समाधान दिवस में बच्चे संग महिला ने आत्मदाह का किया प्रयास

चंकबंदी प्रक्रिया में गड़बड़ी से आहत थी महिला
मिल्कीपुर तहसील में आयोजित समधान दिवस के दौरान हुई घटना

मिल्कीपुर-अयोध्या। मंगलवार को उपजिलाधिकारी मिल्कीपुर केडी शर्मा की अध्यक्षता में मिल्कीपुर तहसील सभागार में संपूर्ण समाधान दिवस का आयोजन किया गया है। जिसमें कुल 140 मामले आए और 06 का मौके पर निस्तारण हुआ। समाधान दिवस में मोहम्मदपुर गांव निवासी लगभग (35) वर्षीय महिला राजमती पत्नी राम अचल अपने बच्चें के संग मिट्टी का तेल छिड़ककर आत्मदाह करने का प्रयास किया महिला चकबंदी प्रक्रिया से थी आहात चकबंदी में गड़बड़ी की शिकायत महिला ने उच्च अधिकारियों से लगभग 8 माह से कर रही थी लेकिन संबंधित अधिकारियों के कान पर जूं नहीं रेंगी न्याय ना मिलता देख समाधान दिवस सभागार में मिट्टी का तेल छिड़ककर बच्चें के साथ आग लगाने का प्रयास किया।
सभागार में यह मंजर देख अधिकारियों में अफरा-तफरी मच गई उपजिलाधिकारी के काफी मानमनौव्वल के बाद पीड़िता महिला मानी। अधिकारियों के पूछे जाने पर महिला ने बताया कि लगभग 40वर्ष पुराना पट्टा मिला हुआ है लेकिन चकबंदी प्रक्रिया में भूमि गायब हो गई है पैमाइश के लिए अधिकारियों के कार्यालयों का चक्कर लगा रही हूँ लेकिन कही से भी न्याय मुझे नही मिली इतनी बात सुनते ही एसडीएम ने तत्काल एसीओ चकबंदी सहित पुलिसकर्मियों को उक्त गांव भेजा।
वही उपजिलाधिकारी ने अधिकारियों को सभी मामलों का शीघ्र निस्तारण करने का आदेश देते हुए कहाकि समाधान स्थाई होना चाहिए जिससे लोगों को फिर परेशान न होना पड़े। समाधान दिवस में तहसीलदार मिल्कीपुर प्रवेश कुमार, पुलिस क्षेत्रअधिकारी मिल्कीपुर रुचि गुप्ता, नायब तहसीलदार ह््रदय नारायण तिवारी, बी0 डी0 ओ0 मिल्कीपुर सुनील कुमार कौशल, बी0डी0ओ0अमानीगंज पियूष मोहन श्रीवास्तव, खंड शिक्षा अधिकारी मिल्कीपुर प्रमोद कुमार उपाध्याय, खंड शिक्षा अधिकारी अमानीगंज रामा शंकर , एसडीओ बिद्युत ऋषिकेश यादव, एसीओ चकबंदी संग्राम सिंह सहित अन्य विभाग के अधिकारी एवं प्रतिनिधि मौजूद रहे।

इसे भी पढ़े  दुनियां का सबसे बड़ा लिखित भारतीय संविधान : प्रो. रविशंकर सिंह

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More