अधिवक्ताओं ने भी दी अटल को भावभीनी श्रद्धांजलि

Advertisement

फैजाबाद। भारतीय राजनीति के चमकते सितारे कवि, प्रखर वक्ता, भारतीय ही नहीं बल्कि विश्व राजनीति में अपना अहम स्थान रखने वाले पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी को अधिवक्ताओं ने उनके चित्र पर माल्यार्पण कर भावभीनी श्रद्धांजलि अर्पित करते हुये नमन किया। साहबगंज में आयोजित श्रद्धांजलि सभा को संबोधित करते हुये भाजपा विधि प्रकोष्ठ के जिला सहयोजक पीयूष रंजन ने कहा कि आज हम जिस स्वर्णिम युग को भारत में देख रहे है उसकी देन अटल ही हैं। भारत को संचार व डिजिटल क्रान्ति अटल जी की ही देन है। बार एसोसिएशन के पूर्व उपाध्यक्ष सुनील कुमार सिंह ने कहा कि श्रद्धदेय अटल जी अटल थे, अटल है, और सर्वदा अटल ही रहेंगे। हमने एक महान् विचारक, महाकवि, महान् राजनेता को खो दिया है। जिसकी भरपाई करना शायद ही संभव हो। हिन्दू महासभा के राष्ट्रीय प्रवक्ता, अधिवक्ता मनीष पाण्डेय ने कहा कि अटल एक विराट व्यक्तित्व के स्वामी थे। राम मंदिर के प्रति उनमें गहरी आस्था, अनुराग था, निश्चित रूप से भव्य राम मंदिर का निर्माण ही महामानव अटल को सच्ची श्रद्धांजलि होगी। भाजपा के नगर उपाध्यक्ष, अधिवक्ता राजीव कुमार शुक्ला ने कहा कि राजनीति में सारा जीवन लगा देने वाले ऐसे व्यक्तित्व को शत्-शत् नमन। अधिवक्ता परिषद के जिलाध्यक्ष अरूण प्रकाश त्रिपाठी ने कहा कि मृत्यु एक अटल सत्य है और अटल जी के मामले में यह अटल ही थी। अधिवक्ता श्रीधर मिश्र ने कहा कि कुशल वक्ता, पत्रकार, राजनेता, महान् कवि के रूप में आपका सर्वश्रेष्ठ स्थान था। श्रद्धांजलि सभा में प्रमुख रूप से भाजपा के नगर उपाध्यक्ष अधिवक्ता राजीव शुक्ल, बार एसोसिएशन के कार्यकारिणी सदस्य अमन श्रीवास्तव, हिन्दू महासभा के राष्ट्रीय प्रवक्ता अधिवक्ता मनीष पाण्डेय, प्रमोद मौर्या, अधिवक्ता रोहित वर्मा, अधिवक्ता पियूष रंजन, आकाश रंजन, गायत्री पाण्डेय, ममता रंजन आदि प्रमुख रूप से मौजूद रहे।