The news is by your side.

समझाया बुझाया तो तीन जोड़े गले-शिकवे भूल फिर साथ रहने को हुए राजी

-परिवार परामर्श केंद्र में लिखित समझौता कराने के बाद किया गया विदा

अयोध्या। परिवार परामर्श केंद्र की मेहनत मशक्कत एक बार फिर रंग लाई है।  काउंसलर और स्टाफ की ओर से समझने बुझाने के बाद जिले के तीन जोड़े आपसी गले-शिकवे भूल फिर से साथ जिंदगी गुजारने को राजी हो गए।  केंद्र की ओर से सभी से लिखित समझौता कराने के बाद विदा किया गया है।

Advertisements

पारिवारिक विवाद को लेकर पिंकी यादव निवासी मंगलसी थाना रौनाही ने अपने पति  अजय कुमार यादव , कुसुम यादव निवासी तेलीगढ़ चौराहा थाना गोसाईंगंज ने अपने पति शिवपूजन तथा पूजा निवासी लाल का पुरवा सनेथू थाना पूराकलन्दर ने अपने पति रवीन्द्र कुमार और ससुरालीजनों के खिलाफ प्रताड़ना, मारपीट आदि की शिकायत पुलिस को दी थी।

मामला आपसी पारिवारिक विवाद से जुड़ा होने के चलते प्रकरणों को एसएसपी की ओर से महिला सहायता प्रकोष्ठ (परिवार परामर्श केन्द्र) को सिपुर्द किया गया था। केंद्र के काउंसलर तथा पुलिस स्टाफ ने पक्षों से अलग-अलग बात की और समस्या के तह में जाने की कोशिश की तथा फिर दोनों पक्षों को आमने-सामने बिठाकर आरोप-प्रत्यारोप को सुना। इसके बाद भविष्य तथा परिवार और समाज का हवाला देकर समझाया-बुझाया, तो जोड़े अपनी शिकायतों को भूल फिर से साथ रहने को राजी हो गए।

परिवार परामर्श केन्द्र के प्रभारी निरीक्षक देवेन्द्र कुमार पाण्डेय का कहना है पक्षों में सुलह-समझौता होने के बाद उनसे लिखित रूप में लिया गया कि दोनों पक्ष एक-दूसरे की भावनाओं का ख्याल रखेंगे तथा प्रेमपूर्वक एक साथ जीवन यापन करेगें।  इसके बाद जोड़ो को उनके घर के लिए विदा कर दिया गया।

Advertisements

Comments are closed.