प्रेम प्रपंच बना दोहरे हत्याकांड का कारण, हत्यारा गिरफ्तार

दो सगी बहनों की हत्या का पुलिस ने किया खुलासा

अयोध्या। दो सगी बहनों की हत्या का पुलिस ने खुलासा करते हुए हत्यारोपी युवक को गिरफ्तार कर लिया है। प्रेम प्रपंच दोहरे हत्याकाण्ड का कारण बना। प्रेमिका की बेवफाई जानकर प्रेमी ने किया नरसंहार। पुलिस लाइन सभागार में हत्याकाण्ड का खुलासा करते हुए वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक जोगेन्द्र कुमार ने बताया कि 22/23 दिसम्बर की रात्रि गोसाईगंज थाना क्षेत्र के ग्राम गोसाईं का पुरवा मौजा बोधीपुर में 28 वर्षीया मोनी गिरि पत्नी सोनू उर्फ इन्द्रमणि गिरि और उसकी सगी बहन 16 वर्षीय कुमारी प्रिंयका गिरि पुत्री संतराम गिरि निवासिनी सरैया बक्सी थाना दुबौलिया जनपद बस्ती की हत्या निर्मम ढ़ंग से कर दी गयी थी।
हत्यारा मोनी की 13 माह की बेटी पीहू का छोड़कर फरार हो गया था। इस मामले में थाना गोसाईगंज में मु.अ.सं. 382/18 आईपीसी की धारा 302 व 201 के तहत मुकदमा पंजीकृत किया गया था। पुलिस ने प्रकरण के खुलासा के लिए टीम गठित किया प्रकरण में सतत प्रयास करते हुए व गहन पूंछताछ के दौरान कई लोगों ने बताया कि 19 वर्षीय अंश वर्मा उर्फ रवी वर्मा पुत्र रामफूल वर्मा जो उसी गांव का निवासी था का आनाजाना मोनी गिरि के यहां था। अंश वर्मा से जब कड़ी पूंछतांछ की गयी तो वह जल्दी ही टूट गया और उसने सारी कहानी पुलिस को बता दी। हत्यारोपी रवि वर्मा ने बताया कि मोनी गिरि के मायके का एक व्यक्ति रमेश कनौजिया पुत्र मिहीलाल कनौजिया का मोनी से प्रेम प्रसंग था। घटना वाले दिन रमेश कनौजिया प्रियंका गिरि को बोधी का पुरवा ले आया और मोनी गिरि के यहां छोड़कर वापस अपने घर चला गया। 22/23 दिसम्बर की आधी रात को अंश वर्मा और मोनी गिरि घर के पिछवाड़े सूनसान स्थान पर मिले और शारीरिक सम्बंध बनाया। हत्यारोपी ने बताया कि मोनी गिरि के साथ उसके पहले से शारीरिक सम्बन्ध थे। इसी बींच अंश वर्मा ने मोनी गिरि का स्मार्टफोन ले लिया और उसे देखने लगा। उसने देखा कि मैसेंजर पर रमेश कनौजिया और मोनी गिरि की लम्बी चैटिंग का रिकार्ड है। उससे उसे पता चला कि मोनी का रमेश से भी अवैध सम्बंध है। इसी बात को लेकर दोनों में झगड़ा होने लगा अंश ने मोनी को धमकी दिया कि यदि वह रमेश से नाता नहीं तोड़ेगी तो वह सारी बात उसके पति से बता देगा। इसपर मोनी ने उसे धमकी दिया कि मै अभी शोर मचाकर पकडवा दूंगी और जेल भेज दूंगी। यह सब सुनने के बाद अंश क्रोधित हो गया और आपा खाते हुए पास पड़े पत्थर से मोनी पर प्रहार किया। मोनी भागकर घर के पिछवाडे के दवाजे से कमरे में गयी तो अंश भी पीछे पहुंच गया। मोनी अपनी बहन को जगाने का प्रयास कर रही थी अंश ने पास पड़े लोहे की कमानी जो मोनी सोते समय तकिये के नीचे रखती थी को उठाकर उसे मौत के घाट उतार दिया तबतक छोटी बहन प्रियंका जाग गयी थी अंश ने उसपर भी कमानी से प्रहार किया जिससे उसकी मौत हो गयी। यह वाकया रात्रि लगभग 2.30 बजे हुआ। अंश मोनी के घर के पड़ोस में रहता था वह अपने घर पहुंचा और खून सने कपड़े उतारकर गट्ठर बनाया और पड़ोसन साबरी देवी पत्नी राजेन्द्र जो बच्चे को लघुशंका कराने घर से बाहर निकली थी से माचिस की डिबिया मांगा। माचिस की डिबिया व हत्या में इस्तेमाल डंडा, इंर्ट का टुकड़ा व कमानी और खून सने कपड़े लेकर तालाब के पास पहुंचा और आला कत्ल तालाब में फेंक दिया तथा वह अपेन साथ मिट्टी का तेल भी ले गया था कपड़ो पर मिट्टी का तेल छिड़ककर उसमे आग लगा दी तथा गड्ढ़ा खोदकर राख व प्लास्टिक का डिब्बा जमीन में गाड़ दिया। एसएसपी ने बताया कि हत्या अभियुक्त ने आला कत्ल व राख व अवशेष बरामद करा दिया है। उन्होंने बताया कि घटना के 36 घंटे के भीतर खुलासा करने वाली पुलिस टीम को 25 हजार रूपया बतौर इनाम दिया जायेगा।

इसे भी पढ़े  कृषि मंत्री ने किया विश्वविद्यालय का किया गया निरीक्षण

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More