जिला अस्पताल की आरडीसी में कभी भी ठप्प हो सकती है पैथोलाॅजी जांच

    सीएमएस नहीं उपलब्ध करा पा रहे पैथोलाॅजी रीजेंट्स

    Advertisement

    फैजाबाद। सरकारी जिला चिकित्सालय सम्बद्ध क्षेत्रीय निदान केन्द्र (आरडीसी) में कभी भी पैथोलाॅजी जांच बंद हो सकती है क्योंकि प्रभारी पैथोलाॅजी ने सीएमएस को लिखित रूप से अवगत करा दिया है कि 6-7 दिन में उपलब्ध रीजेंट्स खत्म हो जायेगा और मरीजों की विभिन्न जांच नहीं हो पायेगी जबकि प्रमुख चिकित्सा अधीक्षक डा. अशोक कुमार राय का कहना है कि प्रदेश सरकार ने महंगे पैथोलाॅजी जांच की सुविधा चंदन डायग्नोस्टिक सेंटर द्वारा भी शुलभ करा रखा है इसलिए मरीज को किसी तरह की परेशानी नहीं होेने पायेगी।
    आरडीसी के प्रभारी संदीप सिंह का कहना है कि जिला चिकित्सालय के प्रमुख चिकित्सा अधीक्षक को 27 जून व 6 जुलाई को लिखित रूप से समस्या से अवगत कराया जा चुका है परन्तु उच्चाधिकारी द्वारा रीजेंट्स तत्काल उपलब्ध कराने में असमर्थता व्यक्त की गयी है आरडीसी में मौजूदा समय में जो रीजेंट्स उपलब्ध हैं उससे केवल 6-7 दिन ही पैथोलाॅजी जांच हो पायेगी। बताते चलें कि आरडीसी में थायराइड-4, थायराइड एसएच, बिटामिन बी-12, एचबीएस एजी, एचसीबी, यूरिन, आरएफटी, एलएफटी, लिपिड प्रोफाइल, एचबीए 1 सी, यूरिक एसिड, इलेक्ट्रोलाइट आदि की जांच की जाती है। सभी जांचो के लिए अलग-अलग केमिकल इस्तेमाल किये जाते हैं केमिकल अर्से से शासन द्वारा उपलब्ध नहीं कराया जा रहा है इसलिए जांच में अवरोध उत्पन्न होने की सम्भावना है। जिला चिकित्सालय फैजाबाद जनपद का ऐसा चिकित्सालय है जहां पड़ोसी जनपदों के भी मरीज चिकित्सा सुविधा के लिए आते हैं। पूर्ववर्ती सपा सरकार ने मरीजों की सुविधा के लिए सभी पैथोलाॅजी जांच निःशुल्क कराने की व्यवस्था दी थी यही नहीं कुछ बड़ी कम्पवनियों को अनुबंधित भी किया था जिससे महंगी जांच निःशुल्क करायी जा सके। सबसे पहले यह जिम्मेदारी एसआरएल को सौंपी गयी थी मौजूदा समय में यह कार्य चंदन डायग्नोस्टिक सेंटर के माध्यम से कराया जा रहा है। सीएमएस डा. अशोक कुमार राय का कहना है कि दोनों सेंटर के माध्यम से सभी जांचे करायी जायेंगी। मरीजों को प्राइवेट जांच नहीं कराना पड़ेगा। दोनों पैथोलाॅजी सेंटर पर सभी जांच की सुविधा निःशुल्क है।