in ,

लोकसभा निर्वाचन का करें सही क्रियान्वयन: मनोज मिश्र

मण्डलायुक्त ने की लोकसभा सामान्य निर्वाचन-2019 की समीक्षा बैठक

अयोध्या। मण्डलायुक्त मनोज मिश्र ने आज पुलिस महानिरीक्षक डा0 संजीव गुप्ता के साथ लोकसभा सामान्य निर्वाचन-2019 की तैयारियों की समीक्षा कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में की। उन्होनंे लोकसभा सामान्य निर्वाचन-2019 की तैयारियों के सम्बन्ध मंे आयोग के निर्देशानुसार माइक्रो आब्र्जवर/स्टैटिक मजिस्ट्रेट की नियुक्ति/रेण्डमाईजेशन, जोन/सेक्टर की संख्या/जोनल/सेक्टर की मजिस्ट्रेटो की नियुक्ति/प्रशिक्षण/भ्रमण, आदर्श आचार संहिता से सम्बन्धित टीमों का विवरण/प्रशिक्षण/अनुपालन से सम्बन्धित सूचना MCC-I ,oa MCC-II ¼MCC-ATR फार्मेट, निर्वाचन व्यय अनुवीक्षण सेल/टीम से सम्बन्धित टीमों के गठन की स्थिति, मतदान कार्मिकों की ईपीडीएस पर आनलाइन फीडिंग की स्थिति/कार्मिक आवश्यकता/उपलब्धता, मतगणना कार्मिको की नियुक्ति/रेण्डमाइजेशन/प्रशिक्षण आदि से सम्बन्धित तिथिवार कार्ययोजनाओं तथा लोकसभा सामान्य निर्वाचन-2019 मेें स्वीप योजना के अन्तर्गत मतदेय स्थलो/ग्रामों से लेकर जनपद स्तर तक आयोजित की किये जाने वाले कार्यक्रमों की समीक्षा की। समीक्षा कर आवश्यक निर्देश दिये। कमिश्नर श्री मिश्र ने लोकसभा सामान्य निर्वाचन-2019 में प्रयुक्त होने वाले हल्के वाहनों/भारी वाहनों (वाहनों के प्रकारवार) आवश्यकता/उपलब्धता /अधिग्रहण आदेश निर्गत करने सुगम साफ्टवेयर पर की जाने वाली कार्यवाही से सम्बन्धित अतद्यतन सूचना/तिथिवार समीक्षा करते हुये उन्होनें कहा कि भारत निर्वाचन द्वारा सी-विजिल साफ्टवेयर तैयार किया गया है, जिसमें जिला निर्वाचन अधिकारी, जिला स्तरीय नोडल अधिकारी, समस्त सहायक रिटर्निग आफिसर एवं उड़नदस्ते टीम के नाम, पदनाम, मोबाइल नम्बर अंकित करते हुए लागिंग आई-डी तैयार किया जाना है और मोबाइलों पर सी-विजिल ऐप उपरोक्त समस्त अधिकारियों के मोबाइल पर जिला सूचना विज्ञान अधिकारी के माध्यम से रजिस्टर्ड कराये तथा काल सेण्टर पर अब तक प्राप्त शिकायतों की संख्या व उसके निस्तारण से सम्बन्धित कार्ययोजना बनाये। उन्होनें लोकसभा सामान्य निर्वाचन-2019 में प्रयुक्त होने वाल समाग्रियों/प्रपत्र छपायी कराये जाने एवं अन्य तत्सम्बन्धी कार्यवाही से सम्बन्धित कार्ययोजनाओं की भी समीक्षा की।
उन्होनें कहा कि आयोग के निर्देशानुसार मतदेय स्थलों पर मूलभूत सुविधाओं के सम्बन्ध में तैयार किये गये मोबाइल ऐप के माध्यम से प्रत्येक मतदेय स्थलो पर जाकर छः प्रकार की फोटो अपलोड कर लिये जाये। मतदेय स्थलो पर मूलभूत सुविधा पानी, शौचालय, विद्युत, रैम्प, शेड, दूरभाष इत्यादि से सम्बन्धित व्यवस्थायें समय से पूर्ण कर ली जाये। तहसील के अन्तर्गत समस्त मतदेय स्थलो पर मतदेय स्थलो का नम्बर एवं नाम, निर्वाचक, रजिस्ट्रीकरण अधिकारी का मोबाइल नम्बर, सुपरवाइजर का नाम व नम्बर, बीएलओ का नाम व नम्बर, थाना का नम्बर एवं अन्य सामान्य सूचना लिखे जाये तथा जनपद में विद्यमान दिव्यांगजनों की संख्या एवं दिव्यांग मतदाताओं को ईआरओ नेट पर टैगिंग किये जाने की स्थिति के निर्देश दिये।
पुलिस महानिरीक्षक डा0 संजीव गुप्ता ने निर्वाचन के दौरान सुचारू पुलिस व्यवस्था सुरक्षित मतदान आदि के सम्बन्ध में विस्तार से जानकारी दी। जिला मजिस्ट्रेट/जिला निर्वाचन अधिकारी अनुज कुमार झा ने बताया कि 5 मई को पोलिंग पार्टियां हवाई पट्टी अयोध्या से रवाना होगी तथा 11 मई को जी0आई0सी0 से रवाना होगी। सभी पोलिंग बूथों जहां लाइट की दशा सम्भव नही है वहां सोलर लाइट की व्यवस्था सुनिश्चित की जाये। इसके साथ ही दिव्यांगजनों के लिये व्हील चेयरों की व्यवस्था सुनिश्चित की जाये। सेक्टर मजिस्ट्रेटों द्वारा प्रथम चरण में अपने से सम्बन्धित पोलिंग बूथों का निरीक्षण कर रिर्पोट प्रस्तुत कर दी गई है। इसमें विभागवार सम्बन्धित समस्याओं को सम्बन्धित विभागों को निस्तारण हेतु अग्रसारित कर दिया गया है।
बैठक में एस0एस0पी0 जोगेन्द्र कुमार, उप जिला निर्वाचन अधिकारी/सीआरओ पीडी गुप्ता, एडीएम सिटी वैभव शर्मा, एस0पी0 सिटी अनिल कुमार सिसौदिया, सहित अन्य सम्बन्धित अधिकारी उपस्थित थें।

