The news is by your side.

संत भीखादास रामजस स्नातकोत्तर महाविद्यालय में विधि की कक्षाएं शुरू

 -महाविद्यालय को इसी वर्ष विधि संकाय के संचालन के लिए 60 सीटों की मान्यता प्राप्त हुई

मिल्कीपुर। क्षेत्र के संत भीखादास रामजस स्नातकोत्तर महाविद्यालय मोहली में विधि की कक्षाएं शुरू हुई। मुख्य अतिथि कामता प्रसाद सुंदर लाल स्नातकोत्तर महाविद्यालय साकेत के विधि संकाय के प्रोफ़ेसर अजय कुमार सिंह ने मां सरस्वती के चित्र पर पुष्प अर्पित कर शुभारंभ किया। महाविद्यालय को इसी वर्ष विधि संकाय के संचालन के लिए 60 सीटों की मान्यता प्राप्त हुई है।

Advertisements

मुख्य अतिथि प्रोफेसर अजय सिंह ने छात्रों को संबोधित करते कहा कि विधि के छात्र को धैर्य की सबसे अधिक आवश्यक है। उन्होंने छात्रो से कहा कि वकालत के पेशे में योग्य बनना अति आवश्यक है मात्र परीक्षा पास कर लेने से कुछ होने वाला नहीं है। यदि आप में योग्यता नहीं है तो कानूनी सलाह के लिए कोई एक बार आपके पास आयेगा दोबारा नहीं आयेगा। उन्होंने छात्रों को प्रेरित किया कि वह भी विधि की परीक्षा पास कर न्यायाधीश व अधिवक्ता बनकर अपने महाविद्यालय का नाम रोशन करें। पहले ही सेमेस्टर से अपना लक्ष्य निर्धारित कर लीजिए कि एलएलबी पास करके आगे आपकों क्या करना है।

ग्रामीण अंचल मे कानून की शिक्षा व्यवस्था के लिए उन्होंने महाविद्यालय के प्रबंधक प्राचार्य की सराहना की। महाविद्यालय के प्रबंधक डॉ एनसी तिवारी ने छात्रों को संबोधित करते हुए कहा कि छात्र समय सारणी बनाकर मेहनत से पढ़ाई कर अच्छे अंक प्राप्त करें। उन्होंने कहा कि छात्र कानून की पढ़ाई कर देश व समाज की सेवा का उच्च आदर्श स्थापित करें। महाविद्यालय के संस्थापक अतिथियों का धन्यवाद व आभार प्रकट किया। डॉ सर्वेश तिवारी ने शुभारंभ अवसर पर पधारे अतिथियों का स्वागत सत्कार किया। कार्यक्रम का संचालन डॉ देव कुमार दुबे ने किया। कार्यक्रम में डॉ सर्वेश तिवारी, डॉ शैलेश तिवारी, डॉ ओम प्रकाश तिवारी, राम उजेंर शुक्ला, चंद्रशेखर पांडे व विधि के छात्र उपस्थित रहे।

इसे भी पढ़े  पीएम मोदी का विजन, देश को एक आत्मनिर्भर राष्ट्र बनाने को मिशन के तौर पर करेंगे कार्य : पंकज सिंह

 

Advertisements

Comments are closed.