किशोरी का शव लेकर अस्पताल से भागे परिजन

    Advertisement

     

    फैजाबाद। जिला चिकित्सालय के मर्चरी हाउस में रखा किशोरी का शव लेकर परिजन भागने लगे तो अफरातफरी का माहौल बन गया। चिकित्सालय प्रशासन को पुलिस बुलानी पड़ी तब जाकर पुनः शव मर्चरी में रखा जा सका।

    बताते चलें कि 16 वर्षीय मोनिका मिश्रा पुत्री सुनील मिश्रा   निवासिनी ग्राम रायपुर थाना कैंट ने सुबह लगभग 8.30 बजे आत्महत्या करने के उद्देश्य से विषाक्त पदार्थ खा लिया। हालत बिगड़ने पर परिवारीजन उसे जिला चिकित्सालय ले आये और इलाज के लिए भर्ती कराया। दो घंटे जीवन मृत्यु के मध्य संघर्ष करने के बाद प्रातः लगभग 11 बजे मोनिका की सांस थम गयी ।चिकित्सक ने जांच के बाद उसे मृत घोषित कर दिया और शव को मर्चरी में रखवाकर पुलिस को पोस्टमार्टम के लिए मेमो भेज दिया। इस बीच परिवारीजन यह कहते हुए हंगामा करने लगे कि बालिका की मौत नहीं हुई है हम इसे लेजाकर अच्छे डाक्टर को दिखाायेंगे। मौजूद लोगों ने डा. नानक सरन और डा. आर.पी. राय को सूचित किया वह भी मौके पर पहुंचे और मोनिका का परीक्षण कर कहा कि मृत्यु हो चुकी है। इसपर जब परिवारीजन नहीं माने तो डा. नानक सरन ने कहा कि ईसीजी करा देते हैं जिससे स्पष्ट हो जायेगा कि मृत्यु हो गयी है या नहीं। इतने में मर्चरी में रखा शव लेकर परिवारीजन भागने लगे तो मजबूरी में चिकित्सालय प्रशासन को पुलिस बुलानी पड़ी। पुलिस के आने के बाद पुनः शव को मर्चरी में रखा गया और पोस्टमार्टम के लिए व्यवस्था की गयी। आत्महत्या के कारणों का पता नहीं चल पाया है।