The news is by your side.

भाकपा ही गरीबों, वंचितों व शोषितों की असली हितैषी : सूर्यकांत पांडेय

-पूंजीवाद के खिलाफ कम्युनिस्ट ही लड़ते आए हैं, चुनाव में यही मुद्दा

अयोध्या। भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी ही गरीबों की लडाई लड़ रही है। लोकसभा चुनाव भी गरीबों के मुद्दे पर लड़ा जा रहा है। रोजगार, शिक्षा, स्वास्थ्य गरीबों की मुख्य व आवश्यक आवश्यकता है। भाकपा यदि सत्ता में आएगी तो उक्त सभी जरूरी आवश्यकताएं मुफ्त कर दी जाएंगी।

Advertisements

उक्त बातें शुक्रवार को प्रेस कांफ्रेन्स में भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी के सदस्य सूर्यकांत पांडेय ने कहीं। पांडेय ने कहा कि भारत मे तमाम पार्टियां गरीबों के मुद्दों को लेकर आती हैं। कुछ जातियों की बात करती हैं। जबकि भाकपा सिर्फ दो वर्गों को ही बांटती है। एक पूंजीवाद और दूसरा गरीब यानी सर्वहारा। कहा कि सर्वहारा गरीब होता है। जिसका सम्पूर्ण उत्थान और विकास की लड़ाई कम्युनिस्ट पार्टी ही लड़ती है

। इसके विपरीत दूसरे दल सिर्फ ऐलान ही करते हैं। लोकसभा चुनाव भी भाकपा इसी मुद्दे पर लड़ रही है। फैज़ाबाद संसदीय क्षेत्र की लड़ाई पूंजीवाद के विरोध में है। जब स्वास्थ्य, शिक्षा, आवास, रोजगार सभी को उपलब्ध रहेगा तब ही संघर्ष रुकेगा। साम्यवादी स्थिति आने पर कहीं कोई संघर्ष ही नही बचेगा।

ऐसी व्यवस्था के लिए ही कम्युनिस्ट पार्टी ने पूर्व डीआईजी अरविंद सेन को प्रत्याशी बनाकर फैज़ाबाद संसदीय क्षेत्र से चुनाव लड़ा रही है। प्रेसकांफ्रेन्स में कामरेड अधिवक्ता कप्तान सिंह, का. विष्णु श्रीवास्तव, विकास सोनकर, अंकित पांडेय आदि मौजूद रहे।

 

Advertisements
इसे भी पढ़े  विद्युत करंट की चपेट में आकर युवक की मौत

Comments are closed.