The news is by your side.

बीकापुर कोतवाली में एसएसपी ने सुनी फरियाद

सम्पूर्ण समाधान दिवस में आयी 23 शिकायते

बीकापुर। बीकापुर कोतवाली में जनवरी माह के तीसरे शनिवार को आयोजित संपूर्ण समाधान थाना दिवस में पहुंचे वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक जोगेंद्र कुमार सिंह, उप जिला अधिकारी विजेंद्र दिवेदी ने फरियादियों की समस्याएं सुनी और शीघ्र मौके की जांच कर निस्तारण के निर्देश दिए । वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक जोगेंद्र सिंह ने संपूर्ण समाधान थाना दिवस कार्यवाही रजिस्टर दर्ज शिकायत की बारीकी से जांच किया कई खामियां मिलने पर उसे दुरुस्त करने लंबित पड़ी शिकायतों का समाधान संबंधित विभाग तथा पुलिस के सहयोग से निपटाने का सख्त हिदायत दी। लंबित पड़ी विवेचना ओं को 10 दिन के अंदर पूरा करने का जाते-जाते निर्देश दिया जिस विवेचना अधिकारी के पास ज्यादा विवेचना लंबित पाई गई तो उसके खिलाफ कार्रवाई होना तय है। आज के संपूर्ण समाधान थाना दिवस में 23 फरियादियों ने शिकायत दर्ज कराई जिसमें मौके पर किसी का निस्तारण नहीं किया गया।
आयोजित संपूर्ण समाधान थाना दिवस में पहुंचे वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अयध्या जोगेंद्र सिंह संपूर्ण समाधान थाना दिवस रजिस्टर में लंबित पड़ी शिकायतों को देख कर हल्का दरोगा को बारी बारी से कितनी विवेचना तुम्हारे पास है कितने का निस्तारण हुआ है कम निस्तारण होने पर साफ तौर से साठ प्रतिशत विवेचना का 10 दिन के अंदर निपट जाना चाहिए। थाना दिवस रजिस्टर कई महीनों से लंबित पड़ी शिकायतों को गंभीरता से लेते हुए वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक ने 3 दिन के अंदर मौके की जांच कर समस्या का निस्तारण करने का निर्देश दिया उसके बाद कोतवाली परिसर में घूम घूम कर स्थानों का निरीक्षण किया जिसमें कंप्यूटर कक्ष व कोतवाली परिसर भवन के पीछे जाकर तमाम पड़ी वाहनों के बारे में जानकारी ली इस मौके पर पुलिस क्षेत्राधिकारी अरविंद चौरसिया कार्यवाहक प्रभारी निरीक्षक एसएसआई राजेश यादव एस आई शीतला प्रसाद यादव सुरेश कुमार गुप्ता रघुराज सिंह धीरेंद्र आजाद सहित हल्का दरोगा मौजूद रहे बीकापुर कोतवाली का निरीक्षण करने के बाद क्षेत्राधिकारी पुलिस कार्यालय भी वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक क्षेत्राधिकारी पुलिस अरविंद चौरसिया के साथ भी गये। वहीं दूसरी तरफ वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक के कड़े तेवर देख उनके जाने के बाद लंबी शिकायतों के बारे में शिकायतकर्ता के मोबाइल पर निस्तारण हुआ या नहीं जिसकी जानकारी देर शाम तक ली जा रही थी।

Advertisements
Advertisements

Comments are closed.