योगा उपाधि धारकों ने अन्तर्राष्ट्रीय योग दिवस का किया बहिष्कार

    Advertisement

    फैजाबाद। जिले के योगा उपाधि धारकों ने बी.पी.एड्. संघर्ष मोर्चा के तत्वाधान में गांधी पार्क में चतुर्थ अन्तर्राष्ट्रीय योग दिवस का बहिष्कार कर विरोध प्रदर्शन किया और दो सूत्रीय मांग-पत्र मुख्यमंत्री को प्रेषित किया जिसमें 32022 शारीरिक शिक्षकों की चयन प्रक्रिया अतिशीघ्र शुरू करने व पूर्ववर्ती सरकारों मंे बी.पी.एड्. उपाधि धारकों पर दर्ज फर्जी मुकदमा वापसी मांग की गयी। विरोध को सम्बोधित करते हुए संगठन के प्रदेश महासचिव आकाश गुप्ता ने कहा कि योग शारीरिक शिक्षा का एक अंग है और बेसिक शिक्षा विभाग द्वारा जारी शासनादेश व समय सारिणी के अनुसार प्रत्येक प्राथमिक व उच्च प्राथमिक स्कूलों में शिक्षण कार्य से पूर्व प्रतिदिन छात्रों को योग कराना अनिवार्य है और पूर्व सरकार ने योग शिक्षा के महत्व को देखते हुए उच्च प्राथमिक विद्यालयों में संविदा के तहत शारीरिक शिक्षा व खेलकूद अनुदेशक भर्ती प्रक्रिया शुरू किया था जिसे योगी सरकार ने समीक्षा के नाम पर रोक दिया। जिसके चलते हम योग उपाधि धारक योग दिवस का विरोध करने के लिए बाध्य हैं।
    जिलाध्यक्ष हौसिला प्रसाद यादव ने कहा कि योग भारतीय संस्कृति का एक प्रतिरूप है। हम सब योगा के नही बल्कि योग दिवस का विरोध कर रहे हैं। सरकार की गलत नीतियों के चलते प्रदेश के एक लाख योग प्रशिक्षक (बी.पी.एड्. डिग्रीधारी) सड़कों पर हैं, जिन्होंने लाखों रूपया खर्च करके शारीरिक शिक्षा एवं योग का प्रशिक्षण प्राप्त किया है। अफसोस आज हम योग प्रशिक्षक की अर्हता रखते हुए बेरोजगार हैं व दिन प्रतिदिन ओवरऐज होते जा रहे हैं। योग प्रशिक्षक शंशाक पाण्डेय ने कहा कि बीजेपी के घोषणा पत्र में था कि परिषदीय विद्यालयों में योग प्रशिक्षकों की नियुक्ति की जायेगाी लेकिन नई भर्ती शुरू करने के बजाय 32022 शारीरिक शिक्षकांे की गतिमान भर्ती प्रक्रिया को प्रदेश सरकार द्वारा रोक दिया गया जो सरकार की योग व योग विरोधी मानसिकता को दर्शाता है।
    आकाश सिंह ने कहा कि उच्च न्यायालय की डबल बेंच ने बीते 12 अप्रैल को राज्य सरकार को फटकार लगाते हुए दो माह के भर्ती प्रक्रिया शुरू करन का स्पष्ट आदेश भी दे चुकी है लेकिन अभी तक भर्ती प्रक्रिया नहीं शुरू की गयी और हम सबको अपना भविष्य अधंकार मय प्रतीत हो रहा है जिसके चलते हम सब अवसाद ग्र्रस्त हैं। अध्यक्षता राष्ट्रीय खिलाड़ी अर्पण पाण्डेय व संचालन बैडमिंटन प्रशिक्षक रमेश यादव ने किया। महिला इकाई की जिलाध्यक्ष कविता मौर्या, जिला महासचिव विजय वर्मा, सुमन सिंह, शिवम् तिवारी, दयाराम, रामलाल यादव, रेवतीराम, संदीप तिवारी, अम्बिका गुप्ता, रवि कुमार, दुर्गेश मिश्रा, राहुल सिंह, सोनू, कवीन्द्र तिवारी, उमेश सिंह, अम्बुज कुमार, जितेन्द्र मिश्रा आदि मौजूद रहे।