभागों 33 सदस्यों शिक्षकों का दल टेकिप- के अर्न्तगत अपने नये मेंटर भारतीय प्रोद्यौगिकी संस्थान कानपुर से 2 जुलाई से 6 जुलाई तक एक्टिव लर्निंग के अन्र्तगत आयोजित वर्कशाप टेक योर थर्ड योजना में प्रतिभाग कर विश्वविद्यालय लौटे। वहां पर समस्त शिक्षकों ने प्रोद्यौगिकी संस्थान के पठन-पाठन शैली का गहन अध्ययन किया। जिसका फायदा आगामी सत्र से यहां के छात्र-छात्राओं को अवश्य प्राप्त होगा। संस्थान के नवागत निदेषक प्रो. रमापति मिश्रा एवं वरिष्ठ प्राध्यायपक डाॅ. सुधीर श्रीवास्तव ने बताया कि आई0आई0टी0 में चले रहे कोर्सों और उसके उद्देश्य एवं उसके आउटकम से सम्बन्धित जानकारियां यहां के शिक्षकों द्वारा साझा किया गया। वहां इस बात पर अधिक ध्यान केन्द्रित करने पर बल दिया गया कि चलाये जाने वाले कार्सों की रूपरेखा इंडस्ट्री के अनुसार होने चाहिए जिससे कि छात्रों को नौकरी मिलने में सुविधा हो। आई0आई0टी0 कानपुर के प्रोफेसर सी0एस0 उपाध्याय ने गेट परीक्षा से सम्बन्धित कई जानकारियों को इंजिनियरिंग संस्थान के शिक्षकों के साथ साझा किया। आई0आई0टी0 कानपुर के प्रवास के दौरान यहां के शिक्षकों द्वारा वहां के कई प्रयोगशाला का भ्रमण किया गया। जहां प्रयोगों को रोचक ढंग से कराने की विधा को बताया गया। आई0आई0टी0 कानपुर के रसायन शास्त्र प्रयोगशाला में पहले दूध में प्रोटीन की मात्रा निकालने दिया जाता है। यह टाइट्रेशन विधि से होता है। इससे छात्रों को बोरिंग नहीं होती है और वे इस कार्य को इंज्वाय करने लगते हैं। इसी तरह भौतिकी प्रयोगशाला में एक सायकिल के पहिये से मामेन्ट आॅफ इनरसिया की माप करना अपने आप मेें मजेदार है। मीडिया प्रभारी प्रो0 के0 के0 वर्मा ने संस्थान के निदेशक के हवाले से बताया कि शिक्षकों में अत्यन्त उत्साह का वातावरण है और वे वहां के अनुभव से अभिसिंचित होकर आई0ई0टी के छात्र छात्राओं को रोचक ढंग से पठन-पाठन हेतु दृढ़ संल्कपित है।

इसे भी पढ़े  11 स्वास्थ्य केंद्रों पर 2200 फ्रन्ट लाइन वर्कर को लगा कोविड-19 टीका

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More