अयोध्या दिव्य दीपोत्सव ने बनाया विश्व रिकॉर्ड

  • दक्षिण कोरिया की प्रथम महिला व यूपी सीएम योगी बने गवाह

  • रोशनी से जगमगाई राम की पैड़ी, हुआ जयश्रीराम का उद्घोष

  • गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड की टीम ने की जल रहे दीपकों की गिनती

अयोध्या। प्रभु श्रीराम की नगरी अयोध्या में चल रहे दीपोत्सव के आखिरी दिन राम की पैड़ी की सीढ़ियों पर एक साथ तीन लाख एक हजार एक सौ बावन दीपक जलाए गये जो कि एक विश्व रिकॉर्ड है। इतनी बड़ी संख्या में एक साथ दीपक जलाने का कार्यक्रम आज तक पूरी दुनिया में कहीं आयोजित नहीं हुआ। इस सफलता के प्राप्त करने पर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आयोजन समिति और इस कार्यक्रम में अहम भूमिका निभाने वाले सभी सदस्यों को बधाई दी है। राम नगरी अयोध्या के सरयू तट के किनारे स्थित राम की पैड़ी की सीढ़ियों पर जब दीपक जले तो मानो यूं लगा कि आसमान में असंख्य तारे टिमटिमा रहें हों और पूरी राम की पैड़ी का तट रोशनी से जगमगा उठा। असंख्य दीपकों को देख लोग रोमांचित हो उठे। जय श्रीराम के उद्घोष के बीच भगवान राम के अयोध्या आगमन की खुशी में आयोजित इस कार्यक्रम में जहां भक्ति और उल्लास ज्वार लेता दिखाई दिया वहीं एक विश्व रिकॉर्ड बनाने की खुशी भी आयोजन कर्ताओं के चेहरे पर देखने को मिली।
इससे पूर्व यह विश्व रिकॉर्ड डेरा सच्चा सौदा के प्रमुख राम रहीम के नाम से दर्ज था, जिन्होंने अपने आश्रम पर करीब डेढ़ लाख दीपक जलाए थे, लेकिन उस रिकॉर्ड को तोड़ते हुए डेरा सच्चा सौदा से करीब दुगनी संख्या में राम नगरी अयोध्या के सरयू तट के किनारे राम की पैड़ी परिसर में दीपक जलाए गये। पूरे आयोजन की मॉनिटरिंग करने के लिए 3 दिन पूर्व से ही गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड्स की टीम अयोध्या में मौजूद थी और उसकी देखरेख में यह पूरा कार्यक्रम संपन्न हुआद्य इसमें पहले से घोषित आंकड़ों के मुताबिक 3 लाख से अधिक दीपक एक साथ जलाए गए हैं, जिनकी गिनती भी पूरी की जा चुकी है। सभी दीपक सरयू तट के किनारे स्थित राम की पैड़ी की सीढ़ियों पर जलाए गए और इसे जलाने के लिए करीब 6000 से अधिक वॉलिंटियर्स ने अपनी भूमिका निभाई। दीपक जलाने का जिम्मा डॉ. राममनोहर लोहिया अवध विश्वविद्यालय को सौंपा गया था। विवि के कुलपति प्रो. मनोज दीक्षित के निर्देशन में विभिन्न स्कूल कॉलेजों के बच्चों ने बीते 24 घंटे की कड़ी मेहनत से यह सफलता पाई।
विश्व रिकॉर्ड बनाने वाले कार्यक्रम के आयोजन के समय प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ अपने मंत्रिमंडल सहित कार्यक्रम के मुख्य अतिथि दक्षिण कोरिया की प्रथम महिला किम जोंग सुक के साथ सरयू तट के किनारे बने राम की पैड़ी के परिसर में मौजूद थे। प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने रिमोट से एक विशालकाय दीपक जलाकर इस रिकॉर्ड को कायम करने में अपनी भूमिका निभाई । इस दौरान बिहार के राज्यपाल लालजी टंडन सहित प्रदेश के उपमुख्यमंत्री डॉ दिनेश शर्मा केशव प्रसाद मौर्य के अलावा योगी मंत्रिमंडल के कई अन्य मंत्री मौजूद रहे। इससे पूर्व मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सरयू तट पर मां सरयू की आरती उतारी और उसके बाद कार्यक्रम के मुख्य अतिथि दक्षिण कोरिया की प्रथम महिला किम जोंग सुक की उपस्थिति में दीपोत्सव के कार्यक्रम को संपन्न कराया गयाद् इस आयोजन को देखने के लिए लाखों की संख्या में लोग सरयू तट के किनारे मौजूद रहे।
बीते वर्ष योगी सरकार द्वारा शुरू की गई दीपोत्सव पर्व मनाने की परंपरा के दूसरे वर्ष में रिकॉर्ड कायम किया। बीते वर्ष भी करीब एक लाख 80 हजार से अधिक दीपक जलाकर विश्व रिकार्ड बनाने का प्रयास किया गया था लेकिन तकनीकी कमियों के कारण इस आयोजन को विश्व रिकॉर्ड बनने का सर्टिफिकेट नहीं मिल पाया था जिसे दृष्टिगत रखते हुए इस वर्ष गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड की टीम को पहले से ही आमंत्रित कर दिया गया था और 9 लाख की भारी-भरकम कीमत चुका कर दीपों की संख्या की गिनती करने के लिए यह पूरा जिम्मा गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड की टीम को सौंपा गया था।

इसे भी पढ़े  राम मंदिर निर्माण समिति के चेयरमैन पहुंचे अयोध्या

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More