The news is by your side.

सिन्धी समाज में राजनैतिक चेतना के लिये चलायेंगे मुहिम : नानकचन्द लखमानी

अयोध्या। सिन्धी समाज में राजनैतिक चेतना जागरूक करने के लिये पूरे देश में मुहिम चलायेंगे और युवाओं में जागरूकता पैदा करेंगे। यह बातें रामनगर कालोनी स्थित सिन्धु सदन में आयोजित एक विचार गोष्ठी में लखनऊ से आये मुख्य अतिथि के रूप में उ0प्र0 सिन्धी अकादमी के उपाध्यक्ष व उ0प्र0 सिन्धी सभा के प्रदेश महासचिव नानकचन्द लखमानी ने कहीं। श्री लखमानी राजनीति में सिन्धी समाज की सक्रियता कैसे हो और सरकार में उसकी भूमिका क्या हो विषय पर आयोजित गोष्ठी में बोल रहे थे। उन्होंने कहा कि राजनैतिक सशक्तिकरण करने के लिये पूरे देश में मुहिम चलायी जा रही है। उन्होंने कहा कि सिन्धी समाज की राजनीति में स्थिति शून्य के बराबर है। उन्होंने कहा कि आज की नयी पीढ़ी चकाचौंध के माहौल में भटक गयी है जिसमें जागरूकता पैदा करना जरूरी हो गया है। गोष्ठी में मौजूद विशिष्ट अतिथि के रूप में लखनऊ से आये सिन्धी काउन्सिल ऑफ यूथ इण्डिया के राष्ट्रीय महासचिव वीरेन्द्र खत्री ने कहा कि समाज में एक होकर राजनैतिक एकता दिखानी होगी। राजनीति के माध्यम से ही समाज का भला होगा। विशिष्ट अतिथि यूथ इण्डिया के प्रदेश अध्यक्ष विवेक लधानी ने कहा कि फिल्मी जगत व व्यापारी क्षेत्र में सिन्धी समाज सबसे आगे है। समाज की पंचायतों के माध्यम से राजनीति में सशक्तिकरण हो। गोष्ठी को सम्बोधित करते हुए राष्ट्रीय सिन्ध वेलफेयर सोसाइटी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अतुल राजपाल ने कहा कि सत्ता में जब तक भागेदारी नहीं होगी समाज का भला नहीं होगा। उन्होंने कहा कि जो दल आगामी 2019 के लोकसभा चुनाव में महत्व देगा समाज उसी के साथ खड़ा रहेगा। लखनऊ यूथ इण्डिया के जिलाध्यक्ष चन्दन रायतानी के कहा कि समाज को राजनैतिक प्रतिनिधित्व नहीं मिल रहा है। सभी दल समाज का शोषण कर रहे हैं। यूथ इण्डिया के प्रदेश प्रवक्ता ओम प्रकाश ओमी ने बताया कि गोष्ठी की अध्यक्षता पूज्य सिन्धी सेन्ट्रल पंचायत के अध्यक्ष वरियल दास नानवानी व मेवलदास केशवानी ने संयुक्त रूप से की और गोष्ठी का संचालन यूथ इण्डिया के प्रदेश महासचिव गिरधारी चावला ने किया। प्रवक्ता ने बताया कि गोष्ठी के मुख्य अतिथि व विशिष्ट अतिथियों का स्वागत माला पहनाकर किया गया। प्रवक्ता ने बताया कि गोष्ठी में सत्य प्रकाश राजपाल, अशोक मदान सुखी, ज्ञान प्रकाश टेकचंदानी, वेद प्रकाश राजपाल, भीमन दास माखेजा, देव कुमार क्षेत्रपाल, बूलचन्द चुंगलानी, राजकुमार मोटवानी, राजा हेमनानी, दीपचन्द भारतीय, मोहन मंध्यान, विश्व प्रकाश रूपन, पवन जीवानी, सुरेश पंजवानी, राजकुमार रामानी, हरीश सावलानी, अमृत राजपाल, ओम प्रकाश अंदानी, सौरभ लखमानी, ओम मोटवानी, कपिल हासानी, डा0 महेश सुरतानी, संजय मदान, नरेन्द्र क्षेत्रपाल, वासदेव चंदानी, सुमित माखेजा, गोविन्द चावला, कैलाश लखमानी, अजय कटारा, विवेक अमलानी, आसूदाराम बत्रा, कन्हैयालाल सागर, चुन्नीलाल राजपाल, सुनील मंध्यान, संतोष रायचंदानी आदि मौजूद थे।

Advertisements
Advertisements

Comments are closed.