ईद-उल-फितर की तैयारियों को लेकर हुई बैठक

अयोध्या। जिलाधिकारी अनुज कुमार झा ने कलेक्ट्रेट सभागार में रमजान/ईद-उल-फितर की तैयारियों के सम्बन्ध में पुलिस, चिकित्सा व अन्य सम्बन्धित विभाग के अधिकारियों तथा मुस्लिम सम्प्रदाय के गणमान्य नागरिकों के साथ बैठक की।
बैठक में जिलाधिकारी श्री झा ने सभी उप जिलाधिकारियों व सीओ के सम्बन्धित क्षेत्रों के भ्रमण व थानों पर पीस कमेटी की बैठक में प्राप्त सुझावों व समस्याओं की जानकारी ली। बैठक में एसडीएम सदर अर्पित गुप्ता ने बताया कि तहसील क्षेत्र में कही पर कोई विवाद संज्ञान में नही है, गोसाईगंज में रोड पर नमाज अदा करने की मद्देनजर, यादव नगर व मया बाजार से रोड डायवर्जन की तैयारी पूरी है। एसडीएम बीकापुर ने बताया कि चैरेबाजार में हाइवे पर नमाज अदा होती है इसके लिये ट्रैफिक डायवर्जन का प्लान हो गया है। एसडीएम रूदौली ने बताया कि सुनहरी मस्जिद, इस्लामिया इण्टर कालेज के पास विद्युत की समस्या है तथा रौजागांव के पास में मस्जिद के तरफ जाने का रास्ता खराब है, जिस पर जिलाधिकारी ने विद्युत समस्या व खराब सड़क को आज ही ठीक कराने के निर्देश दिये।
जिलाधिकारी ने सभी नगर निकायों को अलविदा की नमाज के दिन ईदगाह व मजिस्दों के रास्ते के मोहल्लों की साफ-सफाई, चूना छिड़काव व प्रकाश व्यवस्था ठीक कराने के निर्देश, नलकूपों से जलापूर्ति/टैंकर आदि से पेयजल की व्यवस्था सुनिश्चित करने के निर्देश दिये, जिलाधिकारी ने हैण्डपम्पों की मरम्मत, प्रातः शहरी एवं सायंकाल तराबी तथा रोजा अफ्तार के समय जलापूर्ति की व्यवस्था, स्ट्रीट लाइट/प्रकाश व्यवस्था दुरूस्त करने तथा आवारां पशुओं/सूअरों आदि को सड़को पर घूमने से रोकने की व्यवस्था कराने के निर्देश दिये।
बैठक में जिलाधिकारी ने विद्युत विभाग को रमजान माह एवं ईद-उल-फितर के अवसर पर अनवरत विद्युत आपूर्ति सुनिश्चित कराने तथा ढीले लटके तारों को कसाने एवं मोबाइल ट्रांसफार्मर व मरम्मत हेतु मोबाइल टीम की व्यवस्था करने के निर्देश दिये। जिलाधिकारी ने नगर क्षेत्र में शाम को पुलिस गस्त टीम के साथ थाने वाइज एक जिम्मेदार विद्युत कर्मी/जे0ई/ए0ई0 की ड्यूटी लगाने के निर्देश दिये, जिससे गस्त के दौरान प्राप्त विद्युत समस्याओं को तत्काल ठीक कराया जा सके। जिलाधिकारी ने प्रान्तीय खण्ड लोनिवि को मोहल्लों/मस्जिदों/ईदगाहों के मार्गो पर पड़ने वाले विभागीय सड़को की आवश्यकतानुसार मरम्मत कराने के निर्देश दिये। उन्होने सभी उप जिलाधिकारियों व सीओ को सुअर पालकों को नोटिस देकर यह सुनिश्चित कराने के निर्देश दिये रमजान के दिन कोई भी सुअर बाहर न निकलने पाये। बैठक में एसपी सिटी ने कहा कि ईद-उल-फितर/रमजान को ध्यान में रखते हुए पूरी सुरक्षा व्यवस्था की गयी है, उन्होनें कहा कि सभी मस्जिदों व ईदगाहों पर पुलिस के जवानो की ड्यूटी लगाई गई है, इस दौरान सुरक्षा के चाक-चैबन्द प्रबन्ध किये गये है।
बैठक में एडीएम सिटी वैभव शर्मा, एसपी सिटी अनिल कुमार सिसौदिया, एडीएम प्रशासन सोमदत्त मौर्य, एसपी ग्रामीण, सिटी मजिस्ट्रेट, अपर नगर आयुक्त सहित सभी एसडीएम, सीओ, ईओ व अन्य सभी सम्बन्धित विभागों के अधिकारी उपस्थित थे।

