The news is by your side.

बहन भाइयों के चेहरे की मुस्कान बनकर रविवार को घर घर डाकिया बांट रहा है राखी 

राखी पाकर सब भाइयों ने किया डाकिया की सराहना

 

 

विदेशों से भी बहनों के स्पीड पोस्ट द्वारा भेजे गये राखी का किया गया वितरण

अयोध्या।  रक्षाबंधन का त्यौहार जैसे-जैसे नजदीक आ रहा था बहन भाइयों की धड़कनें तेज हो रही थी कि मेरी राखी नही पहुँची लेकिन सुख दुःख का सदा साथी डाकिया आज हजारों बहन भाइयों के चेहरे की मुस्कान बनकर रविवार को घर घर राखी बाँट रहा था , कोरोना संक्रमण के बीच इस बार की राखी भी अलग ढंग से मनाई जा रही है। बहनों ने डाकघरों से स्पीड पोस्ट द्वारा अपने भाईयों को राखी भेजी तो डाकिया ने उस राखी को अवकाश के दिन भी घर घर जाकर वितरण किया । राखी वितरण की निगरानी कर रहे फैजाबाद मण्डल के प्रवर अधीक्षक डाकघर आर एन यादव ने बताया कि बहन भाई के इस अटूट प्रेम बन्धन के त्योहार में किसी भाई की कलाई सुनी न रहे इसके लिए देश के विभिन्न जनपद, प्रदेशों के साथ साथ विदेशों से भी स्पीड पोस्ट द्वारा आ रही रक्षाबंधन को रविवार को स्पेशल वितरण टास्क के साथ घर घर राखी वितरण करवाया जा रहा है । वहीं मिल्कीपुर निवासी शिक्षक राहुल सिंह के बंगलौर की बहन द्वारा भेजे गए रक्षाबंधन को रविवार के दिन पाकर खुशी व्यक्त करते हुए कहा कि डाकघर में लगे घर शब्द को साकार करते हुए आज परिवार की भूमिका को निभा रहा है आज पवित्र त्यौहार में किसी भाई बहन को मायूस नही किया । डाकघर की इस सेवा को सदियों तक याद रखा जायेगा शहर के ओपीएस स्कूल के प्रधानाचार्य अमर सिंह, नासिक की बहन के रक्षाबंधन के बारे में बताया कि हम लोग निराश हो गए थे कि शनिवार तक रक्षा सूत्र नहीं पहुंच पाया था  रविवार का दिन रक्षाबंधन  पर्व  का  अवकाश  किंतु  ‘सर्वे भवन्तु सुखिनः’ के सूत्र वाक्य का पालन करते हुए भारतीय डाक विभाग का संदेशवाहक रक्षाबंधन पर्व की पावन बेला पर परिवार के सभी सदस्यों के चेहरे पर प्रसन्नता की लहर प्रदान कर गए। रुदौली के पोस्टमैन श्रीचन्द राखी का वितरण करते हुए कहतें हैं कि भाई बहनों के इस पवित्र बन्धन राखी को बांटने से उनके चेहरे पर मुस्कान लाना हमारी सेवा है । सभी राखियों को बांटने के बाद ही अपने बहन के घर जाकर राखी बंधवाऊंगा ।

Advertisements
Advertisements

Comments are closed.