in

जल निगम कर्मचारियों का धरना तीसरे दिन भी रहा जारी

तीन सूत्रीय मांगो को लेकर कर रहे धरना प्रदर्शन

अयोध्या। उत्तर प्रदेश जल निगम संयुक्त समिति जनपद इकाई ने तीन सूत्रीय मांगों को लेकर तीसरे दिन भी धरना जारी रखा। सरकार की नीतियों से नाराज होकर जल निगम कार्यालय सिविल लाइन में धरने पर बैठे कर्मचारियों की तीन मांगे हैं जिसको लेकर जल निगम कर्मी धरने पर बैठे हुए हैं। प्रथम मांग जल निगम में सप्तम वेतन मान लागू किए जाने हेतु शासकीय विभागों में लागू सप्तम वेतनमान संबंधी शासनादेश 20, 22 एवं 23 दिसंबर 2016 को जल निगम पर यथावत लागू किया जाए।दूसरी मांग जल निगम को पूर्ववत शासकीय विभाग में परिवर्तन किया जाए । शासकीय विभाग बनाए जाने की प्रक्रिया में जब तक समय लगता है तब तक पेंशन एवं वेतन कोषागार (ट्रेजरी )से संबद्ध किया जाए। तीसरी मांग दिनांक 1 जनवरी 2006 से 11 मार्च 2010 तक का छठा वेतनमान का बकाया एरियर भुगतान किया जाए ।उक्त समस्याओं को लेकर जल निगम परिवार दिसंबर 2018 से आंदोलित है और वह शांतिपूर्ण ढंग से सरकार एवं जल निगम प्रशासन का ध्यान आकर्षण करता रहा है। इसी क्रम में उत्तर प्रदेश जल निगम संयुक्त समिति लखनऊ के पत्र संख्या 51/स.स./ प्रशासन 19 फरवरी 2019 द्वारा निर्धारित कार्यक्रम अनुसार 25 फरवरी को जल निगम कर्मी ध्यान आकृष्ट करने हेतु धरना प्रदर्शन कर अपनी पीड़ा व्यक्त की ।इस धरने में मुख्यता पंकज श्रीवास्तव कर्मचारी महासंघ, मनोज श्रीवास्तव, गोपाल नारायण तिवारी वाहन चालक संघ, डीके कनौजिया अनुसूचित जाति जनजाति परिषद, संजीव कुमार लेखाकार संघ ,रामजी मिश्रा पेंशनर एसोसिएशन ,राघव राम चतुर श्रेणी संघ, रवि यादव पुष्पित जगदीश प्रसाद परदेसी राम रेखा तिवारी शालिनी सिंह संजीव कुमार मोहम्मद साबिर वीरेंद्र पुष्पित राघवेंद्र प्रेम पांडे मुन्नीलाल आशीष पांडे शिव शंकर तिवारी रंगनाथ पांडे राधेश्याम मौर्य वंश बहादुर सच्चिदानंद शर्मा आरके सिंह आदि सैकड़ों लोग शामिल थे।

What do you think?

Written by Next Khabar Team

सद्भाव व भाईचारे को बनाये रखना गंभीर चुनौती : डॉ. अनूप श्रमिक

सरकारी योजनाओं को लेकर जनता में उत्साह का माहौल : सतीश महाना