The news is by your side.

पीठासीन व मतदान अधिकारी प्रथम के प्रशिक्षण का लिया जायजा

मतदान अधिकारियों के लिए कैशलेस चिकित्सा की रहेगी व्यवस्था

अयोध्या। कामता प्रसाद सुन्दर लाल स्नातकोत्तर महाविद्यालय में पीठासीन एवं मतदान अधिकारी प्रथम के चल रहे प्रशिक्षण कार्यक्रम में मण्डलायुक्त मनोज मिश्र व जिलाधिकारी अनुज कुमार झा ने पहुॅचकर चल रहे प्रशिक्षण का जायजा लिया। सामूहिक प्रशिक्षण शिविर में प्रतिभाग कर रहे पीठासीन एवं मतदान अधिकारियों को सम्बोधित करते हुए मण्डलायुक्त मनोज कुमार मिश्र ने कहा कि आप सभी ने पिछले कई चुनावों में कार्य किया है आपको पूरा अनुभव है फिर भी प्रशिक्षण का आयोजन किसी कार्य को कुशलता पूर्वक सम्पन्न कराने के लिए आवश्यक होता है। आप सभी पूरे कर्तव्यनिष्ठा, लगनशीलता एवं परिश्रम के साथ निष्पक्ष, पारदर्शी एवं सुरक्षित मतदान का उत्तरदायित्व पूरा करना है। यदि आपकी उदासीनता के चलते कोई बिचलन होता है तो उसे भारत निर्वाचन आयोग व माननीय न्यायालय बड़ी गम्भीरता से लेता है। आयुक्त ने बताया कि भारत निर्वाचन आयोग चुनाव से जुड़े अधिकारियों एवं कर्मचारियों तथा फोर्स के जवानो का पूरा ख्याल रखती है, बूथ पर पहुॅचने से लेकर रात्रि रूकने के दौरान आपके मूलभूत सुविधाओं की तैयारी जिला प्रशासन द्वारा कराई जा रही है आप सभी के लिए कैशलेस चिकित्सा की व्यवस्था है यहाॅ तक कि एयर एम्बुलेंस की भी व्यवस्था है आप सभी से पुनः कहना चाहूॅगा कि मतदान के दौरान ऐसा कार्य व्यवहार एवं आचरण कदापि न करंे जो आप पर प्रश्न चिन्ह लगाये। बूथ पर मतदाताओं के लिए छांव, पानी व अन्य बुनियादी सुविधाएं रहेगी, द्विव्यांग मतदाताआंे के लिए बूथ पर ट्राई साइकिल भी उपलब्ध रहेगी।
प्रशिक्षण प्राप्त कर रहे पीठासीन एवं मतदान अधिकारी प्रथम को जिलाधिकारी/जिला निर्वाचन अधिकारी अनुज कुमार झा ने सम्बोधित करते हुए कहा कि 6 मई को मतदान प्रातः 7 बजे से सांय 6 बजे तक चलेगा। मतदान केन्द्र पर आप लोग आयोग द्वारा की गई वाहन व्यवस्था से 5 मई को भेजा जायेगा जहाॅ पहुॅचकर थोड़े आराम करने के पश्चात 6 मई को मतदान प्रक्रिया को सम्पन्न कराने हेतु की गई व्यवस्था को भलीभाॅति देख लेंगे तथा अन्य तैयारिया लिफाफा आदि तैयार कर लेंगे।
जिलाधिकारी/जिला निर्वाचन अधिकारी ने आगे कहा कि ईवीएम मशीन को हैक नही किया जा सकता है। किसी यंत्र को तब तक हैक नही किया जा सकता जब तक उस यंत्र को किसी से कनेक्ट न किया गया हो। ईवीएम मशीन लेते समय आप द्वारा चेक किया जाता है, मतदान के दिन सभी दलो के एजेन्टो के सामने माॅकपोल भी कराया जाता है। ईवीएम मशीन पूर्ण रूप से पारदर्शी एवं सुरक्षित है। उन्होंने कहा कि इस बार सभी बूथो पर वीवी पैट का प्रयोग किया जा रहा है जिससे मतदाता यह देख सके कि उन्होंने जिस प्रत्याशी को वोट दिया है उसी के पक्ष में पड़ा है। उन्होंने कहा कि वीवी पैट अत्यन्त संवेदनशील उपकरण है इसे सावधानी पूर्वक लेकर जाना होगा और मतदान सम्पन्न कराने तक व उसके बाद भी सुरक्षित लाना होगा। यही पूरे प्रशिक्षण का महत्वपूर्ण विन्दु है। यदि किसी बूथ पर कोई मशीन खराब होती है तो जोनल एवं सेक्टर मजिस्ट्रेट आधे घण्टे में ही बदल देंगे। उन्होंने कहा कि आप सभी का दायित्व है कि यदि आप को ईवीएम या वीवी पैट में कोई दिक्कत लग रही है तो सर्वप्रथम अपने स्टेटिक व सेक्टर मजिस्ट्रेट का सूचित करेंगे। उन्होंने बताया कि केवल वीवी पैट की बैट्री बदली जा सकती है। उन्होंने कहा कि मतदान के लिए जाते समय आप का पूरा ध्यान इस बात पर होना चाहिए कि एक सैनिक की भाॅति सम्पूर्ण मतदान प्रक्रिया को सकुशल, निष्पक्ष, पारदर्शी ढंग से सम्पन्न कराकर वापस आऊॅगा। उन्होंने कहा कि प्रशिक्षण के दौरान एक्सपर्ट द्वारा बताये हर बिन्दु आपके दिलो दिमाग में फीड होना चाहिए तभी आप कुशलता से मतदान प्रक्रिया को सुरक्षित रूप से सम्पन्न करा पायेंगे। पूरे प्रशिक्षण सत्र के दौरान उपस्थित सीडीओ/प्रभारी अधिकारी कार्मिक अभिषेक आनन्द, जिला विकास अधिकारी हवलदार सिंह, रेजीडेण्ट मजिस्ट्रेट अयोध्या जेपी सिंह, डीडीसी तरूण कुमार मिश्रा, परियोजना निदेशक कमलेश कुमार सोनी ने भी बिन्दुवार प्रशिक्षण दिया।

