The news is by your side.

लोकतंत्र सेनानी हनुमान प्रसाद त्रिपाठी का लंबी बीमारी के बाद निधन

अमानीगंज। विकास खंड के पूरे बल्देव तिवारी मजरे तुलापुर निवासी लोकतंत्र सेनानी एवं कांग्रेस पार्टी के प्रदेश प्रशिक्षण समन्वयक हनुमान प्रसाद त्रिपाठी (70) का लंबी बीमारी के बाद शुक्रवार सुबह लखनऊ के एक निजी चिकित्सालय में निधन हो गया। निधन के बाद विभिन्न राजनीतिक दलों के नेताओं ने शोक संवेदना व्यक्त की। दोपहर में लखनऊ के चौक स्थित गुलाला घाट पर उनका अंतिम संस्कार किया गया।

Advertisements

विधि स्नातक स्वर्गीय हनुमान प्रसाद त्रिपाठी स्वर्गीय राजीव गांधी के अतिकरीबी व स्वर्गीय नारायण दत्त तिवारी के अभिन्न रहे हैं। इन्होने राजनीतिक जीवन की शुरुआत जयनारायण पीजी कालेज लखनऊ में छात्र संघ के चुनाव में अध्यक्ष के पद पर जीत हासिल कर की थी। स्वर्गीय त्रिपाठी हाईकोर्ट के अधिवक्ता भी रहे है।

देश में आपातकाल के दौरान दो महीने के लिए जेल भी गए हैं। जिससे उन्हें लोकतंत्र सेनानी का दर्जा भी प्राप्त था। स्वर्गीय त्रिपाठी मिल्कीपुर विधानसभा क्षेत्र से तीन बार विधानसभा का चुनाव भी लड़ चुके हैं हालांकि विधानसभा के किसी भी चुनाव में उन्हें जीत नहीं हासिल हो सकी थी। स्वर्गीय हनुमान प्रसाद त्रिपाठी कैंसर की बीमारी से ग्रसित थे पिछले काफी दिनों से उनका इलाज चल रहा था शुक्रवार भोर में इन्होंने लखनऊ के एक निजी चिकित्सालय में अंतिम सांस ली।

स्वर्गीय त्रिपाठी के निधन की सूचना जैसे ही उनके पैतृक गांव पहुंची चारों तरफ सन्नाटा छा गया। भारी संख्या में राजनीतिक दलों के नेताओं व सामाजिक कार्यकर्ताओं ने उनके पैतृक आवास पहुंचकर संवेदना व्यक्त की। दोपहर में लखनऊ के चौक स्थित गुलाला घाट पर अंतिम संस्कार किया गया। बड़े बेटे शशांक त्रिपाठी अंशू ने मुखाग्नि दी। पीसीसी सदस्य शिवपूजन पाण्डेय, युवक काग्रेस अध्यक्ष अयोध्या संजय तिवारी, अमरेश पांडे, राहुल तिवारी एवं वरिष्ठ कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने अंतिम संस्कार में सम्मिलित होकर शोक संवेदना व्यक्त की।

Advertisements

Comments are closed.