The news is by your side.

शहरी भूमिहीन गरीबों को अयोध्या में आवास दिये जाने की मांग

-सांसद ने मुख्यमंत्री के समक्ष उठाया भूमिहीन गरीबों को आवास दिये जाने का प्रकरण

अयोध्या। लखनऊ की तर्ज पर शहरी भूमिहीन गरीबों को अयोध्या में आवास दिये जाने के प्रकरण को सांसद लल्लू सिंह ने मुख्यमंत्री के समक्ष उठाया है। मुख्यमंत्री से मुलाकात के दौरान सांसद ने अन्य कई मांगो को लेकर पत्र सौंपा है। जिसमें अमानीगंज से सत्थिन घाट के मार्ग का चौड़ीकरण, रौनाही से ड्योढ़ी अमानीगंज, बहादुरगंज तिन्दौली होते हुए एनएच 330ए का चौड़ीकरण, रुदौली से अमानीगंज मार्ग का सुदृढ़ीकरण, कटेहरी बाईपास को बाईपास योजना में शामिल किये जाना शामिल है।

Advertisements

सांसद लल्लू सिंह ने बताया कि प्रधानमंत्री आवासीय योजना शहरी के उप घटक भागीदारी में किफायती आवास एवं लाइट हाउस प्रोजेक्ट योजना के तहत लखनऊ में आवास निर्मित किये जा रहे है। मुख्यमंत्री को अवगत कराया गया कि जनपद अयोध्या में बहुत से ऐसे गरीब परिवार है जिनके पास अपनी स्वयं भूमि नहीं है। इन गरीबों को लाईट प्रोजेक्ट योजना के तहत आवास बनाने की मांग की गई है। इसके साथ में लोकसभा क्षेत्र के जर्जर मार्गो के चौड़ीकरण व उच्चीकरण की मांग किया गया है। जिसमें मुख्यमंत्री ने मांगो को जल्द पूरा करने का आशवासन दिया है।

उन्होने बताया कि रामनगरी अयोध्या का विकास केन्द्र व प्रदेश सरकार की प्राथमिकताओं में है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के मार्गदर्शन में यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ रामनगरी अयोध्या में आने वाले श्रद्धालुओं को वैश्विक मानकों के अनुसार सुविधाएं देने के प्रति कटिबद्ध है। इसके लिए हजारों करोड़ के योजनाओं की श्रंखलाएं प्रदान की गई है। अयोध्या से जुड़ने वाली सड़कों का चौड़ीकरण करके श्रद्धालुओं के बेहतर आवागमन की सुविधा दी जा रही है। अयोध्या में अंतराष्ट्रीय मानकों से युक्त रेलवे स्टेशन का निर्माण हो रहा है।

इसे भी पढ़े  भाजपा के 31670 पन्ना प्रमुख करेंगे हर घर हर मतदाता से सम्पर्क

रामनगरी में बनने वाला एयरपोर्ट जल्द श्रद्धालुओं के लिए उपलब्ध होगा। यहां के धार्मिक पयर्टन स्थलों का भी विकास किया जा रहा है। अयोध्या विश्व पयर्टन के मानचित्र पर स्थापित हो गयी है। जिससे बड़े पैमाने पर रोजगार सृजन होगा। कई बड़े निवेशक अयोध्या में अपना उद्यम लगाना चाहते है।

Advertisements

Comments are closed.