Advertisements

प्रशिक्षण के दूसरे दिन 18 पीठासीन व 13 मतदान अधिकारी मिले अनुपस्थित

अयोध्या। जिलाधिकारी अनुज कुमार झा ने बताया आज के प्रशिक्षण में 18 पीठाासीन और 13 मतदान अधिकारी अनुपस्थित पाये गये है जिनके विरूद्ध विभागीय कार्यवाही करने हेतु उनके विभागाध्यक्ष एवं कार्याध्यक्ष को पत्र भेजने के साथ प्रथम सूचना रिपोर्ट दर्ज कराने हेतु थाने को पत्र भेज दिया गया है। उन्होंने कहा कि निर्वाचन कार्य महत्वपूर्ण होता है किसी भी प्रकार की शिथिलता व कार्य उत्तदायित्व से विमुख रहने पर भारत निर्वाचन आयोग द्वारा कड़े कदम उठाये जाते है। जिलाधिकारी ने दिनांक 15 अप्रैल व 16 अप्रैल को प्रशिक्षण से अनुपस्थित समस्त पीठासीन एवं मतदान अधिकारी प्रथम को अंतिम अवसर देते हुए 18 अप्रैल को प्रत्येक दशा में उपस्थित होकर प्रशिक्षण ग्रहण करने तथा उपस्थित की रिर्पोटिंग जिला विकास अधिकारी हवलदार सिंह को देने के निर्देश दिये हैं मुख्य विकास अधिकारीध्प्रभारी अधिकारी कार्मिक अभिषेक आनन्द ने बताया कि सहायक अध्यापक विनोद कुमार, नगेन्द्र कुमार तिवारी, कमलेश कुमार सिंह, शिवकुमार यादव, लाल जी सिंह, योगेन्द्र नाथ तिवारी, मो0 मुस्ताक हसन, मो0 कासिम, प्रधानाध्यापक अशोक कुमार, ऐहतराम हुसेन खाॅ, सुघेन्द्र सिंह, परशुराम, प्रधानाचार्य अनवर हुसैन खाॅ, अस्टिेन्ट प्रोफेसर विश्नू कुमार, राजकुमार पाठक, प्रवक्ता डा0 जयन्ती तथा कार्यालय अधाीक्षक सुनील कान्त वर्मा जिनकी डियूटी पीठासीन अधिकारी के रूप में लगी थी आज के प्रशिक्षण में अनुपस्थित पाये गये थे। उन्होंने आगे बताया कि 13 मतदान अधिकारी प्रथम अनुपस्थित थे में कनिष्ठ सहायक आत्माराम पाण्डेय, अशेक कुमार यादव, पंकज कुमार मौर्य, महेश कुमार, ज्ञानेन्द्र कुमार दूबे, पवन कुमार मिश्रा, वरिष्ठ सहायक अभिजीत सिंह, पवन कुमार दूबे, रामलखन तिवारी, कम्प्यूटर आपरेटर गिरीश चन्द्र पन्त, जिलेदार देवनरायन शर्मा, बोरिंग टेक्निशियन राजेश कुमार वर्मा, सहायक अध्यापक विष्णू प्रसाद अनुपस्थित पाये गये है।

Advertisements

Comments are closed.