नवरात्रि की पूर्व संध्या पर सरयू तट से निकाली गयी भव्य कलश यात्रा

कलश यात्रा का जगह-जगह पुष्पवर्षा कर किया गया स्वागत

अयोध्या। शारदीय नवरात्र की पूर्व संध्या पर मंगलवार को शक्तिवाहिनी के संयोजन में हर वर्ष की भांति इस वर्ष भी सरयू तट से वरूण आहवाहन के साथ भव्य कलश यात्रा निकाली गई। मां के जयकारों के साथ शक्ति वाहिनी प्रमुख बिन्दु सिंह की अगुवाई में निकली यात्रा सरयू तट से निकलकर नगर के प्रमुख मार्गों से होते हुए छोटी देवकाली मंदिर पहुंचकर समाप्त हुई।
केन्द्रीय दुर्गापूजा व रामलीला समन्वय समिति तथा शक्ति वाहिनी के संयुक्त तत्वाधान में मंगलवार को अपराहन 3 बजे सरयू तट स्थित संततुलसीदास घाट से गाजे-बाजे के साथ महिलाओं ने सरयू जलभरकर भव्य कलशयात्रा निकाली गई, कलश यात्रा का जगह-जगह पुष्पवर्षा कर स्वागत किया गया। कलश यात्रा नयाघाट, बाबू बाजार, श्रृंगारहाट, हनुमानगढ़ी चैराहा, हरिद्वारी बाजार होते हुए देवकाली मंदिर पहुंची। यहां कलशों को पूजन के लिए रखा गया। महंत गिरीशपति त्रिपाठी, ने माता की भव्य आरती की और यात्रा में शामिल हुये। प्रवक्ता भानुप्रतापसिंह ने बताया कि बुधवार से शारदीय नवरात्र प्रारंभ हो रहा है मंदिर में कलश स्थापना के साथ मां दुर्गा का पूजन अर्चन शुरू होगा।
कलश यात्रा प्रभारी दीपचंद्र राही ने बताया कि नवरात्र की पूर्व संध्या पर पिछले 18 वर्षों से शक्तिवाहिनी की महिलाओं द्वारा कलशयात्रा निकालने की परंपरा चली आ रही है। कलश यात्रा में केन्द्रीय दुर्गापूजा के रमापति पाण्डेय, महंत धनुषधारी शुक्ल, श्री निवास पोदार नंदकुमार मिश्र पेड़ा महाराज, पंकज सनाढय, रमेश लाना सावित्री सिंह, वंदना त्रिपाठी, दया मिश्रा, मीरा कौशल, शंकुतला जोशी, वंदना, सुमन मिश्रा,निशा पाण्डेय पंकज गुप्ता सहित सैकड़ों मातृशक्ति कलश यात्रा में शामिल रहे।

इसे भी पढ़े  छात्रा की हत्याकर शव लटकाने वाला अभियुक्त गिरफ्तार

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More