प्रेम हत्याकाण्ड का पुलिस ने किया खुलासा

⇒मामूली विवाद के चलते हुई जघन्य हत्या
⇒12 घंटे के भीतर पुलिस ने हत्यारोपियों को दबोचा

फैजाबाद। हैदरगंज थाना क्षेत्र के ग्राम जाधवपुर हथिगो में बीती रात हुई प्रेम नारायण शर्मा की जघन्य हत्या का पुलिस ने घटना के मात्र 12 घंटे के भीतर खुलासा कर दिया। पुलिस ने नामजद हत्यारोपी सगे भाई विजय सिंह, व अशो सिंह उर्फ मुन्ना सिंह निवासी बाबू का पुरवा को पालीपूरब मोड से रात्रि करीब 8 बजे गिरफ्तार किया। मृतक प्रेम नारायण शर्मा पुत्र राज नारायण शर्मा हत्यारोपियों के गांव का ही रहने वाला था। विजय सिंह और प्रेम नारायण शर्मा दोनों टैक्सी वाहन चलाते थे उनकी टैक्सियां स्कूल में बच्चों को पहुंचाने और घर वापस लाने के लिए चलती थीं। हत्यारोपी विजय सिंह ने पुलिस लाइन सभागार में आयोजित पत्रकार वार्ता के दौरान प्रकरण को विस्तार से बताया।
हत्यारोपी विजय सिंह ने बताया कि वह और प्रेम नारायण शर्मा दोनो टैक्सी चालक थे और आपस में मित्रता थी। प्रेम नारायण की मैजिक गाड़ी को शादी समारोह में न ले जाने के कारण वह और उसका भाई अशोक क्षुब्ध थे। प्रेम नारायण को दारू पीने के लिए उसने बुलाया था तीनों ने बैठकर छक का शराब पिया प्रेम नारायण शर्मा ज्याद पी गया था बातचीत में विवाद बढ़ा और प्रेम नारायण शर्मा ने उसे पटक दिया प्रेम नारायण के हमलावर होने के बाद दोनों भाई एकजुट होकरके उसे जमीन पर गिरा दिया पास ही पड़ी बसुली और डंडा दोनों भाईयों ने उठाकर प्रेम नारायण शर्मा को पीटना शुरू किया और नशे की हालत में तबतक पीटते रहे जबतक प्रेम नारायण निरजीव नहीं हो गया। प्रेम नारायण की मौत हो जाने के बाद दोनों भाईयों ने घटना स्थल से कुछ दूर झाड़ियों में ले जाकर शव को छिपा दिया। पुलिस अधीक्षक ग्रामीण संजय कुमार ने बताया कि मृतक के पिता शिवनारायण शर्मा ने हैदरगंज थाना में जो तहरीर दी थी उसमें विजय सिंह व अशोक सिंह को नामजद किया गया था। तहरीर के आधार पर पुलिस ने मुखबिर खास की सूचना पर पालीपूरब मोड से दोनों हत्यारोपियों को गिरफ्तार किया। हत्यारोपियों की निशानदेही पर घटना में प्रयुक्त आलाकत्ल बसुली व डंडा और अभियुक्त विजय सिह द्वारा हत्या के समय पहनी हुई शर्ट जिसमें मृतक के खून के छीटे पड़ गये थे वह भी बरामद कर लिया। आॅलाकत्ल व शर्ट हत्यारोपियों ने घटना स्थल से कुछ दूर झाड़ियों में छुपा दिया था। हत्याकाण्ड का खुलासा करने वाली पुलिस टीम को पांच हजार रूपये बतौर इनाम देने की घोषणा की गयी।

इसे भी पढ़े  समारोहपूर्वक मनाया गया उत्तर प्रदेश दिवस

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More