The news is by your side.

विचार परिवार ने अयोध्या के लिए जो त्याग व तपस्या की उसके प्रतीक है चुनाव : संजीव चौरसिया

-चुनाव कोर कमेटी, लोकसभा व अयोध्या विधान सभा चुनाव प्रबंधन समिति के संग प्रदेश सह प्रभारी ने की बैठक

अयोध्या। भाजपा प्रदेश सह प्रभारी व कानपुर, अवध बुंदेलखण्ड क्षेत्र के प्रभारी संजीव चौरसिया ने कोर कमेटी, लोक सभा चुनाव प्रबंधन समिति तथा अयोध्या विधान सभा चुनाव प्रबंधन समिति के संग अलग-अलग बैठकें सिविल लाइन स्थित एक होटल में की। कोर कमेटी की बैठक में सांसद लल्लू सिंह, मंत्री सतीश शर्मा, महानगर प्रभारी विजय प्रताप सिंह, जिला प्रभारी मिथिलेश त्रिपाठी, महानगर अध्यक्ष कमलेश श्रीवास्तव, जिलाध्यक्ष संजीव सिंह, जिपंअ रोली सिंह, महापौर गिरीश पति त्रिपाठी, विधायक रामचन्दर यादव, अमित सिंह चौहान, वेद प्रकाश गुप्ता शामिल हुए।

Advertisements

लोक सभा तथा अयोध्या विधान सभा चुनाव प्रबंधन समिति की बैठक में सभी पदाधिकारियों की उपस्थिति रही। कोर कमेटी की बैठक में युवा, महिला, अनूसूचित, किसान तथा पिछड़ा सम्मेलन तथा बूथ सम्मेलन की तैयारियों को अंतिम रूप दिया गया।

लोक सभा संचालन समिति की बैठक में प्रदेश सह प्रभारी संजीव चौरसिया ने कहा कि प्रशासनिक व अन्य अनुमतियों के बाद घर-घर ध्वज लगाने का अभियान चलाया जाय। नवमतदाताओं से विशेष सम्पर्क अभियान चलाया जाए। उन्होनें कहा कि विचार परिवार ने अयोध्या के लिए जो त्याग व तपस्या की है। यह उसके प्रतीक का चुनाव है। पीएम मोदी के विकसित भारत 2047 का आधार अयोध्या से ही है। इस कारण यहां के कार्यकर्ताओं की जिम्मेदारियां बढ जाती है। यहां चुनाव में एक रिकार्ड बनाना है। ऐतिहासिक रूप से चार जून को फैजाबाद को भगवा मय करने का संकल्प हम सभी को लेना है।

क्षेत्रीय महामंत्री व महानगर प्रभारी विजय प्रताप सिंह ने कहा कि पदाधिकारी बैठक में पूरी तैयारी के साथ आएं। बूथ प्रबंधन पर विशेष ध्यान दिया जाए। हर बूथ पर सरकार द्वारा किए गए विकास का संदेश देना है। जिलाध्यक्ष संजीव सिंह ने कहा कि अयोध्या की महिमा और गरिमा के अनुरूप यहां का हर पदाधिकारी कार्य करें। अयोध्या से लोक सभा चुनाव में रिकार्ड स्थापित करना है।

इसे भी पढ़े  रामलला के दरबार पहुंचे कर्नाटक सरकार के आईएएस अधिकारी

आपसी समन्वय के साथ व्यवस्थित ढ़ंग से चुनाव का प्रबंधन का कार्य करना है। महानगर अध्यक्ष कमलेश श्रीवास्तव ने कहा नामांकन के बाद होनी वाली नुक्कड़ सभाओं के लिए पदाधिकारी स्थान तय कर लें। हॉट बाजारों तथा भीड़-भाड़ वाले क्षेत्रों में नुक्कड़ सभाएं आयोजित की जाएं। लोकसभा क्षेत्र में कुल 303 नुक्कड़ सभाएं होनी है। जिसके लिए 52 वक्ताओं के नाम तय कर दिए गए।

Advertisements

Comments are closed.