भारत-नेपाल मैत्री बस में सवार यात्रियों का अयोध्या में स्वागत करेंगे मुख्यमंत्री योगी

जनकपुर से प्रधानमंत्री बस को करेंगे रवाना

फैजाबाद। आदिकाल से भारत एवं नेपाल की मैत्री को और प्रगाठ करने के उद्देश्य से प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी नेपाल देश की यात्रा पर है। यात्रा के दौरान 11 मई को प्रधानमंत्री जनकपुर से भारत नेपाल मैत्री बस को हरी झण्डी दिखाकर रवाना करेगें। बस में नेपाल के 15 उच्चाधिकारी व 15 तीर्थयात्री आ रहे है जिनका अयोध्या में मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ 12 मई को स्वागत करेगें। इस अवसर पर अयोध्या को सजाया संवारा जा रहा है। रामकथा पार्क में विधि पूर्वक बस एवं बस में सवार नेपाल के उच्चाधिकारियों व तीर्थयात्रियों का स्वागत अंगवस्त्र मेमन्टो देकर किया जायेगा इस अवसर पर अयोध्या संत महात्मा व जनप्रतिनिधि उपस्थित रहकर मिथिला और अयोध्या के गरिमा मय मैत्री सम्बन्धो को और प्रगाढ़ करेगें। नेपाल के उच्चाधिकारियों व तीर्थयात्रियों के स्वागत एवं उनके रूकने तथा अयोध्या दर्शन कराने की पूरी तैयारी जिला प्रशासन ने कर रखी है। इस अवसर पर सांस्कृति विभाग द्वारा भव्य सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन किया गया है, सूचना विभाग द्वारा 2 झाँकी भी निकाली जायेगी। एक झाँकी में अयोध्या तथा दूसरे झाँकी में जनकपुरी का दृश्य होगा। सूचना विभाग द्वारा 4 एलईडी वैन लगाकर सरकार की योजनाओं तथा रामायण चलचित्र का प्रदर्शन कराया जायेगा तथा होर्डिंग्स व स्टैण्डी भी लगवाया जा रहा है।
उक्त जानकारी देते हुये जिलाधिकारी डा0 अनिल कुमार ने बताया कि मुख्यमंत्री का जनपद के अयोध्या में नेपाल से आ रही बस एवं उसमें यात्रा कर रहे उच्चाधिकारी व तीर्थयात्रियों के स्वागत के पश्चात् सरयू आरती स्थल पर विधि विधान से पूजन का कार्यक्रम हैै। जिसके सम्बन्ध में सभी तैयारियां की जा रही है कहीं से कोई कमी न रहे इसके लिये जनपद के सभी अधिकारियों को कार्य सौपें गये तथा उन्हें विस्तार से बता दिया गया है कि उन्हें क्या करना है। उन्होनें बताया कि यह कार्यक्रम अन्तरराष्ट्रीय स्तर का है जिससे भारत की ख्याति भी जुड़ी हुई है। इसका पूरा ध्यान रखकर सभी तैयारियां पूरी करें। एस0एस0पी0 डा0 मनोज कुमार ने कहा कि सुरक्षा के दृष्टिकोण से विशेष निगरानी की जा रही है, बैरीकेटिंग कराई जा रही है।। जनपद में पर्याप्त पुलिस फोर्स उपलब्ध है हर स्तर पर अधिकारी एवं जवान को ब्रीफ किया जा रहा है।

इसे भी पढ़े  राम नगरी में बिखरी गुरु गोविंद सिंह के प्रकाशोत्सव की छटा

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More