in ,

 सोलहवें अयोध्या फिल्म फेस्टिवल का आगाज

– आईटीआई सभागार में हुआ कार्यक्रम का आयोजन,  विमोचित हुआ फेस्टिवल बुक

अयोध्या्। शहीदों और क्रांतिकारियों की याद में 16वें अयोध्या फिल्म फेस्टिवल का शुभारंभ गुरुवार को धूमधाम से किया गया। राजकीय औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान, अयोध्या में दो दिनों तक चलने वाले फिल्म् फेस्टिवल के पहले दिन ‘आजादी के नायक’ विषय पर पेंटिग तो वहीं ‘अवाम का सिनेमा’ थीम पर रंगोली प्रतियोगिता में विद्यार्थियों ने हिस्सा लिया।

अशफाक- बिस्मिल सभागार में कार्यक्रम की शुरूआत दीप प्रज्वलन के साथ की गई। इस दौरान शहीद अशफाक उल्ला खां के प्रौत्र शदाब उल्ला खान ने मुख्य वक्तय के तौर पर कहा कि अयोध्या फिल्म फेस्टिवल साल दर साल अपनी भव्यता के साथ होता जा रहा है। उन्होंंने कहा कि शहीद अशफाक उल्ला खां व अन्य शहीदों की याद में हो रहा यह कार्यक्रम समाज को नई दिशा देने का काम कर रहा है। क्रांतिकारियों की शहादत से जुड़ी बातों को सिनेमा के माध्यम से सशक्त् ढंग से समाज तक पहुंचाया जा सकता है। उन्होंने कहा कि शहीद अशफाक उल्ला खां की बातों पर यदि ठीक ढंग से अमल किया जाए, तो समाजिक बंटवारे को खत्म किया जा सकता है।

फिल्म प्रोडयूसर राजेश कुमार जायसवाल ने बच्चों में फिल्म् मेकिंग और एक्टिंग की रुचि जगाने की बात कही। अंतरराष्ट्रीय निशानेबाज राहुल तोमर ने अयोध्या फिल्म फेस्टिवल के प्रयासों की सराहना करते हुए युवाओं और बच्चों को देश निर्माण से जुड़े कार्यों को करने की अपील की।

अशफाक उल्ला खां शोध संस्थान के निदेशक सूर्यकांत पांडेय ने कहा कि यह फिल्म फेस्टिवल सिनेमा के जरिए इतिहास को जिंदा रखने का काम कर रहा है। आने वाली पीढि़यों को इस तरह के कार्यक्रमों से देश के इतिहास को जानने और समझने का मौका मिलेगा। अध्यक्षता कर रहे आईटीआई के प्रिसंपल वी.के. बाजपेयी ने कार्यक्रम में आए हुए अतिथियों को धन्यवाद ज्ञापित करते हुए कहा कि अयोध्या फिल्म फेस्टिवल के 16 सालों का सफर शानदार रहा है। आगे भी इस आयोजन को सफल बनाने के लिए सहयोग किया जाएगा। फिल्म निमात्री साधना मादावत जैन ने भी संबोधित किया। उद्घाटन समारोह का संचालन फिल्म निर्देशक मुकेश वर्मा ने किया।

इससे पहले पेंटिंग और रंगोली प्रतियोगिता में स्वदेश संस्थान सागर कला भवन, द कैंब्रियन स्कूल, सेंट मेरिज हायर सेकंडरी स्कूल, अयोध्या एकेडमी, के टी पब्लिक स्कूल, ज़िंगल बेल एकेडमी, राम मनोहर लोहिया अवध विश्व विद्यालय, आदि संस्थाओं के छात्र छात्राओं प्रतिभाग किया। अवधी लोक समूह की अद्भुत नृत्य प्रस्तुति ने सभागार में उपस्थित लोगों का मन मोह लिया। रंगोली और पेंटिंग प्रतियोगिता के संयोजक एस बी सागर प्रजापति और सांस्कृतिक कार्यक्रमों में प्रभारी के रूप में आशीष अग्रवाल ने जिम्मेदारी निभाई।

पहले दिन इन फिल्मोंग का हुआ प्रदर्शन

अयोध्या फिल्म फेस्टिवल के संस्थापक डॉ. शाह आलम राना ने बताया कि पहले दिन निर्णय, शिवोहम, बगुलबुआ, ज़ेलम, चिक्याची शाला आदि फिल्मों का प्रदर्शन किया गया। इस कार्यक्रम के लिए भारत, संयुक्त राज्य अमेरिका, यूनाइटेड किंगडम, मैसेडोनिया, युगोस्लाविया, जापान, कनाडा, चीन, ताइवान, डेनमार्क, रसियन फेडरेशन, जर्मनी सहित 23 देशों से कुल फिल्में 267 प्राप्त हुई हैं, जिनमें से चयनित फिल्मों का प्रदर्शन किया जा रहा है।

आज इन कलाकारों और फिल्मा निर्माताओं का होगा जमावड़ा

फिल्मर फेस्टिवल के दूसरे दिन शुक्रवार को कलाकारों और फिल्म़ निर्माताओं का जमावड़ा होगा फिल्म एक्टर आरके सुरेश (चेन्नई) जयश्री रचकोंडा (हैदराबाद) गीता सरोहा (मुंबई) शक्ति मिश्रा (लखनऊ) जितेंद्र बर्दे (पुणे) रिविक (कोलकाता) के साथ फिल्म निर्माता-निर्देशक लक्ष्मी आर अय्यर (मुंबई) डॉ. रमादेवी शेखर (चेन्नई) दीपक सत्य प्रकाश गर्ग (मुंबई) नसीम अहमद खान (पटना) राजवीर अरबल्ली (मुंबई) तिरूपति बर्दे (पुणे) गौतम रचिराजू (हैदराबाद) एसपीपी भास्करन (चेन्नई) आशीष नेहरा (हरियाणा) कौतुक सक्सेना (दिल्ली) अमित राय (दिल्ली) के अलावा अंटार्कटिका फेम साइंटिस्ट प्रोफेसर जसवंत सिंह, आईसीएन ग्रुप प्रधान संपादक प्रोफेसर (डॉ.) शाह अयाज सिद्दीकी, फेस्टिवल ज्यूरी चेयरमैन और फिल्म निर्देशक प्रोफेसर मोहनदास आदि शिरकत करेंगे।

इसे भी पढ़े  गुजरात के राज्यपाल पहुंचे कृषि विश्वविद्यालय कुमारगंज

What do you think?

Written by Next Khabar Team

खून देकर बचाई गरीब दिव्यांग महिला की जान

स्कूलों में नुक्कड़ नाटक से फैलाई जागरूकता