कृषि विवि प्रक्षेत्रों पर हैपी सीडर से कराई जायेगी गेहूं की बुआई

7-8 दिसम्बर को लगने वाले किसान मेले में तकनीकी यंत्र होंगे आकर्षण का केन्द्र

कुमारगंज । नरेंद्र देव कृषि एवं प्रौद्योगिक विश्वविद्यालय कुमारगंज के प्रक्षेत्रों पर इस वर्ष गेहूं की बुआई हैपी सीडर से कराई जाएगी। आगामी 7-8 दिसम्बर को लगने वाले राज्यस्तरीय किसान मेला एवम कृषि उद्योग प्रदर्शनी में भाग लेने वाले किसानों के लिए यह तकनीकी आकर्षण का केंद्र होगी। हैपी सीडर का उपयोग विश्वविद्यालय में पहलीबार होने जा रहा है। कुलपति प्रो जे एस संधू ने गेहूं की फसल में लागत कम करने वाले इस बुवाई के यंत्र को पूर्वांचल के किसानों के बीच लोकप्रिय करने के उद्देश्य से विश्वविद्यालय प्रक्षेत्रों पर इसके उपयोग को प्रारम्भ किये जाने के निर्देश दिए थे। इस क्रम में निदेशक प्रसार डॉ ए पी राव ने हैपी सीडर का क्रय करवाया है। कृषि विज्ञान केंद्र हैदरगढ़ में पहुंचे पहले हैपी सीडर से गेहूं की बुवाई शुरू होने पर स्वयं कुलपति प्रो जे एस संधू ने केंद्र पर पहुंच कर बुवाई का अवलोकन किया। हैपी सीडर का उपयोग प्रसार निदेशालय के मुख्य परिसर स्थित फार्म तथा मुख्य शैक्षिक प्रक्षेत्र पर भी गेहूं बुवाई में किया जाएगा। इन फार्मों का भ्रमण व अवलोकन किसान मेले में आने वाले किसानों को कराया जाएगा। निदेशक प्रसार डॉ ए पी राव ने बताया कि इस यंत्र के उपयोग से गेहूं की खेती की लागत में न्यूनतम 5 हजार रुपये प्रति एकड़ की बचत होगी साथ ही समय की बचत होगी। कृषि विज्ञान केंद्र हैदरगढ़ बाराबंकी में हैपी सीडर के पहली बार प्रदर्शन के अवसर पर कुलपति प्रो संधू के साथ निदेशक प्रसार डॉ. ए.पी. राव, कार्यक्रम समन्वयक डॉ. एस.पी. सिंह, कुलपति के सचिव डॉ. नीरज कुमार समेत कृषि विज्ञान केंद्र के वैज्ञानिक व कर्मचारी उपस्थित रहे।

इसे भी पढ़े  सरदार पटेल का अपमान नहीं होगा बर्दाश्त : जयकरन वर्मा

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More