The news is by your side.

मकर संक्रांति पर श्रद्धालुओं ने लगाई सरयू नदी में डुबकी

-रामलला को लगाया गया खिचड़ी का भोग

Advertisements

अयोध्या। मकर संक्रांति के अवसर पर रामनगरी अयोध्या में श्रद्धालुओं ने पावन सलिला सरयू नदी में में आस्था की डुबकी लगाकर पुण्य अर्जित किया। कोविड प्रोटोकोल का पालन करते हुए श्रद्धालु घाटों पर पहुंचे और स्नान के बाद दान भी दिया। वहीं राम जन्मभूमि में प्रभु श्रीराम को खिचड़ी, पूड़ी-सब्जी व तिल के लड्डुओं का भोग लगाया गया। हिंदुओं के पवित्र पर्वों में मकर संक्राति महत्वपूर्ण पर्व है। इसलिए लोग गंगा के साथ सरयू नदी में भी स्नान करने के लिए भारी संख्या में अयोध्या पहुंचते हैं और अन्नदान भी करते है। ऐसी मान्यता है कि मकर संक्रांति के दिन राजा भागीरथी ने भगवान शिव को प्रसन्न कर मां गंगा को पृथ्वी पर अवतरित करवाया था। अयोध्या में सरयू के घाटों पर लोग भोर में ही पहुंचना शुरू हो गए थे।

स्नान व दान करने के बाद अपने आराध्य प्रभु श्रीराम व बजरंगबली का भी दर्शन-पूजन किया। संतों का मानना हैं कि सभी भी तीर्थ यात्रा कर लेने के बाद यदि अयोध्या नहीं आते हैं तो सभी तीर्थयात्रा बेकार हैं। इस दौरान प्रशासन द्वारा कड़ी सुरक्षा व्यवस्था की गई थी। सरयू घाटों पर जल पुलिस लगाई थी। मठ-मंदिरों में भी धूम रही। कई जगहों पर पूजा पाठ के साथ खिचड़ी का भोज भी कराया गया। राम जन्मभूमि के मुख्य अर्चक सत्येंद्र दास ने बताया कि रामलला को खिचड़ी, पूड़ी सब्जी और तिल के लड्ड्ओं का भोग लगाया गया।


वहीं दर्शन पूजन के लिए आए हुए श्रद्धालुओं के लिए विभिन्न स्थानों पर भंडारे का आयोजन किया गया। अयोध्या के राजघाट स्थित रामलला के मुख्य पुजारी आचार्य सत्येंद्र दास के निवास के प्रांगण में मकर संक्रांति के पर्व पर विशाल भंडारे का आयोजन रामाय ट्रस्ट ऑफ इंडिया के अनूप चौधरी फाउंडेशन भारत की ओर से किया गया जिसमें आए हुए भक्तों को देसी घी की बनी हुई खिचड़ी पूड़ी सब्जी दही का वितरण किया गया प्रसाद खाकर भक्त बहुत खुश हुए वही राम जन्म भूमि के मुख्य पुजारी आचार्य सत्येंद्र दास ने अनूप चौधरी फाउंडेशन भारत को इस विशाल भंडारे का आयोजन करने पर आभार व्यक्त किया इस मौके पर सैकड़ों की संख्या में संत महंत मौजूद रहे।

इसे भी पढ़े  सरकार वापस ले ऑनलाइन हाजिरी आदेश नही तो तेज होगा आन्दोलन

मकर संक्रांति पर हुई भव्य सरयू आरती


सोहावल। राम नगरी की तर्ज पर सोहावल के ढेमवा घाट में हर वर्ष पवित्र माँ सरयू की आरती और पूजन की शुरुआत नव गठित संस्था अमृत आश्रम ने किया। जंहा बड़ी संख्या में भक्तो ने हिस्सा लिकर अपने को पुण्य का भागी बनाया। शनिवार को मकर संक्रांति के अवसर पर आयोजित किए गए इस कार्यक्रम को लेकर सुबह से सरयू तट पर लोगो का जमावड़ा रहा। दिन भर स्नान ध्यान और पूजन करने वालो की लाइन लगी रही। मकर राशि मे सूर्य के पदार्पण से मनाये जाने वाले इस त्योहार को लेकर सुबह से शाम तक लोगो की उत्सुकता रही और लाभकारी माने जाने वाले इस पर्ब में आये लोगो ने सरयू की पूजा अर्चना में भाग लेकर प्रसाद ग्रहण कर अपने को पुण्य का भागी बनाया। अमित गुप्ता पुष्पेंद्र पाण्डेय और जे बी एन के संस्था से जुड़े लोगों सहित मौजूद लोगों में पंडित राम प्रवेश शैलेन्द्र दूबे श्रीकांत शास्त्री ज्ञान स्वरूप सिंह डॉ0 विवेक सिंह राम शंकर दूबे कमलेश पाण्डेय आदि शामिल रहे।

Advertisements

Comments are closed.