किसान पाठशालाओं में नहीं आ रहे कृषक

खेती के गुर सिखाए जाने की मंशा के अनुरूप कार्य नहीं कर रहा कृषि विभाग

रुदौली। कृषि विभाग किसानों की आय बढ़ाने के उद्देश्य से खेती करने के गुर सिखाए जाने की मंशा के अनुरूप कार्य नहीं कर रहा है। द मिलयन फार्मर्स के नाम से चलाई जा रही किसान पाठशालाओं में किसानों की संख्या दहाई तक नहीं पहुंच रही है जबकि शासन का निर्देश के अनुसार कम से कम सौ किसानों को एक पाठ शाला में उपस्थिति होना चाहिए।
रुदौली ब्लाक के फिरोजपुर न्याय पंचा यत के कुढ़ा सादात गांव में आयोजित पाठशाला में गुरुवार को महज सात किसान ही मौजूद रहे। किसान सहज राम ने बताया कि खेती बाड़ी में काम का मौसम है किसान धान की बेरन डालने के लिए खेतो को तैयार कर रहे तो कोई सिंचाई के साथ बेरन डाल भी रहे है। इसी लिए भीड़ नहीं जुट पाई वही रसूल पुर गांव के किसान सत्य बहादुर वर्मा ने बताया कि किसान पाठशाला में पिछले चार दिनों में खेती के बहुत से गुर सीखने को मिले ।किसानों की कम संख्या के कारण पाठशाला नही लगी। लगभग कामो बेश यही हाल सरैठा न्याय पंचायत के दल सराय में आयोजित किसान पाठशाला का रहा। यहां भी कुल सात किसान नजर आए ।गांव वालों ने बताया कि प्रचार प्रसार के अभाव में किसान पाठशाला में नही पहुँच पाए ।कृषि विभाग अगर पहले से ही कृषकों को ऐसे कार्यक्रमो के बारे में बता दे तो निश्चित ही भीड़ होती । वही इस बाबत कृषि गोदाम भेलसर के प्रभारी अनिल कुमार ने बताया कि ग्राम प्रधानों के अपेक्षित सहयोग न मिल पाने कारण जहां जहां पाठशाला आयोजित की गई वहां भीड़ नही जुट पाई। जबकि इसके प्रयास जारी हैं।

Facebook Comments
इसे भी पढ़े  अवध विवि के छात्रावासों में गंदगी देख नाराज हुए कुलपति