अयोध्या की प्रसिद्ध चौदह कोसी परिक्रमा में उमड़ा जनसमुद्र

सिन्धी महिलाओं ने परिक्रमार्थियों पर की पुष्प वर्षा

अयोध्या। धर्म नगरी अयोध्या के राष्ट्रीयकृत चौदह कोसी परिक्रमा में भोर से ही जन समुद्र उमड़ा। नयाघाट, यमथरा घाट, गुप्तार घाट सहित पावन सरयू के जल में श्रद्धालुओं ने स्नान कर परिक्रमा पथ को नमन कर परिक्रमा शुरू की। लगभग 17 लाख श्रद्धालुओं ने अयोध्या नगर की परिक्रमा कर पुण्य का लाभ अर्जित किया। धर्म नगरी अयोध्या की हनुमानगढ़ी सहित तमाम मन्दिरों में भी दिनभर पूजन अर्चन का सिलसिला चलता रहा। अक्षय नवमी को प्रातः लगभग 6.52 बजे संत महंतो ने परिक्रमा पथ का नमन कर परम्परागत ढंग से चौदह कोसी परिक्रमा का श्रीगणेश किया। इस मौके पर जिलाधिकारी सहित तमाम उच्चाधिकारी भी उपस्थित रहे।
चप्पे-चप्पे पर सुरक्षा व्यवस्था के लिए बड़ी संख्या में पुलिसबल, पीएसी व अर्ध सैनिक बलों की जहां तैनाती रही वहीं खुफिया पुलिस भी किसी अप्रिय घटना को न होने देने के लिए निगाहबानी करती रही। परिक्रमा के दौरान सहादतगंज हनुमानगढ़ी पर भण्डारा का आयोजन किया गया था परन्तु पुलिस बल ने रस्सा लगाकर प्रसाद ग्रहण करने आने वाले श्रद्धालुओं के मार्ग को अवरूद्ध कर दिया। इस बात को लेकर हनुमानगढ़ी के पुजारी व साधु नाराज हो गये और उन्होंने प्रसाद के रूप में बनी सामाग्रियों को परिक्रमा पथ पर फेंककर विरोध प्रदर्शन करना शुरू किया। हनुमानगढ़ी के पुजारियों के विरोधी तेवर को देखकर प्रशासन के हाथ पांव फूल गये आनन-फानन में जिलाधिकारी डॉ. अनिल कुमार, कार्यवाहक वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक ग्रामीण संजय कुमार, तथा तमाम आलाधिकारी मौके पर पहुंच गये और विरोध कर रहे हनुमानगढ़ी के पुजारियों को समझाबुझाकर शांत कराया। विरोध प्रदर्शन के कारण काफी समय तक परिक्रमा बाधित रही।
रामनगर परिक्रमा मार्ग पर सिंधु महिला परिवार की अध्यक्ष मुस्कान सावलानी की अगुवाई में परिक्रमा के श्रद्धालुओं का पुष्प वर्षा कर सिंधी समाज की महिलाओं ने स्वागत किया महिला परिवार की प्रवक्ता चेतना वासवानी ने बताया कि प्रत्येक वर्ष की तरह इस वर्ष भी श्रद्धालुओं पर पुष्प वर्षा की गई इस मौके पर सीमा रामानी, एकता जीवानी, सरिता देवी, पूनम आडवाणी, ज्योति जीवानी, बबीता चावला, उमा बत्रा, संगीता बरयानी, पूजा माखेजा, आरती मंध्यान, मीना देवी, नीलम बत्रा, वर्षा संगतानी, आरती माखेजा, नैना खटवानी, कोमल आहूजा, पायल मंध्यान, सुमित्रा देवी, नीलम, बबीता माखेजा, जमुना माखेजा, भारती खत्री आदि ने पुष्प वर्षा की
कुव्यवस्था का आलम यह रहा कि जर्जर परिक्रमा पथ के गड्ढ़ो तक का कायाकल्प प्रशासनिक अमले ने नहीं किया था बजड़ियां परिक्रमा पथ पर उंखड़कर फैली हुई थी नंगे पैर परिक्रमा करने वाले तमाम श्रद्धालुओं के पाव लहू लुहान हो गये जिसको लेकर लोगों में आक्रोश देखा गया। इस मुद्दे को लेकर सपा के पूर्व राज्यमंत्री तेजनारायण पाण्डेय ने विरोध दर्ज कराते हुए कहा कि परिक्रमा के नाम पर भाजपा सरकार ने करोडो खर्च कर डाला परन्तु जर्जर मार्ग पर बालू तक डलवाने की जहमत नहीं की जिससे श्रद्धालुओं को परिक्रमा करने में भीषण कठिनाई उठानी पड़ी।

