The news is by your side.

लगातार मौतों से सोहावल क्षेत्र में हड़कंप, लोगों दहशत

-ड्योढ़ी में पिता-पुत्र, भाईपुर में प्रधान पद प्रत्याशी की मौत

सोहावल। कोरोना महामारी के चलते लोगों में इतनी दहशत है कि सामान्य बीमारियों में भी कोई मदद को आगे नहीं आ रहा। यदि मौत हो जाए तो अर्थी को कंधा देने वाले भी नहीं हैं। ऐसी घटना सोहावल तहसील के ड्योढ़ी बाजार में प्रकाश में आई है।

Advertisements

जानकारी के अनुसार रौनाही थाना क्षेत्र के ड्योढ़ी बाजार निवासी 70 वर्षीय राम प्रकाश जायसवाल की शुक्रवार देर रात मौत हो गई। वे कुछ दिनों से बीमार भी थे। पिता राम प्रकाश की मौत के बाद बेटे को सर्दी, जुखाम, बुखार की शिकायत हुई। जिसके बाद हालत गम्भीर होने लगी। आसपास के लोगों में चर्चा के मुताबिक लोग अस्पताल लेकर भागे जहां आक्सीजन के अभाव में बेटे अरविंद उर्फ अनीश जायसवाल की शनिवार भोर 2 :30 बजे रात में मौत हो गई।

अनीश ड्योढ़ी बाजार में मशीनरी स्टोर की दुकान चलाते थे। पिता – पुत्र की मौत के बाद बड़े बेटे यानि अनीश के बड़े भाई पप्पू की भी हालत बिगड़ गई है। लोगों की मदद से ट्रामा सेंटर को लेकर गए हैं।घटना को लेकर ड्योढ़ी बाजार में कोहराम मच गया। भय और दहशत का माहौल बन गया है। शनिवार दोपहर तक घर में पड़ी दो लाशों के अंतिम संस्कार में मदद के लिए भयवश कोई आगे नही बढा। परिजनों का हाल बेहाल रहा। सोशल मीडिया पर खबर चलने के बाद किसी तरह अंत्येष्टि कराए जाने की सूचना है।
दूसरी ओर सिद्धपीठ हनुमानगढ़ी सिंहद्वार के चर्चित नागा हरि दास का भी निधन हो गया। तबीयत खराब होने पर समुचित देखभाल व इलाज के लिए अपने पारिवारिक सम्बन्धी के पास टांडा गए थे। बताया जा रहा कोरोना पॉजिटिव आए बाबा का निधन ऑक्सीजन की कमी के कारण हुआ है। सूचना पर उनका पार्थिव हनुमानगढ़ी सिंहद्वार लाया गया।हनुमानगढ़ी में शोक की लहर है।

इसे भी पढ़े  मलेरिया लाल रक्त कोशिकाओं का संक्रमण : डाॅ. अभय त्रिपाठी

भाईपुर प्रधान प्रत्याशी सुधा सिंह की मौत

– रौनाही थाना क्षेत्र के ग्राम इब्राहिमपुर कंदई (भाईपुर) में इस बार चुनाव लड़ चुकी प्रधान पद प्रत्याशी सुधा सिंह की भी तबीयत खराब होने से मौत हो गई। सुधा सिंह रिटायर्ड शिक्षक सुरेंद्र सिंह की बहू थीं। इस बार सुधा सिंह पत्नी जितेंद्र सिंह उर्फ बंधू प्रधानी का चुनाव लड़ी थीं।सुधा सिंह की शुक्रवार को तबियत खराब हुई। परिजनों का आरोप है कि खून की कमी और ऑक्सीजन के अभाव में जिला अस्पताल में ठीक से इलाज नही हो पाया। शनिवार को इलाज के दौरान करीब 38 वर्षीय सुधा सिंह की मौत हो गई। प्रधानपद की प्रबल दावेदार सुधा सिंह की मौत से क्षेत्र में शोक की लहर है।

शाम को थी पुत्र की बारात सुबह पिता ने तोड़ा दम

-बड़ागांव बाजार निवासी शिव शंकर प्रियदर्शी उर्फ निक्के 55 वर्षीय के बेटे निखिल कुमार कि आज शाम बरात जानी थी कि अचानक सुबह 7:00 बजे हार्ट अटैक के चलते उनकी मौत हो गई। निक्के की मौत होते ही घर मोहल्ले सहित गांव में कोहराम मच गया। ज्ञातव्य हो कि शिव शंकर की तबीयत रात से ही कुछ खराब थी सीने में दर्द होने के बाद दो बार पलटी हुई थी लेकिन उसके पश्चात भी एकदम ठीक हो गए। सुबह उठकर बेटे निखिल कुमार की बारात की तैयारी में जुट गए की अचानक फिर से सीने में दर्द होता देख घरवाले उनके इलाज के लिए लेकर रुदौली की ओर भागे कि रास्ते में ही उन्होंने दम तोड़ दिया। निक्के की मौत के बाद बेटे निखिल कुमार ने पिता शिव शंकर की लाश का अंतिम संस्कार दोपहर में किया फिर शादी को प्रतीकात्मक बनाते हुए कुछ सीमित लोगों को बीवी की विदाई कराने का निश्चय किया और ससुराल की ओर निकल लिए।

Advertisements

Comments are closed.