The news is by your side.

स्वामी विवेकानंद ने विश्व को पढ़ाया मानवता का पाठ : प्रो. एल.के. सिंह

-अवध विश्वविद्यालय में राष्ट्रीय युवा दिवस पर संगोष्ठी का आयोजन

अयोध्या। डॉ. राममनोहर लोहिया अवध विश्वविद्यालय के गणित एवं सांख्यिकी विभाग के एम.एससी. प्रथम एवं तृतीय सेमेस्टर के छात्र-छात्राओं एवं शोधार्थियों ने राष्ट्रीय युवा दिवस एवं स्वामी विवेकानंद के जन्म दिवस एक संगोष्ठी का आयोजन किया गया। भारत के युवाओं को स्वामी विवेकानंद द्वारा प्रदान किए गए नैतिक मूल्य विषय पर बोलते हुए मुख्य अतिथि अवध विश्वविद्यालय के पूर्व विज्ञान संकायाध्यक्ष व भौतिकी एवं इलेक्ट्रानिक्स विभागाध्यक्ष प्रो0 एल के सिंह ने स्वामी विवेकानंद जी के आदर्शों की तरफ ध्यान आकृष्ट करते हुए कहा कि मानव सेवा सबसे बड़ा धर्म है। युवाओं के लिए स्वामी ने कहा कि उठो, जागो और चलते रहो जब तक की लक्ष्य की प्राप्ति न कर सके।

Advertisements

उन्होने कहा कि हिंदुस्तान हिमालय से लेकर समुद्र तक फैला हुआ है और हिंदुस्तान ने विश्व को वसुधेव कुटुम्बकम का पाठ पढ़ाया है। इसके साथ ही विश्व को मानवता का भी पाठ पढ़ाया है। विद्यार्थियों को संबोधित करते हुये उन्होंने कहा कि सकारात्मक सोच ही मनुष्य को यशस्वी बनाती है। अंत में उन्होने युवाओं से कहा कि अपने क्षेत्र मे सक्षम एवं सामर्थ्यवान बनो।

कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए गणित एवं सांख्यिकी विभागाध्यक्ष प्रो0 एसएस मिश्र ने कहा कि स्वामी विवेकानंद इस धरातल के सबसे बुद्धिमान व्यक्ति थे। उन्होने स्वामी जी द्वारा शिक्षा एवं संस्कार को विस्तृत रूप से बताया। उनका कहना था कि हर व्यक्ति मे ब्रह्म निवास करते है अतः किसी व्यक्ति की उपेक्षा नहीं करनी चाहिए। स्वामी के सिद्धांतों की व्याख्या करते हुए प्रो. मिश्र ने कहा कि मानव सेवा, समाज का सुधार एवं मोक्ष की प्राप्ति सभी का लक्ष्य होना चाहिए। इसके साथ ही आपसी समन्वय से देश का कल्याण होगा।

इसे भी पढ़े  रामलला के दरबार में शीश नवाने पहुंची हरियाणा सरकार

कार्यक्रम में विभाग के विद्यार्थी शिवम दूबे, साक्षी वर्मा, आशुतोष मिश्रा ने भी स्वामी विवेकानंद के जीवन और दार्शनिक सिद्धांतों पर प्रकाश डाला। संगोष्ठी का शुभारंभ माँ सरस्वती की प्रतिमा पर माल्यार्पण मुख्य अतिथि प्रो0 एलके सिंह, विभागाध्यक्ष प्रो0 एसएस. मिश्र विज्ञान संकायाध्यक्ष प्रो0 सीके मिश्र, प्रो0 एसके रायजादा, डॉ0 अभिषेक सिंह, डॉ0 पी0के द्विवेदी द्वारा किया गया। अतिथियों का स्वागत पुष्पगछ व अंगवस्त्रम भेटकर किया गया। कार्यक्रम का संचालन छात्रा मनप्रीत कौर एवं कहकसा परवेज ने किया। धन्यवाद ज्ञापन गौरव यादव द्वारा किया गया। कार्यक्रम में डॉ. संदीप रावत, शालिनी मिश्र, अनामिका पाठक सहित छात्र-छात्राएं एवं शोधार्थी मौजूद रहे।

Advertisements

Comments are closed.