इसे भी पढ़े  कुल्हाड़ी से हमलाकर चचेरे भाई ने किया मरणासन्न, लखनऊ रेफर

कुम्हारीकला से जुड़े लोगो को प्रोत्साहित करने के लिए बैठक

अयोध्या। जिलाधिकारी अनुज कुमार झा ने कलेक्ट्रेट सभागार में माटी कला/कुम्हारीकला से जुड़े लोगो को प्रोत्साहित करने तथा शासन की तरफ से उपलब्ध कराई जाने वाली सुविधाओं के सम्बन्ध में बैठक की। बैठक में एसडीएम सदर ने बताया कि तहसील सदर में कुम्हार परिवार वाले 127 ग्रामों में कुल 462 कुम्हार परिवार मिट्टी के कार्य के व्यवसाय से जुड़े हैं। जिनमें 102 लोगो को तालाब के मिट्टी का पट्टा आवंटित किया गया है। तहसील सोहावल में 80 कुम्हार परिवार वालें गांव है जिसमें 776 कुम्हार परिवार मिट्टी के कार्य के व्यवसाय से जुड़े हैं, जिसमें 76 कामगारों को तालाब के मिट्टी का पट्टा आवंटित हैं। बीकापुर तहसील के 145 कुम्हार परिवार वाले गांवो में 1205 कुम्हार परिवार हैं जिनमें से 933 परिवार मिट्टी के कार्य के व्यवसाय से जुड़े हैं जिसमें 343 कामगारों को तालाब के मिट्टी का पट्टा आवंटित है। मिल्कीपुर तहसील में 137 कुम्हार परिवार वाले गांवो में कुल 1229 कुम्हार परिवार हैं जिनमें से 73 परिवार मिट्टी के कार्य के व्यवसाय से जुड़े है, इसमें से 53 कामगारों को तालाब के मिट्टी का पट्टा आंवटित किया गया है।
उन्होनें सभी उप जिलाधिकारियों को माटीकला से जुड़े लोगो का सर्वे कराकर चिन्हित कराने के निर्देश दिये। उन्होनें कहा कि कुम्हारीकला से जुड़े जिन परिवारों को पट्टा दिया गया है, उनका सर्वे कराकर वैरीफाइ कर लें कि वास्तव में कितने लोग कार्य कर रहे है। जो लोग पट्टा लेने के उपरान्त कार्य नही कर रहे है उन्हें चिन्हित करें, इनके स्थान पर अन्य जो लोग वास्तव में कार्य कर रहे है उनको पट्टा दें। उन्होनें कुम्हारी कला को प्रोत्साहन देने हेतु लीड बैंक मैनेजर को आसान शर्तो पर लोन देने के निर्देश दिये, मोटर/बिजली से चलने वाले चाक लेने के इच्छुक लोगो को चिन्हित कर उन्हें इससे जुड़ी सुविधाओं को उपलब्ध कराने के निर्देश दिये। उन्होनें उपायुक्त उद्योग आशुतोष सिंह को इस कला से जुड़े लोगो को चिन्हित कर उन्हें माटीकला से अच्छे एक्सपर्टस से ट्रेनिंग दिलाने तथा नगर निगम के सहयोग से दुकाने उपलब्ध कराने के निर्देश दिये, जहां पर वे अपने सामानो को रखकर बेच सके। जिलाधिकारी ने कहा कि तहसील सदर व सोहावल के ऐसे कामगार जो तुरन्त इस कार्य को करने के इच्छुक हो उन्हें जगह का चिन्हाकन कर 15 दिन में जगह उपलब्ध करायें। जिलाधिकारी ने कहा कि सरकार द्वारा प्लास्टिक को प्रतिबन्धित किया गया है, इससे बड़ी मात्रा मृदा प्रदूषण के साथ-साथ जल प्रदूषण भी हो रहा है, शहर में प्लास्टिक के ग्लास, दोना तथा थर्माकोल के ग्लास, दोना, पत्तल आदि को पूर्णतः प्रतिबन्धित किया जायेगा, इसके लिये टीमों का गठन करके लगातार छापेमारी की जायेगी तथा पकड़े जाने वालो पर सख्त कार्यवाही की जायेगी।
बैठक में महापौर ऋषिकेश उपाध्याय, सीआरओ पीडी गुप्ता, अपर नगर आयुक्त, एसडीएम सदर अर्पित गुप्ता, एसडीएम सोहावल विपिन कुमार सिंह, एसडीएम बीकापुर लवकुमार सिंह, एसडीएम रूदौली सुश्री ज्योति सिंह, तहसीलदार मिल्कीपुर परवेश कुमार व सम्बन्धित अधिकारीगण उपस्थित थे।

