The news is by your side.

वाहन चालकों को यातायात नियमों के प्रति किया गया प्रेरित

-नशा, नींद ,तेज रफ्तार सड़क हादसों की प्रमुख वजह : प्रवीण सिंह

अयोध्या। परिवहन विभाग द्वारा मनाए जा रहे सड़क सुरक्षा माह के तहत शहर के प्रमुख चौराहों पर चेकिंग अभियान चलाया गया ।अभियान के दौरान मोबाइल फोन पर बात करते हुए ड्राइव कर रहे 57 व नशे की हालत में वाहन चला रहे 13 लापरवाह चालको समेत कुल 70 वाहन चालकों के चालान किए गए। इसके अतिरिक्त दर्जनों वाहन चालकों को यातायात नियमों की जानकारी दी गई।

Advertisements

एआरटीओ प्रवर्तन प्रवीण कुमार सिंह ने वाहन चालकों को यातायात नियमों के प्रति प्रेरित करते हुए कहा कि सड़क सुरक्षा किसी एक व्यक्ति का कार्य नहीं है, इसके लिए सामूहिक प्रयास करना होगा । बढ़ रहे सड़क हादसों पर चिंता जताते हुए उन्होंने कहा कि नशा, नींद ,तेज रफ्तार सड़क हादसों की प्रमुख वजह है। सीटबेल्ट हेलमेट के नियमित प्रयोग से ही सड़क हादसे में मृतकों की संख्या को कम किया जा सकता है। उन्होंने कहा कि अक्सर जल्दबाजी में हादसे हो जाते हैं। यार का हादसों में घायल व्यक्तियों को अस्पताल पहुंचाने में मदद करें यह एक पुनीत कार्य है अब अस्पताल पहुंचाने वाले व्यक्ति की कोई भी जानकारी सार्वजनिक नहीं की जाती ।

हादसे में घायल व्यक्ति के लिए गोल्डन आवर यानी पहला घंटा व्यक्ति की जान बचाने में सबसे महत्वपूर्ण है इसलिए हादसा हो जाने की स्थिति में 108 नंबर डायल कर चिकित्सा सहायता लेनी चाहिए। अभियान में ब्रेथ एलाइजर के माध्यम से वाहन चालकों का परीक्षण भी किया गया। उन्होंने बताया कि नशे की हालत में वाहन चलाने पर ड्राइविंग लाइसेंस के निलंबन का प्रावधान है । अयोध्या जनपद अभियान के तहत 28 ड्राइविंग लाइसेंस का निलंबन किया जा चुका है। अभियान में प्रभारी एआरटीओ प्रवर्तन संदीप चौधरी, यात्री कर अधिकारी खुर्शीद ,राम सिंह, दुर्गेश सिंह, बाल गोविंद उपाध्याय आदि शामिल रहे।

Advertisements

Comments are closed.