स्वच्छता अभियान से देश में आया बड़ा परिवर्तन : प्रो. एस.एन शुक्ला

स्वच्छता एक्शन प्लान पर दो दिवसीय कार्यशाला का शुभारम्भ

अयोध्या। डॉ0 राममनोहर लोहिया अवध विश्वविद्यालय के संत कबीर सभागार में होटल प्रबंध संस्थान, लखनऊ पर्यटन मंत्रालय, भारत सरकार एवं विश्वविद्यालय के समाजकार्य विभाग के संयुक्त तत्वावधान में स्वच्छता एक्शन प्लान पर दो दिवसीय कार्यशाला का उद्घाटन किया गया। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि प्रति कुलपति प्रो0 एस0एन0 शुक्ला रहे। कार्यक्रम की अध्यक्षता एम0बी0ए0 विभाग के प्रो0 हिमांशु शेखर सिंह ने किया।
कार्यशाला को संबोधित करते हुए प्रति कुलपति प्रो0 एस0एन0 शुक्ला ने स्वच्छता अभियान के महत्व पर प्रकाश डालते हुए कहा कि भारत सरकार इस महत्वपूर्ण अभियान को पूरे देश में संचालित कर रही है। विगत वर्षों में स्वच्छता मिशन को लेकर जागरूकता काफी बढ़ी है। विश्व संदर्भ में देखा जाये तो भारत की ग्रेडिंग स्वच्छता के मामले में काफी नीचे थी इसमें अब व्यापक सुधार हुआ है। यूरोप के कई देश स्वच्छता के मानको में काफी आगे है। भारत में स्वच्छता जागरूकता को लेकर उत्तर एवं दक्षिण के राज्यों में व्यापक अन्तर देखा जा सकता है। भवन निर्माण को लेकर विकसित देश पर्यावरण पर ध्यान देते है और उसके अनुरूप प्रदूषण को लेकर जागरूक होते है। प्रो0 शुक्ला ने बताया कि स्वच्छता अभियान से देश में बड़ा परिवर्तन आया है। महात्मा गांधी ने स्वच्छता को लेकर जो जनजागरण की तस्वीर प्रस्तुत की है वह एक बड़ा उदाहरण एवं सामाजिक सीख है। हम सभी को उनसे प्रेरणा लेनी चाहिए। स्वच्छता को लेकर किसी भी प्रकार का संकोच नहीं होना चाहिए। सकारात्मक सोच के साथ अभियान को आगे बढ़ायें। विगत डेढ़ वर्षों में विश्वविद्यालय में भी स्वच्छता अभियान का काफी असर दिखा है। प्रो0 शुक्ला ने बताया कि पर्यावरण को संरक्षित करने के उद्देश्य से बड़े पैमाने पर अभियान चलाया गया कुछ ही समय में इसके सुखद परिणाम होंगे।
कार्यशाला के उद्बोधन में प्रो0 हिमांशु शेखर सिंह ने कहा कि स्वच्छता एक प्रकार का प्रबंधन है। पर्यटन का विकास इसी की एक महत्वपूर्ण कड़ी है। प्राकृतिक श्रोतों को बगैर नुकसान पहुॅचाये पर्यटन को विकसित करना होगा। पर्यटक प्राकृतिक रूप से सम्पन्न स्थलों पर तभी जाने की प्राथमिकता देते है जब वहां पर स्वच्छता एवं पर्यावरण के साथ-साथ रहन सहन का सकारात्मक वातावरण हो। प्रो0 सिंह ने कहा कि अयोध्या एक ऐसा स्थल है जहां पर्यटन की आपार संभावनायें है। कार्यशाला के नोडल ऑफिसर होटल प्रबंध संस्थान, लखनऊ पर्यटन मंत्रालय, भारत सरकार डॉ0 तरूण कुमार बंसल ने बताया कि कार्यशाला का उद्देश्य स्वच्छता अभियान को जन-जन भागीदारी तक पहुॅचाना हैं। पर्यापरण को समृद्ध करने के लिए सभी को जागरूक होने की आवश्यकता है। शौचालयों के उपयोग से संक्रमण एवं गंदगी पर रोक लगाई जा सकती है। डॉ0 बंसल ने बताया कि स्वास्थ्य सुविधाओं का सदुपयोग करने एवं जागरूक नागरिक बन कर आस-पास के परिवेश को स्वच्छ बनाने में सहयोग करें। डॉ0 बंसल ने बताया कि उद्घाटन सत्र तक सौ से अधिक प्रतिभागियों ने प्रतिभाग करने के लिए पंजीयन कराया है। कार्यक्रम का संचालन होटल प्रबंध संस्थान, लखनऊ पर्यटन मंत्रालय, भारत सरकार के कार्यक्रम समन्वयक गौरव विशाल ने किया। धन्यवाद ज्ञापन कार्यशाला के आयोजक डॉ0 विनय मिश्र ने किया। इस अवसर पर डॉ0 शैलेन्द्र कुमार, डॉ0 विनोद चौधरी, डॉ0 राजेश सिंह कुशवाहा, डॉ0 दिनेश कुमार सिंह, डॉ0 आर0 एन0 पाण्डेय, डॉ0 अनिल कुमार विश्वा, डॉ0 विजयेन्दु चतुर्वेदी, डॉ0 महेन्द्र पाल सहित अन्य शिक्षकों एवं प्रतिभागियों की उपस्थिति रही।

इसे भी पढ़े   विकलांग दंपत्ति ने एसएसपी कार्यालय पर शुरू किया आमरण अनशन

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More