पौधरोपण की विभागवार बनायी गयी रणनीति

अयोध्या। जिलाधिकारी अनुज कुमार झा ने कलेक्ट्रेट सभागार में वर्ष 2019-20 में किये जाने वाले पौधरोपण शासन द्वारा विभागवार/श्रेणीवार आंवटित लक्ष्य को प्राप्त करने हेतु बनाई गयी, योजना के सम्बन्ध में बैठक की। बैठक में डीएफओ रवि सिंह ने बताया कि इस बार शासन द्वारा जनपद में ग्राम्य विकास विभाग को 1419500, राजस्व विभाग को 141950, पंचायती राज को 141950, लो0नि0वि0 को 28714, सिंचाई को 26600, कृषि को 100000, सहकारिता को 10000, विद्युत को 5320, माध्मिक शिक्षा को 56780, बेसिक शिक्षा को 56780, प्रावधिक शिक्षा को 11674, उच्च शिक्षा को 100000, श्रम को 3567, स्वास्थ्य को 10649, उद्यान को 141940, पुलिस को 7680, वन को 1330180, आवास विकास को 7680, औद्योगिक विकास 5400, नगर विकास को 26555, उद्योग 9086, परिवाहन 3680, रेलवे को 6652 तथा रक्षा विभाग को 4639 पौधो को रोपित करने का लक्ष्य दिया गया है। उन्होनें बताया कि पौध रोपण का कार्य 01 जुलाई से शुरू होगा। 15 जुलाई 2019 तक 15 प्रतिशत, 31 जुलाई तक 40 प्रतिशत, 15 अगस्त तक 65 प्रतिशत, 31 अगस्त 90 प्रतिशत तथा 25 मार्च 2020 तक शत्-प्रतिशत वृक्षारोपण के लक्ष्य का कार्य पूर्ण करने का लक्ष्य निर्धारित है। जिलाधिकारी ने लोनिवि सहित सभी विभागों को पीपल, बरगद, पाकड़, नीम, महुआ, शीशम, गुलमोहर, सागवन जैसी प्रजातियों को अधिक से अधिक लगाने के निर्देश दिये, उन्होनें कहा कि कोशिश करें कि यूकेलिप्टर्स के पौधे को कम से कम रोपित करें। उन्होनंे कहा कि 01 जुलाई से वृक्षारोपण का कार्य प्रारम्भ होना है इसे ध्यान में रखते हुये सभी विभाग लक्ष्य को आपस बांटकर वृक्षारोपण का कार्य करें, जिससे लक्ष्य की प्राप्ति हो सके। उन्होनंे कहा कि सभी विभाग एक सप्ताह के अन्दर जमीनो को चिन्हित कर गढ्ढा खोद लें और उसकी फोटोग्राफी करवा लें तथा पौधो हेतु वन विभाग से सम्पर्क कर लें और समय से पर्याप्त मात्रा मे पौधो की उपलब्धता सुनिश्चित कर लें। बैठक में मुख्य विकास अधिकारी अभिषेक आनन्द, डीएफओ रवि सिंह, सीआरओ पीडी गुप्ता सहित अन्य सम्बन्धित अधिकारी उपस्थित थे।

इसे भी पढ़े  किसानों का शोषण करने की खुली छूट देता है नया कृषि कानून : सभाजीत सिंह

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More