in

चैन स्नैचिंग की घटना का खुलासा

सोने की चैन व लूटेरा सहित लूट में प्रयुक्त प्लसर बाइक

बीकापुर। बीकापुर कोतवाली पुलिस ने अधिवक्ता दम्पत्ति के साथ दिन दहाडें हाइवे पर 17 मार्च को हुई चैन स्नैचिंग की घटना का खुलासा करते हुए अधिवक्ता की पत्नी के गले से खींची गई सोने की चैन व लूटेरा सहित लूट में प्रयुक्त प्लसर बाइक को बरामद कर लूट की इस दुस्साहसिक घटना का खुलासा कर देने का दावा किया है। कोतवाली पुलिस ने लुटेरे के कब्जे से बिना नम्बर वाली प्लसर मोटर साइकिल और पीली धातु वाली सोने की चैन को कब्जे में लेने के बाद पकडे गये आरोपी लुटेरा को जेल भेज दिया है। बीकापुर के पुलिस क्षेत्राधिकारी अजय कुमार राय और इंस्पेक्टर आशुतोष मिश्र ने एसएसपी की तरफ से लुटेरे का गिरफ्तार करने वाली एसएसआई अश्वनी कुमार मिश्र के नेतृत्व वाली 7 सदस्यीय पुलिस को 5 हजार रूपये के ईनाम दिये जाने की भी घोषणा की है। घटना का खुलासा करते हुए पुलिस क्षेत्राधिकारी ने बताया कि मुखबिर की सूचना पर एसएसआई अश्वनी कुमार मिश्र के नेतृत्व में काजीसराय कस्बे के समीप घेराबन्दी करके साहगंज की तरफ से आ रही बिना नम्बर वाली प्लसर बाइक को रूकवाकर जब पूंछताछ के साथ जांच पडताल की तो अधिवक्ता सुरेश सिंह दम्पत्ति के साथ हुई चैन स्नैचिंग की घटना का पर्दाफास हो गया। उन्होने यह भी बताया कि पकडा गया अभियुक्त अयोध्या जनपद के कुमारगंज थाना क्षेत्र स्थित धमछुआ मुगलन निवासी विनोद कुमार सिंह पुत्र इन्द्रपाल सिंह के रूप में पहचान की गई है। पुलिस ने जब आरोपी विनोद कुमार सिंह की पुलिस हिस्ट्री सीट खंगाली तो उसके खिलाफ अयोध्या और बाराबंकी जनपदों के विभिन्न थानो में कई गंभीर आरोपों में मुकदमा दर्ज मिलें है। बताया गया कि आरोपी के विरूद्व कोतवाली अयोध्या में अ0सं0 519/15 धारा 307 504 आईपीसी बाराबंकी के जैदपुर थाने में अ0सं0 69/16 धारा 3(1) युपी गैंगेस्टर एक्ट इसी थाने में अ0सं0 330/15 3/25 शस्त्र अधिनियम व इसी थाने में असं0 299/15 धारा 395/411 आईपीसी के तहत मुकदमें दर्ज है। पुलिस क्षेत्राधिकारी ने बताया कि गिरफ्तार किये गये आरोपी विनोद कुमार सिंह के कब्जे से लूटी गई अधिवक्ता की पत्नी की सोने की चैन की बरामदगी हो जाने के साथ ही अभियुक्त द्वारा अपना जुर्म कबूल कर लेने के बाद बीकापुर कोतवाली में अ0सं0 178/19 धारा 392/411 आईपीसी के तहत दर्ज मुकदमे में उसे जेल भेज दिया गया। आरोपी विनोद कुमार सिंह ने पुलिस के सामने अधिवक्ता दम्पत्ति के साथ चैन स्नैचिंग की घटना को स्वीकार करते हुए बताया कि वह 17 मार्च को सुबह काली प्लसर गाडी से वकील के पास अयोध्या गया था। वहां से वापस लौटते समय पिपरी तिराहे पर एक व्यक्ति को मोटर साइकिल से महिला को पीछे बैठाकर जाते हुए देखा। महिला के गले मंे सोने की चैन देख उसका पीछा किया और शेरपुर पारा बाजार के आगे सूनसान जगह पाकर महिला के गले से झपट्टा मारकर चैन छीन लिया और सुल्तानपुर की तरफ भाग निकला। उसी लूटी गई चैन को आज वहा जब घर से बेचने के लिये जा रहा था तभी पुलिस टीम ने उसे पकड लिया। पुलिस टीम में एसएसआई अश्वनी कुमार मिश्र के अलावां एसआई शशिकान्त पाण्डेय एसआई आर आर सिंह एसआई अन्जेश कुमार सिंह का0 अनुज सिंह का0 संजय यादव व का0 धीरेन्द्र मिश्र शामिल रहे।

What do you think?

Written by Next Khabar Team

लोकसभा निर्वाचन का करें सही क्रियान्वयन: मनोज मिश्र

घायल सेवानिवृत्त कर्मचारी की इलाज के दौरान मौत