The news is by your side.

शिक्षकों ने भरी हुंकार, ऑनलाइन हाजिरी से पहले ईएल व कैसलेश दे सरकार

-संयुक्त शिक्षक संघर्ष मोर्चा ने पैदल मार्च कर सौंपा ज्ञापन

 

अयोध्या। शासन द्वारा शिक्षकों की समस्याओं के मांगों का निस्तारण किए बिना डिजिटल हाजिरी लगाने के निर्णय के खिलाफ शिक्षकों ने मोर्चा खोल दिया है, संयुक्त शिक्षक संघर्ष मोर्चा के बैनर तले सैकड़ो शिक्षकों ने जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी कार्यालय पर इकट्ठा होकर शासन के निर्णय के खिलाफ नारेबाजी किया। जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी कार्यालय से पैदल मार्च करते हुए शिक्षकों ने जिला अधिकारी कार्यालय कूच किया, तिकोनिया पार्क के पास शिक्षकों ने सिटी मजिस्ट्रेट को 6 सूत्रीय ज्ञापन सौंपा।

Advertisements

सिटी मजिस्ट्रेट को सौंपे गए ज्ञापन में प्रमुख रूप से 15 हाफ डे लीव, 30 ईएल , अवकाश के दिनों में कार्य करने पर प्रतिकर अवकाश,कैसलेश इलाज,अन्य विभागों की तरह ऑनलाइन उपस्थित लेना,सरवर ठीक ना होने या आपात स्थिति की दशा में ऑनलाइन उपस्थिति का विकल्प दिए जाने से संबंधित प्रमुख मांगे शामिल रही।जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी कार्यालय पर शिक्षकों को संबोधित करते हुए संघर्ष समिति मोर्चा के संयोजक अभिनव सिंह राजपूत ने कहा कि शिक्षकों की मांगों पर निर्णय लिए बगैर डिजिटल हाजिरी लागू किए से शिक्षकों को तमाम समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है, श्री सिंह ने कहा कि शिक्षक डिजिटल हाजिरी के विरोध में नहीं है लेकिन पहले उनकी मांगों को पर जायज निर्णय लिया जाना चाहिए। महिला शिक्षक संघ की जिला अध्यक्ष मनोरमा साहू ने कहा की दूर दराज स्थित विद्यालयों में महिला शिक्षकों को पर पहुंचने में तमाम परेशानियां उठानी पड़ती हैं ऐसे में शासन का यह निर्णय अव्यावहारिक है जिसे तत्काल वापस लिया जाना चाहिए।

इसे भी पढ़े  कार्यकाल के तीन वर्ष पूर्ण होने पर जिला पंचायत अध्यक्ष ने गिनाई उपलब्धियां

जूनियर हाई स्कूल शिक्षक संघ के महामंत्री चंद्रजीत यादव ने कहा कि महानिदेशक स्कूल शिक्षा द्वारा आनलाइन उपस्थिति का आदेश जारी किया गया है पहले शिक्षकों की मूलभूत समस्याओं और डिजिटल हाजिरी से उत्पन्न होने वाली समस्याओं के संबंध में शिक्षकों से वार्ता की जानी चाहिए थी।अटेवा के जिला अध्यक्ष विजय प्रताप सिंह ने कहा सुदूर ग्रामीण इलाकों में विपरीत मौसम और विपरीत परिस्थितियों में ऑनलाइन हाजिरी देने में शिक्षकों को समस्याओं का सामना करना पड़ेगा ऐसे में शिक्षकों को तमाम समस्याओं का सामना करना पड़ेगा इसलिए शासन को इसे लागू करने पर पूर्ण विचार करना चाहिए।पीएसपीएसए के प्रदेश संयोजक पंकज यादव ने कहा कि सरकार को डिजिटल कारण हाजिरी को तत्काल वापस लिया जाना चाहिए पहले शिक्षकों की मांगों पर विचार हो। इस अवसर पर विशिष्ट बीटीसी जिला अध्यक्ष अनिल प्रजापति, दिनेश चंद तिवारी, श्याम जी वर्मा, अमित पांडे, पुनीत यादव,योगेश्वर सिंह, गोपाल कृष्ण श्रीवास्तव ,अनुज सिंह,अमरजीत वर्मा,अनिल पांडेय ,नीलम मध्यान,पवन यादव ,राम शौक राजभर शिवेंद्र सिंह दयानंद दुबे बृजेश सिंह आदि शिक्षक मौजूद रहे।

 

Advertisements

Comments are closed.