इसे भी पढ़े  विकास के नाम पर अयोध्या में किया गया भ्रष्टाचार : अजय राय

निर्वाचन के दौरान किये गये व्यय का सुस्पष्ट रिकार्ड रखें प्रत्याशी

अयोध्या। जिला मजिस्ट्रेट/जिला निर्वाचन अधिकारी अनुज कुमार झा के निर्देश पर मुख्य कोषाधिकारी विनय कुमार राय ने सभी सहायक व्यय प्रेक्षक व लेखा टीम के प्रभारियों के प्रशिक्षण में निर्वाचन के दौरान प्रत्याशियों द्वारा व्यय किये जाने वाले विभिन्न मदों में अनुमेय व अअनुमेय मदों के बारे में विस्तार से बताया। व्यय अनुवीक्ष्य तन्त्र के कार्यो व उनके मध्य सामन्जयस स्थापित करते हुये सुचारू रूप से कार्य सम्पादन हेतु सहायक व्यय प्रेक्षको की भूमिका स्पष्ट करते हुये उन्हें उनके कार्यो व दायित्वों से अवगत कराया गया। साथ ही लेखा टीम के प्रभारियों को छाया प्रेक्षण रजिस्टर व साक्ष्यों के फोल्डरों के रख-रखाव व अभ्यर्थियों द्वारा भरे जा रहे रजिस्ट्रेरों की प्रविष्टियों के भरे जाने के सम्बन्ध में सभी कार्यो को विस्तार से स्पष्ट किया गया तथा छाया प्रेक्षण रजिस्टर अभ्यर्थियों द्वारा रखे जाने वाले रजिस्टरों में किसी मद विशेष में हुये व्यय में अन्तर पाये जाने की दशा में, निरीक्षण की नियत तिथि पर प्रत्याशी/एजेण्ट के द्वारा रजिस्टर न प्रस्तुत करने की दशा में, किसी मद विशेष पर हुये व्यय को अपने रजिस्टर मंे उल्लेख न किये जाने/छिपाने की दशा में सम्बन्धित प्रत्याशी को नोटिस भेजे जाने व तद्सम्बन्धी कार्यवाही की प्रक्रिया को स्पष्ट किया गया। मुख्य कोषाधिकारी द्वारा प्रशिक्षण में उपस्थित प्रतिभागियो के द्वारा की गई जिज्ञासा का समाधान किया गया। दिन-प्रतिदिन के कार्य में सजकता पूर्ण सम्पादन व सम्बन्धित रिर्पोटों को तैयार कर ससमय प्रस्तुत किये जाने हेतु निर्देशित किया गया। वीडियो अवलोकन टीम प्रत्याशियों द्वारा किये गये खर्चे का रिकार्ड रखेगा। नामाकंन 10 अपै्रल से लेकर 23 मई मतगणना के तिथि तक का व्यय अभ्यर्थियों को रखा जाना अनिवार्य है, बड़े जुलूस का खर्चा नामाकंन के दिन से रखना होगा। नामाकंन की तिथि 10 अपै्रल, नामाकंन पत्र वापसी की अन्तिम तिथि 23 अपै्रल तथा 4 मई को प्रचार-प्रसार बन्द हो जायेगा। अभ्यर्थी द्वारा यदि खर्चा नही प्रस्तुत किया जाता है या छुपाया जाता है या उसमें विसंगती है तब आरओ सम्बन्धित प्रत्याशी को नोटिस जारी करेगा। नियम-90 के तहत प्रत्याशी द्वारा व्यय किये जाने वाले धनराशि की अधिकतम सीमा 70 लाख रू0 है। वीडियो सर्विलांस टीम बड़ी रैलीयों में विभिन्न मदों में किये जा रहे व्यय की वीडियो निगरानी टीम के द्वारा रिकार्ड रखा जायेगा।
प्रशिक्षण में डिप्टी रजिस्टार सोसाइटी चिट फण्ड दुर्गेश कुमार त्रिपाठी द्वारा विस्तार से निर्वाचन के दौरान विभिन्न मदों में किये जाने वाले व्यय की जानकारी रखे जाने के सम्बन्ध में उपस्थित अधिकारियों को सुस्पष्ट तरीके से दी गई।

What do you think?

Written by Next Khabar Team

Comments are closed.To enable, click "Edit Post" page on top WP admin bar, find "Discussion" metabox and check "Allow comments" in it.

118 Comments

चैत्र रामनवमी मेले में अच्छी व्यवस्था करें सुनिश्चित: मनोज मिश्र

चैन स्नैचिंग की घटना का खुलासा