इसे भी पढ़े  होटल के कमरे को बना रखा था जुआ खाना, 11 गिरफ्तार

परिक्रमा मार्ग को दुरुस्त करने के बजाय की गयी लापरवाही, पूर्व मंत्री पवन पाण्डेय ने भाजपा सरकार पर लगाया आरोप

पूर्व मंत्री तेज नारायण पाण्डेय पवन ने प्रदेश सरकार पर अयोध्या में होने वाली चौदह कोसी परिक्रमा में लापरवाही बरतने का आरोप लगाया है आज पार्टी कार्यालय लोहिया भवन गुलाबबाड़ी पर पत्रकारों से बातचीत करते हुए श्री पांडेय ने कहा कि 14 कोसी परिक्रमा करने को लाखों की संख्या में श्रद्धालु इस भाव के साथ अयोध्या पहुंचे हैं कि राम के नाम पर बनी यह सरकार इस बार श्रद्धालुओं को कोई परेशानी नहीं होने देगी लेकिन ऐसा हो न सका। श्री पांडेय ने बताया 14 व पंचकोसी परिक्रमा मार्ग को दुरुस्त करने के बजाय लापरवाही की गई जिसके फलस्वरूप 14 कोसी परिक्रमा मार्ग पर तमाम अव्यवस्थाओं के चलते श्रद्धालुओं को खासी दिक्कतों का सामना करना पड़ा। जगह-जगह टूटी सड़कें बड़ी तादाद में पड़े पत्थरों के चलते श्रद्धालु ना सिर्फ घायल हुए बल्कि आस्था की राह में भी तमाम रोड़े डाले गए। श्री पांडेय ने कहा पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव की सरकार में 14 कोसी एवं पंचकोसी परिक्रमा मार्ग हरा भरा व छायादार बनाने तथा स्वच्छ एवं सुंदर बनाने का कार्य किया गया था लेकिन भाजपा की सरकार में इन मार्गों पर परिक्रमा करने वाले श्रद्धालु पथरीले रास्तों से परिक्रमा करने को मजबूर हुए। उन्होंने कहा कि भगवान राम के नाम पर सरकार बनाने वालों को भगवान के भक्तों का जरा भी ख्याल नहीं रहा, इसके चलते श्रद्धालुओं को तमाम दुश्वारियों का सामना करना पड़ा। पार्टी प्रवक्ता चौधरी बलराम यादव ने बताया की पूर्व मंत्री तेज नारायण पांडेय ने 14 कोसी परिक्रमा शुरू होने से पहले ही परिक्रमा मार्ग का निरीक्षण कर प्रशासन को आगाह किया था कि श्रद्धालुओं को इस बार अव्यवस्थाओं के चलते परेशानियों का सामना करना पड़ेगा, बावजूद इसके प्रशासन ने उनकी बातों को नजरअंदाज कर मनमानी करते हुए परिक्रमा में आए श्रद्धालुओं को तमाम परेशानियां उठाने पर मजबूर किया।

परिक्रमा मार्ग की बदहाली पर नाराज हुए सांसद व महापौर, सांसद ने शासन स्तर पर की वार्ता

 चौदह कोसी परिक्रमा की तैयारियों में प्रशासनिक स्तर पर हुई कमियों को लेकर सांसद लल्लू सिंह ने शासन स्तर पर वार्ता की। महापौर ऋषिकेश उपाध्याय ने इसको लेकर नाराजगी जताई है और मुख्यमंत्री को मामले की जानकारी देने की बात कही है। शुक्रवार को सांसद लल्लू सिंह, महापौर ऋषिकेश उपाध्याय, महानगर अध्यक्ष कमलेश श्रीवास्तव, प्रदेश कार्यसमिति सदस्य इ0 रणवीर सिंह ने चौदह कोसी परिक्रमा मार्ग में भ्रमण किया तथा श्रद्धालुओं से हालचाल लिया।
चौदह कोसी परिक्रमा मार्ग में भीखापुर में दवा कैम्प का सांसद लल्लू सिंह ने उद्घाटन किया। सहादतगंज में प्रसाद का वितरण में शामिल हुए। महापौर ऋषिकेश उपाध्याय अयोध्या लक्ष्मण घाट पर भण्डारे व जलपान कैम्प का उद्घाटन किया। इस दौरान विशाल मिश्रा, आलोक मिश्रा, परमानंद, कर्मवीर सिंह, विद्याकांत द्विवेदी मौजूद रहे। महानगर अध्यक्ष कमलेश श्रीवास्तव ने नाका पर भण्डारे का उद्घाटन किया। प्रदेश कार्यसमिति सदस्य इ0 रणवीर सिंह सहादतगंज में आयोजित भण्डारे में सम्मलित हुए और प्रसाद का वितरण किया। इस दौरान दिवाकर सिंह, रोहित पाण्डेय, राजेश सिंह मौजूद रहे।

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More